POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Yeh We are Listening your Voice

Blogger: शशांक मेहता
             शहरीकरण और आधुनिकता के इस दौर में अक्सर इन्सान भीड़ में भी तन्हाइयों से घिरा पाता है।समाज के इस बदलते परिवेश में इन्सान अक्सर तन्हाइयों का शिकार हो जाता है-नौकरी, पैसा, रोजी-रोटी और शिक्षा की लालसा में इन्सान घर से दूर शहरों की ओर रुख करते हैं। ऐसे में परिवार टू... Read more
clicks 278 View   Vote 0 Like   5:44am 10 Jun 2013 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
          सच्चे और साफ़ दिल के इन्सान अक्सर लोगों को पसंद नहीं आते, क्यूंकि सच्चे और साफ़ दिल के इन्सान अक्सर सच बोलते है और कड़वा होता है। धूर्त और कपटी इन्सान मीठी बोली का प्रयोग करते है जो की लोगों को अपनी धूर्तता की जाल में फंसाने के लिए जरुरी होता है। मैं अपने दुकान में... Read more
clicks 245 View   Vote 0 Like   9:25am 9 Jun 2013 #व्यंग
Blogger: शशांक मेहता
              अक्सर मेरे पाठक मुझसे यह  सवाल करते हैं की आप अपने उम्र के हिसाब से कुछ  ज्यादा ही अच्छा लिखते हैं।इस सवाल का जबाव ये है लेखकों की कलम से निकला शब्द शब्द नहीं होता वो उनके दिल की आवाज होती है। लेखकों की कलम ख़ुशी या गम में शब्द उगलते हैं। पर अक्सर लेखकों की कलम ख़... Read more
clicks 197 View   Vote 0 Like   8:17am 9 Jun 2013 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
                प्यार में धोखा, बेबफाई, देख-देख कर जब मैं ऊब गया, थक गया तो एक दिन मेरे मन में विचार आया की कितना अच्छा होता अगर कोई भी इंसान बेबफा नहीं होता। सब अपने पार्टनर के प्रति बफादार होते। किसी को दुःख-दर्द तकलीफ नहीं होती, किसी को आत्महत्या नहीं करना पड़ता, किसी को आंसू न... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   4:31am 9 Jun 2013 #व्यंग
Blogger: शशांक मेहता
               अक्सर जब जिन्दगी के किसी मोड़ पर आपकी मुलाकात किसी खुबसूरत लड़की से होती होगी तो आप ये  भले ही न सोचें की वो आपकी गर्लफ्रेंड बन जाये पर आप ये कभी नहीं चाहते हैं की वो आपको भैया कहे। लेकिन दुर्भाग्य से वो आपको भैया कह ही देती है। इस तरह क्षणभंगुर पानी के बुलबुले क... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   4:30am 9 Jun 2013 #व्यंग
Blogger: शशांक मेहता
अक्सर जिन्दगी बोझ सी लगती है ये हताशा ये निराशा ये दुःख ये दर्द  जीने नहीं देती चैन से ये दुःख ये दर्द कैसे बाँट लूँ मैं किसी गैर से समझ सके जो दिल का दर्द ऐसा कोई हमदर्द नहीं उनकी बेबफाई से निकले न आंसू ऐसा मैं बेदर्द नहीं अक्सर जिंदगी बोझ सी लगती है ये तन्हाई ये अकेला... Read more
clicks 208 View   Vote 0 Like   3:31pm 7 Jun 2013 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
                                         आखिर क्यूँ बनाती है लड़कियां बॉयफ्रेंड ? और लड़के क्यूँ ढूंढ़ते हैं गर्लफ्रेंड ? शायद कभी आपके मन में भी ये सवाल पनपा होगा ? इस सवाल का जबाव इतना मुश्किल भी नहीं तो इतना आसान भी नहीं। पहले बात करते हैं लड़कियों की आखिर Ladies First  जो  होती है  जिस तरह से ... Read more
clicks 197 View   Vote 0 Like   3:07pm 30 Apr 2013 #व्यंग
Blogger: शशांक मेहता
                                                            मेरे विचार से प्यार  का ही दूसरा नाम PROBLEM है। क्यूंकि प्यार में शुरू से अंत तक बस PROBLEM ही PROBLEM होता है।             चलते-चलते रास्ते में पप्पू  को किसी लड़की से प्यार हो गया जो की अक्सर हो ही जाता है। ऐसे में PROBLEM ही PROBLEM है। क्यूंकि लड़की का नाम पता ... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   1:11pm 28 Apr 2013 #व्यंग
Blogger: शशांक मेहता
तन्हाई का दर्द                    नौकरी, नौकरी और नौकरी पिछले कुछ सालों से समाज का हर तबका इसी के पीछे पागल है। गाँव या मोहल्ले में किसी एक को नौकरी मिल जाती है तो पूरा मोहल्ला/गाँव अपने बेटे-बेटियों को नौकरी की दौड़ में दौड़ा देते हैं, ठीक वैसे ही जैसे रेस के मैदान में घोड़े को ... Read more
clicks 214 View   Vote 0 Like   2:51am 1 Jan 2013 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
            बरसात शुरू होने के बाद परसों मैं पहली बार सुबह की सैर पर गया था. घर के लगभग एक किलोमीटर की दुरी पर शिवजी का एक मंदिर है, जो गाँव के किनारे एकांत में है जहाँ से काफी दूर पूरब की और खेतों की हरियाली ही हरियाली नजर आती है, और सुबह की ठंडी-ठंडी पुरबाई हवा मन को और तरो-ता... Read more
clicks 224 View   Vote 0 Like   9:05am 6 Aug 2012 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
                                 मैं एक आम भारतीय युवक हूँ, और हर नवयुवक की तरह मैं भी जीवन का हर वो संघर्ष कर रहा हूँ जो एक भारतीय नवयुवक को करना पड़ता है. इसके अलावा एक भारतीय होने के नाते मेरी भी इच्छा और लालसा है की मैं भी अपने देश के लिए कुछ करूँ. देश की पहचान बनाने में मेरा भी य... Read more
clicks 227 View   Vote 0 Like   2:55pm 7 Apr 2012 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
                      आज पूरा देश भ्रष्टाचार नामक कोढ़ से त्रस्त है और सबको ये एक लाइलाज बीमारी नजर आने लगी है, पूरा देश इस समस्या का समाधान चाहता है और समाधान हेतु कुछ प्रयास किये भी जा रहे हैं जैसे- लोकपाल बिल, राइट टू रिजेक्ट, राइट टू रिकॉल, जिसे सफल बनाने के प्रयास में अन्नाजी ... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   2:11pm 1 Apr 2012 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
                                        1857 की क्रांति एकता के अभाव और क्षेत्रीय होने की बजह से असफल हो गयी थी आज फिर  वही  गलती दोहराई जा रही है भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग तो देश के कोने-कोने में चल रही है लेकिन एकता का अभाव होने की वजह से कुचल दिए जा रहे हैं और मार दिए जा रहे हैं और एक कोने के ल... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   11:53am 30 Mar 2012 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
              नेताओं का काम है देश का विकास  करना और लोगों की सेवा करना, लेकिन हमारे देश के नेताओं ने इसके मायने ही बदल दिए हैं. सत्ता मिलने के बाद वो देश का विकास करने के बजाय अपने और अपने परिवार की सेवा और विकास को ही अपना कर्तव्य समझकर उनका निर्वाह करते हैं, और अपना वास्तविक ... Read more
clicks 222 View   Vote 0 Like   1:43pm 10 Mar 2012 #व्यंग
Blogger: शशांक मेहता
cnyjgk gS] gekjk lekt cny jgk gSA lksp&fopkj] jgu&lgu] ?kj&ifjokj]ukrs&fj’rs] [kku&iku] igukok D;k dqN ugha cny jgk gS \ ij vxj ugha cnykgS rks oks gS esjs ikik lkWjh esjs ckcwth dk :<+hoknh fopkj/kkjkA vktthal&VkWi egkuxjksa ls lqnwj xk¡oksa rd igq¡p x;k gSA fyo&bu&fjys’ku’khivkSj lsDl cMh tSls fj’rs egkuxjksa ls NksVs&NksVs dLcksa rd igq¡p x;k gSAuwMy] ,xjksy vkSj isIlh vkt gekjs [kku&iku dk eq[; fgLlk cu x;k gSA igys rksyo cMZ~l ¼izseh tksM+s½ ck¡gksa esa ck¡gsa Mkys flQZ 'kgjksa ds lM+dksa ijfn[krs Fks ij vc oks xk¡oksa dLcksa esa Hkh utj vkus yxs gSaA vc ifjokj vkSjlekt Hkh yo eSfjt dks viukus yxs gSaA ij eSa vkSj esjs ckcwt... Read more
clicks 205 View   Vote 0 Like   1:20pm 5 Mar 2012 #व्यंग
Blogger: शशांक मेहता
प्यार क्या है ? जिन्दगी क्या है ?हंसी क्या है ? ख़ुशी क्या है ?मुझे तो खुद पता नहीं कौन हूँ, क्या हूँ, मै आज ?लोग हँसते हैं, मैं हँसता नहीं !लोग रोते हैं, मै रोता नहीं ! लोग पीते हैं, मैं पीता नहीं, लोग जीते हैं, मैं तो जीता भी नहीं ! आखिर क्या है, मेरे दर्द का राज ? मै तो समझ पाता नही... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   6:35am 26 Feb 2012 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
I;kj D;kgS \ ftUnxh D;k gS \g¡lh D;kgS \ [kq’kh D;k gS \eq>srks [kqn irk ugha dkSu gw¡] D;k gw¡ eSa vkt \yksxg¡lrs gSa] eSa g¡lrk ugha ! yksxjksrs gSa] eSa jksrk ugha !yksx ihrsgSa] eSa ihrk ugha !yksx thrsgSa] eSa rks thrk Hkh ugha !vkf[kjD;k gS esjs nnZ dk jkt \eSa rksle> ikrk ugha] D;k le> ikrs gSa vki \‘’k’kkadesgrk ... Read more
clicks 172 View   Vote 0 Like   6:16am 26 Feb 2012 #ग़ज़ल
Blogger: शशांक मेहता
माँ डबल रोल में                            कहते हैं बच्चे का घर ही उसकी पहली पाठशाला होती है, और उसकी माँ उसकी पहली शिक्षक. तो हम कह सकते हैं की बच्चे के व्यक्तित्व निर्माण में उसकी माँ की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण होती है या हम यूँ भी कह सकते हैं की पैदा होने के बाद बछा डौक्टर बनेगा, ... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   11:55am 24 Nov 2011 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
                                   यूँ तो भ्रष्टाचार सिर्फ हमारे देश की ही नहीं बल्कि पूरे दुनिया की सबसे बड़ी समस्या है, लेकिन इसका सबसे ज्यादा असर हमारे भारत देश में देखने को मिलता है, इसलिए अपने देश को " भ्रष्टाचारियों का देश " या " घोटालों का देश " कहना गलत नहीं होगा. यूँ तो हम... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   10:02am 23 Nov 2011 #व्यथा
Blogger: शशांक मेहता
स्टूडेंट लाइफ                                  वर्तमान समय में जब शादियाँ लोग देर से करते हैं, शादी से पहले छात्र जीवन में जब हम कैरियर बनाने के लिए संघर्ष कर रहे होते हैं, तो आधुनिकता के इस माहौल में एक पार्टनर की जरुरत तो होती है. क्यूंकि आम जिंदगी में बहुत सारे ऐसे पल आते हैं, जब हमे... Read more
clicks 174 View   Vote 0 Like   7:36am 13 Oct 2011 #Article
Blogger: शशांक मेहता
                                                        आज की युवापीढ़ी की दो सबसे बड़ी जरूरतें हैं मोबाईल और बॉयफ्रेंड/गर्लफ्रेंड जिनके बगैर आज के युवाओं का की जिंदगी की कल्पना भी नहीं की जा सकती.                        अब लड़कियों के लिए बॉयफ्रेंड बदलने का ट्रेंड पुराना होता जा रहा है, और फिर आजकल की... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   9:00am 16 Jul 2011 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
                                        मैं एक कुंवारा इन्सान भला इस विषय पर कुछ कहने की गुस्ताखी कैसे कर सकता हूँ की शादी कौन सा लड्डू है सजा या मजा ? लेकिन मैं ये बचपन से ही सुनता जरुर आया हूँ की शादी एक ऐसा लड्डू है जो खाता है वो भी पछताता है और जो नहीं खाता है वो भी. मैं कुंवारा इसी उधेड़ब... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   2:00pm 10 Jun 2011 #युवापीढ़ी
Blogger: शशांक मेहता
                                                        कुछ साल पहले तक बाल विवाह हमारे देश की गंभीर समस्या थी. विद्वान लोग जिसकी अनेकों बुराइयाँ गिना सकते हैं, लेकिन मेरा उद्देश्य बाल विवाह की बुराइयाँ गिनाना नहीं हैं बाल विवाह को उसकी बुराइयों की बजह से सारी दुनिया उसका विरोध करती है लेकिन... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   8:26am 9 Jun 2011 #Article
Blogger: शशांक मेहता
                                मॉडर्न अधनंगी लड़कियों को देखकर अक्सर हम लड़कों के जुबान से निकल जाता है -वाह क्या माल है ! सवाल ये है की इन शव्दों का इस्तेमाल लोग दूसरों की बहनों के लिए तो खूब करते हैं पर खुद की बहनों के लिए कभी नहीं करते. खुद इस्तेमाल करना तो दूर की बात अगर हमारे सामन... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   4:38pm 21 May 2011 #Article
Blogger: शशांक मेहता
                                      कुछ साल पहले तक ये धारणा थी की जवान लड़का और लड़की कभी दोस्त नहीं हो सकते, लेकिन आज जवान लड़का और लड़की सामान्यतः दोस्त ही हो सकते हैं उन दोनों के बीच प्यार नहीं हो सकता. आज लड़का और लड़की के बीच सबकुछ हो जाता है लेकिन कभी भी प्यार का नाम भी नहीं आता है... Read more
clicks 151 View   Vote 0 Like   4:12am 17 Apr 2011 #Article
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194987)