POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मन्त्र तथा साधनाएं

Blogger: nikhilshishya
॥ धूं धूं धूमावती ठः ठः ॥सर्व बाधा निवारण हेतु.मंगल या शनिवार से प्रारंभ करें. ब्रह्मचर्य का पालन करें. सात्विक आहार तथा आचार विचार रखें. यथा संभव मौन रहें. अनर्गल प्रलाप और बकवास न करें. सफ़ेद वस्त्र पहनकर सफ़ेद आसन पर बैठ कर  जाप करें.  यथाशक्ति जाप जोर से बोल कर करें.... Read more
clicks 286 View   Vote 0 Like   11:48am 11 May 2012 #महाविद्या
Blogger: nikhilshishya
तारा काली कुल की महविद्या है । तारा महाविद्या की साधना जीवन का सौभाग्य है । यह महाविद्या साधक की उंगली पकडकर उसके लक्ष्य तक पहुन्चा देती है।गुरु कृपा से यह साधना मिलती है तथा जीवन को निखार देती है ।साधना से पहले गुरु से तारा दीक्षा लेना लाभदायक होता है । ज्येष्ठ मास त... Read more
clicks 285 View   Vote 0 Like   11:44am 4 May 2012 #तन्त्र
Blogger: nikhilshishya
साधना सिद्धि विग्यानशोप न. ५ प्लाट न. २१०एम.पी.नगरभोपाल [म.प्र.] ४६२०११--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------साधना सिद्धि विज्ञान पत्रिका की सदस्यतासमस्त प्रकार की साधनात्मक जानकारियों से भरपूर शुद्द पूजन तथा प्रयोगों की जानकारी के लिये साधना सिद्धि विज्... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   5:13pm 28 Apr 2012 #
Blogger: nikhilshishya
साधना के क्षेत्र में गुरु को सर्वोपरि माना गया है.आप यदि साधना के क्षेत्र में आगे बढना चाहते हैं तो  तांत्रोक्त गुरु पूजन संपन्न करें आपको गुरु कृपा का प्रत्यक्ष अनुभव होगा.... Read more
clicks 334 View   Vote 0 Like   5:56pm 21 Apr 2012 #Dr. Narayan Dutta Shrimali
Blogger: nikhilshishya
21 अप्रेल : जन्मदिवसमेरे परम आदरणीय पूज्यपाद गुरुदेव परमहंस स्वामी निखिलेश्वरानंद जी जो सामान्यतः डा नारायण दत्त श्रीमाली जी के नाम से जाने जाते हैं .तन्त्र साधनाओं के पुरोधा, ज्योतिष विद्या के अनन्य ज्ञाता और कर्मकाण्ड के सिद्धहस्त विद्वान.भारतवर्ष से लगभग विलुप्... Read more
clicks 238 View   Vote 0 Like   12:21am 21 Apr 2012 #गुरु
Blogger: nikhilshishya
आदोवदानं परमं सदेहं, प्राण प्रमेयं पर संप्रभूतम ।पुरुषोत्तमां पूर्णमदैव रुपं, निखिलेश्वरोयं प्रणम्यं नमामि ॥ १॥अहिर्गोत रूपं सिद्धाश्रमोयं, पूर्णस्वरूपं चैतन्य रूपं ।दीर्घोवतां पूर्ण मदैव नित्यं, निखिलेश्वरोयं प्रणम्यं नमामि ॥ २॥ब्रह्माण्ड्मेवं ज्ञानोर्णव... Read more
clicks 222 View   Vote 0 Like   8:58am 20 Apr 2012 #गुरु
Blogger: nikhilshishya
श्रेष्ठतम तांत्रोक्त विधि विधान से बने पारद शिवलिंग आप प्राप्त कर सकते हैं, संपर्क करें:-साधना सिद्धि विज्ञानशोप न. ५ प्लाट न. २१०एम.पी.नगरभोपाल [म.प्र.] ४६२०११कार्यालय में सम्पर्क का समय :१० बजे से ७ बजे तक (रविवार अवकाश)दूरभाष : (0755) --- 4283681-----------------------------------------------------------Sadhana Siddhi VigyaanShop No.- 5,... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   11:16am 11 Apr 2012 #Shiv
Blogger: nikhilshishya
॥ ऐं ह्रीं क्लीं चामुन्डायै विच्चै ॥ऐं = सरस्वती का बीज मन्त्र है ।ह्रीं = महालक्ष्मी का बीज मन्त्र है ।क्लीं = महाकाली का बीज मन्त्र है ।नवरात्री में नवार्ण मन्त्र का जाप इन तीनों देवियों की कृपा प्रदान करता है ।... Read more
clicks 251 View   Vote 0 Like   3:59am 4 Apr 2012 #महाविद्या
Blogger: nikhilshishya
शवासन संस्थिते महाघोर रुपे ,                                महाकाल  प्रियायै चतुःषष्टि कला पूरिते |घोराट्टहास कारिणे प्रचण्ड रूपिणीम,                                अम्बे महाकालीम तमर्चयेत सर्व काले ॥मेरी अद्भुत स्वरूपिणी महामाया जो शव के आसन पर भयंकर रूप धारण कर विराजमान है, जो ... Read more
clicks 340 View   Vote 0 Like   6:53am 29 Mar 2012 #महाविद्या
Blogger: nikhilshishya
साधना प्रारम्भ करने से पहले हाथ में जल लेकर अपनी मनोकामना बोले.महाविद्याओं की साधना दीक्षा लेकर ही करे.जाप के पहले तथा बाद मे गुरु मन्त्र की १ माला जाप करें.॥ ऊं परम तत्वाय नारायणाय गुरुभ्यो नमः ॥नवरात्रि में मंत्र का जाप रात्रि काल में ९ से ३ बजे के बीच करना चाहिये.जहा... Read more
clicks 237 View   Vote 0 Like   6:07pm 21 Mar 2012 #
Blogger: nikhilshishya
॥ ॐ पंचमुखाय महारौद्राय कपिराजाय नमः ॥ ब्रह्मचर्य का पालन किया जाना चाहिये. साधना का समय रात्रि ९ से सुबह ६ बजे तक. साधना कक्ष में हो सके तो किसी बाहरी व्यक्ति को प्रवेश न दें. जाप संख्या ११,००० होगी. प्रतिदिन चना,गुड,बेसन लड्डू,बूंदी में से किसी एक वस्तु का भोग लगायें. हव... Read more
clicks 302 View   Vote 0 Like   2:22pm 21 Mar 2012 #Hanuman
Blogger: nikhilshishya
अघोरेश्वरं महा सिद्ध रूपम, निखिल प्राण रूपं प्रणम्यम सदैव ॥१॥ अघोर शक्तियों के स्वामी, साक्षात अघोरेश्वर,शिव स्वरूप , सिद्धों के भी सिद्ध,भैरव से शरभेश्वर तकऔरउच्चिष्ठ चाण्डालिनी से गुह्याकाली तकहर गुह्यतम साधना के ज्ञातामेरे पूज्यपाद गुरुदेव स्वामी सुदर्शन ना... Read more
clicks 248 View   Vote 0 Like   11:40pm 10 Mar 2012 #गुरु
Blogger: nikhilshishya
॥ धूं धूं धूमावती ठः ठः ॥ सर्व तन्त्र बाधा निवारण हेतु.  ब्रह्मचर्य का पालन करें.  सात्विक आहार तथा आचार विचार रखें.  यथा संभव मौन रहें.  अनर्गल प्रलाप और बकवास न करें.  सफ़ेद वस्त्र पहनकर सफ़ेद आसन पर बैठ कर  जाप करें.   यथाशक्ति जाप जोर से बोल कर करें.  बेसन के पकौडे का ... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   3:01am 6 Mar 2012 #महाविद्या
Blogger: nikhilshishya
होली के अवसर पर संपन्न करें॥ श्रीं ह्रीं क्लीं ऎं व ज्र वै रो च नी यै हुं हुं फ़ट स्वाहा ॥ नोट:- यह साधना गुरुदीक्षा लेकर गुरु अनुमति से ही करें....यह साधना एक प्रचंड साधना है.इस साधना में मार्गदर्शक गुरु का होना जरूरी है.दीक्षा लेने के बाद ही इस साधना को करें.कमजोर मानसिक ... Read more
clicks 248 View   Vote 0 Like   4:11pm 4 Mar 2012 #छिन्नमस्ता
Blogger: nikhilshishya
इस अंक को गुरुदेव ने सूक्तम नाम दिया है....यह अद्भुत स्तोत्रों का संग्रह  है...... Read more
clicks 247 View   Vote 0 Like   11:12am 11 Feb 2012 #गुरु
Blogger: nikhilshishya
॥ ह्रीं क ए इ ल ह्रीं ह स क ह ल ह्रीं स क ल ह्रीं ॥आदि शंकराचार्य जी द्वारा स्थापित चारों पीठों की अधिष्ठात्री देवी त्रिपुर सुन्दरी हैं.श्री यंत्र त्रिपुर सुन्दरी का यंत्र है.त्रिपुर सुन्दरी साधना तन्त्र साधनाओं में सर्वोपरि साधना है.यह अद्भुत है.... Read more
clicks 321 View   Vote 0 Like   3:37am 21 Dec 2011 #महाविद्या
Blogger: nikhilshishya
दिसंबर माह की पत्रिका एक अभूतपूर्व अंक है.यह गायत्री अनुसंधान अंक है.ब्रह्मांड में उपलब्ध लगभग सभी गायत्री मंत्रों का इसमें संकलन है.इस अंक में पहली बार १००० से ज्यादा गायत्री मंत्रों का गुरुजी ने एक ही जगह संकलन कर एक प्रचंड पूजन विधि साधकों के लिये प्रकाशित की है.यह... Read more
clicks 253 View   Vote 0 Like   3:06am 12 Dec 2011 #तन्त्र
Blogger: nikhilshishya
१० दिसम्बर ता. शनिवार के दिन पूर्ण चंद्रग्रहण है ..उसी दिन श्री दत्तात्रेय जयंती भी होने के कारण इस ग्रहण काल पर्व का महत्त्व और भी बढ़ता है ..ग्रहण काल का पर्व कालशाम ६.१५ से रात ९.४५ तक लगबग साडे तीन घंटे का है .. सभी साधक इस का लाभ उठायेगुरु/दत्तात्रेय/ लक्ष्मी/षोडशी/भुवन... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   3:16am 10 Dec 2011 #ग्रहण कालोक्त साधनायें
Blogger: nikhilshishya
चंद्र ग्रहण १०-१२-२०११ दिन शनिवारचन्द्र ग्रहण में गुरु साधना करनी चाहिये.अप्सरा साधना, लक्ष्मी साधना के लिये यह सबसे श्रेष्ठ मुहुर्त होता है.सम्मोहन/वशीकरण साधना के लिये यह उपयुक्त समय होता है.ग्रहण काल में किये गये मंत्र जाप का १००० गुना फ़ल मिलता है.... Read more
clicks 304 View   Vote 0 Like   2:53pm 7 Dec 2011 #
Blogger: nikhilshishya
पारद को भगवान शिव का वीर्य माना जाता है, पारद से बने विग्रह पूर्ण तांत्रिक शक्तियों से युक्त होते हैं, इनका घर में स्थापित होना जीवन का सौभाग्य होता है.पारद से निर्मित श्री विग्रह कई प्रकार के होते हैं:-पारद शिवलिंग.पारद काली.पारद लक्ष्मी.पारद श्री यंत्र,पारद गुटिकापा... Read more
clicks 237 View   Vote 0 Like   2:38pm 7 Dec 2011 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3938) कुल पोस्ट (195081)