Hamarivani.com

Someone Somewhere

ख्वाबों को ख्वाब ही रेहने दो, इन्हेँ नयी उड़ान  न दोजो ख्याब आ रहे हैं दिल में, उन्हें नए अरमान  न दोरोक लो अपने दिल की आवाज को ,  इन्हें नयी जान न दो.जो कलि खिल रही है मन मैं, उन्हें फ़ूलों की मुस्कान  न दोहकीकत मैं जीना सीखो, सपनों को नयी पहचान  न दो, रोक ल...
Someone Somewhere...
Tag :
  March 27, 2016, 5:37 pm
उन कागज  के पुलिदें को साथ लिये भटकता हूँ मैंजिन पर स्याही के निशां भी बचे नहींहाँ, कोरे हो चले वोह कागज के पुलिंदेजिन्हें कतरा कतरा पढ़ता हूँ कतरा कतरा जीता हूँजिन्हें प्रेम पत्र कहा करता हूँउनके छोटे छोटे कतरों को समेटे हुएबातें उन्हीं से करता हूँ मैंएक हवा का झोंक...
Someone Somewhere...
Tag :
  March 20, 2013, 12:13 pm
कोई ना कोई बहाना बना ही लेता मेरा मन  उन बीते दिनों को याद करने कोउन झिझकते हुए नयनों से फिर नयन चार करने कोउन बेताब  लम्हों में फिर जिंदगी गुजर देने कोकोई पुराना फ़साना याद दिला देते है मेरा मनजब कोई आहट जानी सी लगती हैंजब किसी प्रेमी को साथ मैं देखता हैंजब कोई चकोर चाँद...
Someone Somewhere...
Tag :
  June 15, 2012, 11:07 am
स्वच्छंद विचरण करने उड़ चला मैंखुले आकाश में उन्मुक्त होकरदुनिया की नज़रों से ओझल होकरजाने कितना भार कंधे से उतार कर   दुनियादारी के बंधनों को छोड़कर खुद के साये से नाता तोड़ करआवारा बनकर फुद्कू मैं डाल डाल पात पातकरता रहूँ कुछ देर खुद से ही बातनापूं असमान के विस्तृत विस...
Someone Somewhere...
Tag :
  February 24, 2012, 11:39 am
आराम की चादर में सूखे हुए तन इस कोआज बारिश में भिगोने को दिल करेशुष्क हुआ हैं बहुत मन मेरातन के साथ मन को भीग जाने को दिल करेखूब हुआ यह आराम का सफ़र अबबारिश में साइकिल चलाजे को आज दिल करेकहाँ गए वो बाग़ बगीचे उन्हीं पेडों की शाख हिलाने को दिल करेफिर से अपने आस पास गेंद ...
Someone Somewhere...
Tag :
  September 16, 2011, 9:50 am
एक तस्वीर धुंधली सीकभी धुप सी कभी छाँव सी कभी रेशम सी कभी कांटे सीकभी कुन्हांसा सी कभी किरण सीएक तस्वीर धुंधली सीदेखो तो सारा जग उसी मेंसोचो तो खाली सी कभी सुफेद कुमुदनी सीकभी रंगीन तितली सी एक तस्वीर धुंधली सीदिल में बसी ऐसी दूध में पानी सीकभी रूठी बच्चे सीकभी जलत...
Someone Somewhere...
Tag :
  April 7, 2011, 9:43 am
उसकी  इज्जत  का  अपहरण  कर  रहे  थे  चार  चार  मर्दवहीँ  खढ़े  देख   रहे  थे  उनके  सात आठ  ताक़तवर  मर्द गन्दगी  का  तांडव  देख  रहे  थे  भीढ़  में  बहुत   सरे  मर्द उसकी  आंखें  चरों   तरफ    तलाश रही थी एक  सच्चा   मर्द ...
Someone Somewhere...
Tag :
  March 21, 2011, 1:13 pm
पल पल मैं खिल खिलानापल पल मैं गुस्सा दिखानापल मैं ख़ुशी पल मैं गमबच्चों की दुनिया मैं सच्चाई हर दमकभी चिढ़िया की तरह चेह्चानाकभी हिरन की तरह कुदाली मचानाकभी मोर की तरह नाचनाकभी अजब जिद पर मचल जाना मासूमियत की हद पार करना जानाफिर उसके बाद वोह मुसकरानाउसकी बातों मैं ...
Someone Somewhere...
Tag :
  March 16, 2011, 9:01 pm
एक शाम मैं यूँ ही बैठा  थाकुछ इधर उधर की बात सोच रहा थान जाने कैसे तेरी हंसी याद आयीफिर वही शाम से मुलाक़ात हो आयीमिले थे जिस शाम को अंतिम बार हम तुमहलकी सी बारिश का था  वोह  मौसम चाय  की  प्याली  पर  तुम्हारे  निशान  लवों  के वोह  हाथों  मैं  हाथ  डाले  यूँ  ही  बैठे  रहे ...
Someone Somewhere...
Tag :
  March 15, 2011, 1:57 pm
नाम मैं तेरे मीत लगा कर जानते अबखुद के नाम से कहाँ पहचानते मुझेपरछाईयों मैं अपनी, साये तेरे नजर आते अबखामोश दिल की धर्ह्कन मैं शब्द तेरे समझ आते मुझेभूल गया जाम-इ-महफ़िल अब जाम तेरी आँखों के भाते हैं मुझेकोई कहता पगला कोई कहता दीवानादुनिया वाले अब कहाँ इंसान मानते हैं ...
Someone Somewhere...
Tag :
  October 18, 2010, 10:51 am
नवरात्रे के पहला दिन थामैं गंगा के पुल के ऊपर से गुजर रहा थादेखा तो एक भाई साहब आयेसुइट पहले चश्मा लगायेदिखने मैं सज्जन माथे पर टीका लगायेलग रहे थे पढ़े लिखेतुरन ही जय गंगा मय्या का पाठ पढ़कर एक पोलीथीन गिरा दीकहने को तो माँ हैंपर ऐसे लोगों ने नदी साढ़ा दीजाने ऐसे लो...
Someone Somewhere...
Tag :
  October 8, 2010, 8:53 am
 रोज नया तमाशा देखती सड़क कितनी अनचाही बातों पर ध्यान न देती सड़ककितने झूठ सच बनते देखती सड़कफिर अपना कभी मुंह न खोलती सड़कजाने कितने जन्मों को समेटती सड़कन जाने कितनी मौतों को गले लगाती सड़कसब देखती रहती और आसमान तकती रहती सड़कफिर भी सब के जीने का जरिया बनती सड़कइं...
Someone Somewhere...
Tag :
  October 1, 2010, 10:10 pm
 Roj ek naya tamasha dekhti sarhakKitni anchahi baat sunti sarhakKitne jhooth sach bante dekhti sarhakapna kabhi munh na kholti fir bhi sarhakjane kitne janmon ko dekhti sarhakkitin mauton ko gale lagati sarhakfir bhi sam ka bhaar sehti sarhakinsaan kee hakeekaton se rubaru hoti sarhakkitne ghotalon ka sabab bantiti sarhakkitne chhupe hue raaj ko na ugalti sarhakfir ek din fat parhit aur tane sunti sarhak...
Someone Somewhere...
Tag :
  October 1, 2010, 9:58 pm
This is a temporary post that was not deleted. Please delete this manually. (37a1f2b1-94b2-4f02-bca4-010d8d47f9a6 - 3bfe001a-32de-4114-a6b4-4005b770f6d7)...
Someone Somewhere...
Tag :
  October 1, 2010, 9:13 pm
ऑफिस मैं बैठे हुएएक हाथ मैं कोफ्फ़ी का कप लियेखिढ़की से झांक कर देखा बाहरवहां चल रही थी वर्षा की फुहारमन मैं सोचा आज फिर ट्राफ्फिक जामघर पहुँचने मैं निकलेगा दममन ही मन कोसा इस बारिश कोफिर यकायक बोलने लगा मैं खुद कोपहले ऐसा न था जीवन मैंवर्षा उल्लास भर देती थी तन मैंवर...
Someone Somewhere...
Tag :
  September 1, 2010, 3:44 pm
बादल और सूरज की लुखा छिपी सेकभी धुप आ रही हैं कभी जा रही हैंशीतल शीतल पवन कैसेमन को लुभाए जा रही हैं हैंपंखों को लहराहे पक्षी इठला रहे जैसेमनो बादलों को यह ही चलाय जा रहे होपेढ़ों की डालियों झूम रही ऐसेमानों कितने इन्तजार के प्रेमी से मिल रहे होबूंदों से सौंधी खुशबु उम...
Someone Somewhere...
Tag :
  July 28, 2010, 3:49 pm
रेत पर पांव के निशानजितनी आसानी से पढ़ते हैंउसे ज्यादा आसानी से छूट ते भी हैंफिर नए पढ़ते हिं, नए टूटते हैंसिलसिला चलता रहता हैं लगातारदिल क्यूँ न रेत साक्यूँ एक बार निशान बन जायेतो रहता उम्र भर हिंमिटना निशान की दिल से शख्सियत नहींउसे छिपाना पढ़ता हैं उम्र भरपत्थर प...
Someone Somewhere...
Tag :
  June 20, 2010, 9:47 am
शाम ढलने सेदिन बदलने सेशुरुवात होती हैंएक नय्हे दिन कीएक नयी सुबह कीहर नया दिनलेकर आता हैं एकनयी उमंग नयी तरंगऔर पुँराना दिन बन जाता हैंएक नया इतिहासपिच्च्ला दिन अगरअच्छा न होछाप पढ़ती हैंआज पर और आजभारी लगने लगता हैंहमें हर आज कोऐसे बिताना होगाकी आने वाल दिन परकोई ...
Someone Somewhere...
Tag :
  June 20, 2010, 9:41 am
कोयले की तरह आग अ होता मेरा मनधून धून कर रख होता मेरा मनबिछोह के तेरे गम मैंसाडी दुनिया से नाराज होता मेरा मनकहने को तो चरों तरफ खुशिया मेरेतेरी याद मैं हर वक़्त रोता मेरा मनतू आज भी ही कितने दूर सहीखुद को तेरे नजदीक पता मेरा मनआजा एक बार मेरे करीब फिरयहीं फरियाद करता म...
Someone Somewhere...
Tag :
  June 17, 2010, 2:14 pm
दिल दिल हैं मेरा कोई आईना नहींजिसको देखा सीने से लगे ला लीयाजाना था तुमको चले गए तुमहमने अब कौनसा किसी और को गले से लगा लीयामाँगा थी एक ही शक्सियत खुदा सेउसी को हमने दूर कहीं गँवा दीयाकहते हो खुश्गीन लिखा करून उन मैंबिन तुम्हारे तन्हाई को सिने से लगा लीयापयार का राग आल...
Someone Somewhere...
Tag :
  June 17, 2010, 2:01 pm
शाम इ मुहब्बत का पैगामकुच्छ हमने जाम-इ-शौक़ से दीयाउकी हसीं आँखों मैं डूब जानेको नाम हमने मय को दीयादिल के अपने कुच्छ सवालों का उत्तरहमने उनकी धर्ह्कन से दीयाखवाबों को अपने हवा रुखउनकी आँखों के इशारे से दीयाहुस्न-इ-सखी के महकते हुए कीसूनको नाम हमने इतर का दीयाअंजाम-इ-म...
Someone Somewhere...
Tag :
  June 2, 2010, 11:14 am
कलम जो तुने तोहफे मैं दी थीवोह आज भी मेरी दराज मैं रखि हैंइस्तेमाल नहीं हुई हैं शायद तेरे जाने के बाद सेअब तो उसकी निब पर स्याही की सूखे हुए दाग भी हलके पढ़ गए होंगेबटुआ जो तुने जन्मदिन पर दीया थावोह आज भी अलमारी मैं पढ़ा हुआ हैंकभी तेरे ख्यालों के सामान हर दम पास रहता था...
Someone Somewhere...
Tag :
  April 23, 2010, 1:53 pm
ख्याल तेरा आज भी आता हैंतो होते नयन मेरे नम हैंमिले तुमसे जितना भी लगता यहींकुछ पल अभी और कम हैंधरती की प्यास हैं ज्यादाबादलों मे पानी कुछ कम हैंमन यूँ कुछ विचलित हो जाता हैंपर कटा पंछी उरः नहीं पता हैंकोशिश करता बार उरः जाने कीपर हर प्रयास व्यर्थ हो जाता हैंपंख फर्ह्...
Someone Somewhere...
Tag :
  March 24, 2010, 10:30 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163607)