POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मेरे दिल की बात

Blogger: स्वराज्य करुण
ईमानदार हो या बेईमान ,सबको आशीर्वाद देते हैं भगवान ! उसके दरबार में हर तरह के लोग आते-जाते रहते हैं !. जैसे वह कोई नेता हो ,जिसके घर सुबह से शाम और देर रात तक किसम -किसम के चेहरे मंडराते रहते हैं ! चोर , डकैत , पाकेटमार , कालेधन के सफेदपोश कारोबारी, जरूरतमन्द जनता ,सबके सब अपने ... Read more
clicks 38 View   Vote 0 Like   5:26am 3 Sep 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
           क्या टेक्नॉलॉजी में बदलाव से  इंसान की मानसिकता भी बदल जाती है ? माहौल देखकर तो ऐसा ही कुछ महसूस हो रहा है ! कुछ बरस पहले तक चिट्ठी - पत्री के जमाने में लोग जिस आत्मीयता से एक - दूसरे के साथ अपने मनोभावों की अदला - बदली करते थे और उस आदान -प्रदान मे... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   7:18am 2 Sep 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
           लोग अपने व्यक्तिगत जीवन में किसी महत्वपूर्ण ओहदे को प्राप्त करते हैं , पदोन्नत हो जाते हैं , कोई नई कुर्सी मिल जाती है , किसी ने अपने लेटरपैड के पन्ने पर किसी को किसी संस्था का  पदाधिकारी बना दिया , बिल्ली के भाग्य से कोई ईनाम किसी की झोली में ... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   6:40am 27 Aug 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
      उस आदमी ने खुद को भगवान का संदेशवाहक यानी मैसेंजर ऑफ गौड़  घोषित कर रखा था .इस नाम से साल-दो साल पहले उसकी एक फिल्म भी आई थी , जिसके माध्यम से स्वयं को भगवान का मैसेंजर बताने के लिए उसने फिल्म के प्रचार-प्रसार पर करोड़ों रूपए खर्च किए थे , लेकिन आज जब उसके अंधभक्त... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   6:46pm 25 Aug 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
      सार्वजनिक गणेश उत्सवों के कितने आयोजकों को लोकमान्य बालगंगाधर तिलक की याद आती है ? क्या उन्हें मालूम है कि आधुनिक भारत में यह सांस्कृतिक परम्परा महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तिलक जी की देन है ? उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन में देशवासियो को अधिक से अधि... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   8:43am 25 Aug 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
जहर है ,जानलेवा है ,फिर भी उन्हें खुलेआम बेचा जा रहा है ! प्राइवेट टेलीविजन चैनलों में धड़ल्ले से उनके विज्ञापन भी दिखाए जा रहे हैं । राजश्री पान मसाला ,विमल पान पराग और मैकडोनॉल्ड सोडा यानी शराब के विज्ञापन बड़ी बेशर्मी से प्रसारित किए जा रहे हैं !          ... Read more
clicks 31 View   Vote 0 Like   7:09am 24 Aug 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
         नकारात्मक ख़बरों के अत्यधिक शोर से बोर होकर मैंने बीती रात नेशनल जिओग्राफिक चैनल पर भारतीय महिलाओं की संगठन शक्ति और उसकी शानदार कामयाबी की कहानी देखी .चैनल ने एक रोचक डाक्यूमेंट्री के रूप में इसे प्रस्तुत किया है . इसमें स्वावलम्बन के लिए साधारण महिल... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   4:09pm 23 Aug 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
कुछ दशक पहले के फ़िल्मी गीतों में मनोरंजन के साथ कोई न कोई सामाजिक सन्देश भी हुआ करता था । उन गीतों के जरिए देश और समाज की बुराइयों पर और बुरे लोगों पर तीखे प्रहार भी किए जाते थे । जैसे - *दो जासूस करे महसूस कि दुनिया बड़ी खराब है ,कौन है सच्चा ,कौन है झूठा ,हर चेहरे पे नकाब है... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   8:25am 21 Aug 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
     दिल पर हाथ रखकर बताना - क्या कभी ऐसी इच्छा नहीं हुई कि भारत ,पाकिस्तान और बांगला देश मिलकर एक बार फिर अखण्ड भारत बन जाएं ? आज के दौर में चाहे 14 अगस्त को पाकिस्तान और 15 अगस्त को भारत अपनी आज़ादी का जश्न मनाए ,क्या वह हमारे उस अखण्ड भारत की आज़ादी का जश्न होता है ,जो आज ... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   6:36pm 16 Aug 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
     पूर्णमासी पर रक्षा बंधन का त्यौहार मनाकर सावन आज बिदा हो जाएगा . कई राज्यों में वह खूब बरसा ,गुजरात ,असम जैसे राज्यों में बाढ़ की भयावह आपदा से लोगों को जूझना  पड़ा,  लेकिन इस बार देश के कुछ इलाकों  में सावन  की  बेरूखी ने किसानों को चिंतित कर दिया  .मौसम वै... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   7:54am 7 Aug 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
        सोशल मीडिया के इस जमाने में  लोकप्रियता मिलती नहीं बल्कि खरीदी जाती है ! इस फोटो पर दीवार में चस्पा विज्ञापन को ध्यान से देखिए ! फेसबुक पर सिर्फ 300 रूपए में 1500 लाइक ,ट्विटर पर 200 रूपए में 1000 फॉलोवर्स और गूगल प्लस पर भी 200 रूपए में 1000 फॉलोवर्स ....! जनाब ने अपना म... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   6:07pm 6 Aug 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
क्या शब्द अपनी धार खो रहे हैं और चलन से बाहर हो रहे हैं ? हिन्दी भाषा में ही देखें तो किंकर्त्तव्यविमूढ़ , दैदीप्यमान , जाज्वल्यमान ,, चेष्टा , विद्यार्जन , धनोपार्जन , अर्थोपार्जन , लोलुपता , मीमांसा ,प्रतिध्वनि , ,प्रतिश्रुति,प्रतिबिम्ब , प्रत्युत्पन्नमति , प्रवृत्ति ,प्र... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   6:12pm 18 Jul 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
गाँव की गलियों में चिकारा की मधुर ध्वनि अब नहीं गूंजती । उसकी गुंजन लगभग विलुप्त हो चुकी है । यह परम्परागत वाद्य यन्त्र छत्तीसगढ़ के घुमन्तू देवार समुदाय के लोकगीतों का संगवारी हुआ करता था , लेकिन देवारों की नई पीढ़ी करीब -करीब उसे छोड़ चुकी है । महासमुंद जिले में पिथौर... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   6:44pm 8 Jul 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
देवी -देवताओं के दर्शन के लिए उसने पत्नी के आग्रह पर मन्दिर जाने का कार्यक्रम बनाया ,लेकिन कुछ देर बाद प्रोग्राम कैंसिल करना पड़ा ! कारण यह कि दोनों मन्दिरों के रास्तों पर ट्रकों की लम्बी -लम्बी कतारें लगी हुई थी और ट्रैफिक क्लियर होने में कम से कम एक घंटे का समय लगना त... Read more
clicks 31 View   Vote 0 Like   6:38pm 7 Jul 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
                                              आधुनिकता की दौड़ में                                              सब लगे हुए हैं            ... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   8:05am 11 Feb 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
                                बाजीगरों की                                 इस मायावी दुनिया में                                 नहीं आती हमें शब्... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   6:43pm 10 Feb 2017 #
Blogger: स्वराज्य करुण
                                                                                                                     &nb... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   6:39pm 1 Sep 2016 #
Blogger: स्वराज्य करुण
     शब्दों के तीर एक-दूसरे पर खूब चल रहे हैं . आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है . टेलीविजन चैनलों और अखबारों के पन्नों पर शब्दों की बाजीगरी और लांछन -प्रतिलांछनों का शोर इतना है कि सही-गलत की पहचान करना बहुत कठिन होता जा रहा है ,लेकिन थोड़ी कोशिश करें तो 'देशभक्तों 'और दे... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   6:48pm 22 Feb 2016 #
Blogger: स्वराज्य करुण
हे राजन ! क्या झूठ और सच के भी कई रंग होते हैं ? किसी बात को झूठलाने के लिए ऐसा क्यों बोला जाता है कि यह सरासर 'सफेद झूठ'है ?  झूठ के लिए सिर्फ सफेद रंग का इस्तेमाल क्यों होता है ? क्या 'सफेद झूठ'के अलावा लाल,पीला ,नीला ,हरा या गुलाबी झूठ भी होता है ? अगर झूठ रंग-बिरंगा होता है ... Read more
clicks 50 View   Vote 0 Like   6:27pm 21 Jan 2016 #
Blogger: स्वराज्य करुण
                                                    समरथ को नहीं दोष गोसाईं ,                                                    देश की दौ... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   6:30pm 16 Jan 2016 #
Blogger: स्वराज्य करुण
                                                                                          एक अनबूझी पहेली,                     &n... Read more
clicks 59 View   Vote 0 Like   6:39pm 11 Jan 2016 #
Blogger: स्वराज्य करुण
हाय मेरे वतन के लोगों  , तुमने क्या कर डाला है ,कदम-कदम पर आज हर तरफ उनका बोलबाला है !चालें उनकी समझ न आयी हमको भी और तुमको भी इसीलिए तो गले में उनके फूलों की हर दिन माला है ! पहले तो समझा था हमने प्यार का वो महासागर हैं ,हमें क्या पता दिल में उनके नफरत का परनाला है !हर आफिस के... Read more
clicks 56 View   Vote 0 Like   7:23pm 6 Jan 2016 #
Blogger: स्वराज्य करुण
                                               कहाँ है क्या पता , उत्तर है लापता !                                                        प्... Read more
clicks 55 View   Vote 0 Like   6:16pm 6 Jan 2016 #
Blogger: स्वराज्य करुण
कभी नज़र आता थानीला आकाश ,अब नज़र आते है खूंखार चेहरे !न जाने किसकी लगी नज़र झील के शांत स्वच्छ पानी को ,गुनगुनाती लहरों को ,हरे-भरे किनारों को ,वसंत की बहारों को !अब न पंछियों के गीत हैं ,न भौरों का संगीत ,बागों की तितलियाँ झील की मछलियाँ काँप रही भयभीत !मायावी शिकारी फेंक र... Read more
clicks 61 View   Vote 0 Like   6:47pm 5 Jan 2016 #
Blogger: स्वराज्य करुण
समय की स्याही से लिखे इतिहास के पन्ने सूखकर पीले पड़ जाते हैं और पतझर के पत्तों -सा झर जाते हैं !टेप काण्ड हो या रेप काण्ड .उनका भी हमेशा यही हश्र हुआ है और आगे भी होना है जनता की किस्मत में रोना ही रोना है . बयानवीरों के शोर में डूबकर खो जाती है दरिंदों के पंजों में दबे कुचल... Read more
clicks 60 View   Vote 0 Like   6:37pm 4 Jan 2016 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3953) कुल पोस्ट (193487)