Hamarivani.com

DHAROHAR

कहते हैं कि हमें तब तक किसी का महत्व समझ नहीं आता,जब तक हम उसे खो नहीं देते। ये बात फिलहाल ‘देव बाबू’या देवदास के संदर्भ में। देवदास- 1917 में प्रकाशित शरतचंद्र की एक ऐसी कृति जिसे वो स्वयं भी काफी ज्यादा पसंद नहीं करते थे। देवदास जो शायद उनके ही किन्हीं अनुभवों का साहित्य...
DHAROHAR...
Tag :चुन्नी बाबू
  September 4, 2017, 10:00 am
धरती पर स्वर्ग के रूप में विश्वविख्यात कश्मीर अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए तो प्रसिद्ध है ही,इसकी माटी सभ्यता और संस्कृति के विकास के लिए भी काफी उर्वर रही है। प्राकऐतिहासिक काल से आधुनिक काल तक इसने मानव सभ्यता की विकासयात्रा के कई पड़ावों को पल्लवित होते देखा है। ...
DHAROHAR...
Tag :कश्मीर
  July 1, 2017, 9:00 am
ययाति के विषय में कई प्रारूप की कहानियां मिलती हैं। सबमें उनके मुख्यतः इच्छाओं और भोग से निवृत न हो पाने की प्रवृत्ति का उल्लेख है और सारांश रूप में यही है कि अंततः वो कह उठते हैं कि "अब मैं चलने को तैयार हूं। यह नहीं कि मेरी इच्‍छाएं पूरी हो गईं, इच्‍छाएं वैसी की वैसी अध...
DHAROHAR...
Tag :मिथक
  June 25, 2017, 11:42 am
धरती का स्वर्ग कश्मीर अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए तो प्रसिद्ध है ही,यह जैव विविधता की दृष्टि से भी काफी समृद्ध है। यहाँ स्थित दाचीगाम राष्ट्रीय अभ्यारण्य यही दर्शाता है। श्रीनगर से लगभग 21 किमी दूर यह अभ्यारण्य यहाँ के प्रसिद्ध शालीमार बाग के निकट ही है। स्थानीय पर...
DHAROHAR...
Tag :दाचीगाम
  May 10, 2017, 3:52 pm
कश्मीर के मज़ारमुंड: कश्मीर घाटी बर्फ का मौसम ढलने के बाद विभिन्न रंगों के फूलों से ढंक जाती है। इनमें सबसे अनूठे लगते हैं यहाँ के कब्रिस्तानों में खिलने वाले फूल। कहीं नीले, कहीं पीले, तो कहीँ लाल... मगर ताज्जुब ये कि ये फूल सामान्यतः फूलों से ही भरे पार्कों में नहीं दिखत...
DHAROHAR...
Tag :कश्मीर
  March 5, 2017, 5:54 pm
वृक्षों से मानव का संबंध और आस्था अति प्राचीन है। बड़े, विशाल और लंबी आयु के वृक्षों की पूजा जो ट्राइबल और शास्त्रीय सभी मान्यताओं में विद्यमान है के पीछे इनसे ऐसे ही जीवन का आशीर्वाद पाने की कामना भी एक प्रमुख कारण रही होगी। पीपल, वट आदि ऐसे ही वृक्षों में आते हैं। ऐसे ह...
DHAROHAR...
Tag :
  January 22, 2017, 12:23 pm
मेरी पसंदीदा कहानियों में संभवतः सर्वोपरि और मेरी पढ़ी हुई कहानियों में सबसे प्रारम्भिक भी... तब भी जाने क्या देखा था इसमें कि इसके आकर्षण से कभी निकल न पाया... बाद में पता चला इसके मुरीदों में एक मैं ही नहीं था, 1915 में छपने के सौ साल के बाद से कितनी पीढ़ियों को इसने आज भी अपने ...
DHAROHAR...
Tag :चंद्रधर शर्मा गुलेरी
  June 18, 2015, 6:26 pm
प्रधानमंत्री मोदी आज से अपनी चीन यात्रा पर हैं। चीन के साथ हमारे संबंध ऐतिहासिक होने के साथ काफी उतार-चढ़ाव लेते हुए भी रहे हैं। दोनों देशों के साथ जुड़ी चंद खुशनुमा यादों में डॉ. द्वारकानाथ कोटनीस की स्मृतियाँ भी शामिल हैं। तो कल 'डॉ कोटनीस की अमर कहानी'की भी याद आएगी ! डॉ...
DHAROHAR...
Tag :Yinhua
  May 14, 2015, 3:42 pm
गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर ने साहित्य के अलावा न सिर्फ संगीत, चित्रकला, दर्शन आदि में अपना योगदान दिया बल्कि तब के अभिव्यक्ति के उभरते माध्यम सिनेमा के लिए भी एक ऐतिहासिक भूमिका निभाई। नटिर पूजा एकमात्र ऐसी फ़िल्म है जिसमे गुरुदेव ने निर्देशक तथा एक महत्वपूर्ण पात्र ...
DHAROHAR...
Tag :
  May 10, 2015, 9:14 am
कुछ राज कभी सामने आते नहीं, कुछ राज सामने आने दिये जाते नहीं... कुछ राज आधे सामने आते हैं-आधे पर्दे के पीछे ही रखे जाते हैं... सबके पीछे अपने-अपने स्वार्थ होते हैं... तात्कालिक लाभ के साथ लंबी अवधि तक भ्रम फैलाए रखना भी इसके कारणों में से हैं। और ये देश जिसकी परी और रहस्य कथाओं...
DHAROHAR...
Tag :
  April 21, 2015, 11:12 am
हम सामान्यतः सिलेक्टिव और सुविधाजनक इतिहास पसन्द करते हैं और असहज प्रश्नों से परहेज ही बरतने की कोशिश करते हैं। इसी लिये अपने अनुकूल इतिहास लिखवाने और इतिहास में अपनी जगह तलाशने की प्रवृत्ति पाई जाती है। जिन ट्राइबल्स को असभ्य/अनार्य घोषित किया उनकी वैज्ञानिक सोच ...
DHAROHAR...
Tag :
  March 20, 2015, 10:13 am
गीत-संगीत का हमारे जीवन में अहम् स्थान है। यही कारण है कि हिंदुस्तानी सिनेमा से भी गानों को अलग नहीं किया जा सकता। होली गीतों के साथ भी यही बात है। कई बेहतरीन गाने जुड़े हैं इस पर्व से। कुछ गाने कहानी को आगे बढ़ाते हैं (जैसे शोले), तो कुछ इसी लिए डाल दिए गए कि होली के बहाने थो...
DHAROHAR...
Tag :
  March 7, 2015, 7:45 pm
29 दिसंबर 1989 को रिलीज हुई ‘मैंने प्यार किया’ के 25 साल पूरे हो रहे हैं। इसके साथ एक पूरी पीढ़ी जवाँ हुई है जिसकी यादों में यह फिल्म रची-बसी है। किशोर वय प्रेम के रोमानी अहसासों को अभिव्यक्ति देती यह फिल्म कई मायनों में ट्रेंड सेटर थी। शायद इसके पीछे युवा निर्देशक सूरज बड़जात...
DHAROHAR...
Tag :फिर वही तलाश
  December 26, 2014, 6:54 pm
सिनेमा कहानी कहने का सबसे प्रभावी और सशक्त माध्यम है। आपके पास कोई ठोस विचार हो तो उसे अनगिनत लोगों तक संप्रेषित करने में इस विधा का कोई जवाब नहीं। मायानगरी की चकाचौंध में कुछ चेहरे ऐसे भी हैं जो इस विधा का प्रयोग कर रहे हैं एक मिशन के साथ। मिशन है आम लोगों में सोच का एक ...
DHAROHAR...
Tag :
  September 21, 2014, 12:22 am
यूँ तो आधुनिक भारत के इतिहास में भी वीरता और बहादुरी के क्षेत्र में महिलाओं का योगदान कम नहीं रहा है, मगर यह जिक्र खास बन जाता है उस वीरांगना के कारण जो कि एक एअर होस्टेस थीं और जिन्हें मरणोपरांत देश के सर्वोच्च असैन्य नागरिक सम्मान'अशोक चक्र' से सम्मानित किया गया। 7 ...
DHAROHAR...
Tag :
  September 9, 2014, 2:23 pm
यूँ तो गुरु द्रोण को आज के दिन थोड़ी आलोचना के साथ ही याद किया जाता है। शिक्षा को राजकुल तक सीमित करने, व्यवसायीकरण करने और एकलव्य के साथ अन्याय करने तक के लिए भी... मगर कई मायनों में उनकी तुलना आज के शिक्षा के व्यवसायियों से की भी नहीं जा सकती। खैर फ़िलहाल चर्चा एकलव्य की। उ...
DHAROHAR...
Tag :
  September 5, 2014, 1:02 pm
आज गणेश चतुर्थी है। और संजोग ऐसा कि हर पर्व-त्यौहार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले चांद को आज देखना भी वर्जित है। कहते है इससे कलंक लगता है। जब इस भूल के कारन स्वयं श्रीकृष्ण पर चोरी का आरोप लग गया तो आमजनों की क्या बिसात है ! प्रचलित कथा के अनुसार एक बार गणेश जी अपने ...
DHAROHAR...
Tag :
  August 29, 2014, 11:45 am
आज  ‘औल इंडिया रेडियो’की 87 वीं सालगिरह है। 23 जुलाई 1927 को ही मुंबई में रेडियो प्रसारण की शुरुआत हुई थी। टीवी की धमक से रेडियो आज चाहे घर के एक कोने में सिमट गया हो,मगर एक समय में स्टेटस सिंबल से आगे बढ़ता हुआ आम आदमी के लिए सूचना और मनोरंजन का यह सबसे प्रभावशाली माध्यम थ...
DHAROHAR...
Tag :
  July 23, 2014, 3:41 pm
हाफिज़ सईद और वेद प्रताप वैदिक की मुलाक़ात विवादों में उलझ गई है । जहाँ इस मुलाक़ात से जुड़ी संभावनाओं और परिणामों पर विचार होना चाहिए था वहीं यह कोई और ही रूप लेती जा रही है। पहली नजर में इसके पीछे बीजेपी की वह आक्रामकता ही कारण लगती है जो वह अबतक विपक्ष में रहते हुये दिखात...
DHAROHAR...
Tag :हाफिज़ सईद
  July 15, 2014, 5:14 pm
विश्व में घटित हो रही कई घटनाओं को देख जो सोच उभरी उसे बाँटने का प्रयास है ये। थोड़ा लंबा तो हो गया है मगर यह आत्मसंतुष्टि के लिए जरूरी था। जो पढ़ सकें अपनी राय भी दे सकते हैं। अक्सर सभ्यताओं के संघर्ष की बात कही जाती है- आजकल तो कुछ ज्यादाही ज़ोर-शोर से। मगर क्या यह कोई नई बा...
DHAROHAR...
Tag :सर्व धर्म समभाव
  June 20, 2014, 4:00 pm
कश्मीर में मतदान चाहे कम हुआ हो, परिणामों से यहाँ भी लोग काफी खुश दिख रहे हैं। परिवारवाद, बड़बोलापन, जनता की अपेक्षाओं की उपेक्षा आदि से हर जगह की आम जनता त्रस्त थी और इस अहंकार को सबक सीखाने के अवसर की शायद प्रतीक्षा में भी थी। मैंने पहले भी कहा था कि विधानसभा चुनावों के ...
DHAROHAR...
Tag :
  May 16, 2014, 9:03 pm
त्रिमूर्ति, करोड़ों देवी-देवताओं और अवतारों की इस धरती पर राम, कृष्ण और शिव का एक अलग ही स्थान रहा है. अपने ऐतिहासिक महापुरुषों, राजाओं के बारे में हमारी स्मृतियाँ चाहे कितनी भी क्षीण हों इन प्रतीक पुरुषों को इस देश की करोड़ों जनता पीढ़ी-दर-पीढ़ी अपनी स्मृतियों में सहेजती आ...
DHAROHAR...
Tag :
  February 27, 2014, 3:28 pm
दिल्ली विधानसभा चुनावों से पूर्व यह कल्पना किसी ने नहीं की होगी कि नवनिर्मित आम आदमी पार्टी सत्ता में आ जायेगी, हाँ, जनता के रुझानों की झलक उसके माध्यम से जरुर मिलेगी इसकी संभावना जरुर थी. बेहतर यही होता कि शुरूआती दौर में सक्रीय विपक्ष की भूमिका निभाते हुए अपने अल्पन...
DHAROHAR...
Tag :अरविन्द केजरीवाल
  February 14, 2014, 11:25 pm
वर्षों पहले जब बनारस में था तो कभी-कभी मौर्निंग वाक के चुनिन्दा दिनों में एक-आध चक्कर सामने ही रहे जिम का भी लगा लेता था. एक दिन किसी लड़के को देखा अपने दोस्तों से कह रहा था- "मेरी तो जिंदगी ही बर्बाद हो गई..."ऐसा वो अपनी कम हाईट को लेकर कह रहा था क्योंकि उसके दोस्तों की नजर...
DHAROHAR...
Tag :
  February 10, 2014, 12:09 am
 "सुबह जाना काम पर, शाम को घर आना; सबसे बुरा है- मुर्दा शांति से भर जाना " तो अपने जिन्दा होने को कन्फर्म करने और शांत, ठहरे पानी में थोड़ी हलचल जगाने के लिए कभी-कभी ऐसे अभियानों पर निकल ही जाता हूँ. आज जा पहुंचा कश्मीर के सोपोर के उस स्थान पर जहाँ Palaeolithic और Neolithic काल के कुछ अवशे...
DHAROHAR...
Tag :Kashmir
  February 2, 2014, 8:25 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169585)