Hamarivani.com

श्री समवर्ती समूह

हम साधु पथ पर है।छमा करना हमारा धर्म है। किंतु एसा साधु भि ठीक नहि कि उसके साधुताई का कोई नाजायज फायदा उठा ले। बार बार गलतेयों का छमा अपराध कि श्रेणि में आता है।...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  March 27, 2013, 1:37 pm
दुचित्त में पडा हुवा व्यक्ति न घर का होता है,न घाट का होता है।उस दुचित में ही उसका सारा कुछ मारा जाता है। दो नाव कि सवारी के विसय में सभि जानते है,यहा तो नाजाने कितने नाव हैं भगवान को भि नहि पता है कि क्या होगा।...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  March 27, 2013, 1:29 pm
शासक शाश्वत नहीं हो सकतहै,चिर्‌‌‌-काल तक संत का गुण-धर्म ही शाश्वत है।...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  March 27, 2013, 1:27 pm
श्री गुरवे नमः आदरणीय माताएं एवं प्रिय धर्म बंधुओं, आज इस पर्व में आपकी उपस्थिति अपने आप में बहुत बड़े आध्यात्म का प्रतीक है. आज इस गुरु पूर्णिमा महोत्सव में आप अपने गुरु की छाया में, अपने गुरु वाणी को सुनते हैं, उनके विचारों को सुनते हैं, उस पर आरूढ़ होते हैं, उन्हें अंग...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  May 4, 2011, 2:34 pm
    पूज्य अवधूत समूह रत्न रामजीआज समाज में विभिन्न तरीको से आचार विचार से व्यवहार से ध्यान की प्रक्रिया क्रिया या हम अपने विचार से जो भी नाम धर दें या धार्मिक दिन सज्जनों को बता दें, ऐसा प्रचलन व्याप्त है. सच क्या है ? क्या हाथ पैर मोड़कर अकर्मण्य बनकर बैठना ध्यान है. या इस...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  April 29, 2011, 7:14 pm

...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  April 8, 2011, 11:40 am
...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  April 5, 2011, 9:47 pm
                                            पूज्य बाबा आश्रम की बगिया के एक फूल के बारे में बताते हुए.                                               रायपुर स्थित आश्रम में पूज्य बाबाजी अपने शिष्यों राहुल शर्मा और देवेश पंडा के साथ फुर्सत के पल ...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  March 14, 2011, 11:33 am
प्रिय मित्रों                   जीवन का सबसे मधुर क्षण वो होता है, जब कोई व्यक्ति आपके अभ्यंतर में दस्तक देता है, और द्वार खोलते ही आपके जीवन का हर कोना एक मधुर सुवास से भर जाता है. आपके जीवन के बुझे तारो में कोई संगीत की अग्नि प्रज्वलित हो जाती है. सदगुरु भी जब आपके अभ्यंतर पर...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  March 13, 2011, 2:22 pm
पूज्य औघड़ बाबा के सानिध्य में बहुत से लोगो का कल्याण होता है. आशीर्वाद देने के तरीके भी अलग होते हैं, किसी को प्रसाद किसी को भस्मी किसी को बोलकर तो किसी को कोई जड़ी बूटी बताकर. पूज्य बाबा बहुधा लोगो को बीमारियों के लिए औषधि बताते है, जो आसपास उगने वाली होती है. ऐसी वनस्पति...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  March 9, 2011, 2:43 pm
प्रियमित्रोंपूज्यबाबाजीसेजुड़ेभक्तोऔरशिष्योंकेपासऐसेबहुमूल्यसंस्मरणहै, जिन्हेंसुनकरअघोरसंतकेजीवनकीझलकमिलतीहै. कैसेबातोबातोमेंकृपाबरसतीहै, जिन्हेंसाधारणजनचमत्कारकाभीनामदेतेहैं. पूज्यबाबाकेआसपासभीबहुतसेचमत्कारहोतेरहतेहैं. वस्तुतःयहसबउनकीकृपाहै...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  March 7, 2011, 6:56 pm
पूज्य अवधूत बाबा समूह रत्न रामजी ज्यादातर महुआ टोली, कुनकुरी आश्रम में रहते हैं, इसलिए लोग उन्हें महुआ टोली वाले औघड़ बाबा के नाम से जानते हैं. छत्तीसगढ़ में पूज्य बाबा शमशानी औघड़ के रूप में विख्यात हैं. छत्तीसगढ़ के पूर्वी दक्षिण भाग में स्थित जशपुर जिला औघड़ अघोरेश्...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  March 4, 2011, 5:46 pm
अघोर पथ के पथिको को यह भेद ज्ञात है कि, आध्यात्म जगत के हर पथ हर सम्प्रदाय हर धर्म में अवस्था और पद का बड़ा महत्व होता है. साधक अथवा संत अपनी अवस्था को खुद प्रगट करते हैं, कुछ जगह दुसरे संतो ने जागृत लोगो ने दुसरे कि अवस्था की घोषणा की है. गौतम बुद्ध ने अपने बुद्धत्व की घोषण...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  March 2, 2011, 1:51 pm
श्री समवर्ती समूह के सभी शिष्य और भक्त यह जानते हैं की हर मकर सक्रान्ति के दिन पूज्य गुरुदेव नदी के संगम पर हवन पूजन संपन्न करते हैं और उसके बाद भंडारे का आयोजन होता है. हमने  इस पर्व के बारे में जानने हेतु  बाबा से निवेदन किया तो पुज्य अवधूत बाबा समूह रत्न रामजी के श्रीम...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  February 9, 2011, 6:51 pm
श्री समवर्ती  समूह - पूज्य अवधूत बाबा समूह रत्न रामजी द्वारा बोया गया वो बीज है, जो अब एक वृक्ष का आकार ले चूका है. इस वृक्ष की छाया के निचे अघोर पथ के पथिक विश्राम पाते हैं, यह उनका कल्पवृक्ष बन कर उनकी सारी आकांक्षाओं की पूर्ती करता है. जो साधक, भक्त , प्रेमी, जिज्ञासु, जि...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  December 27, 2010, 3:17 pm
सन् 1994 मे सर्वप्रथम बाबा जी का रायपुर आगमन हुवा था उस समय हम लोगो का निवास रायपुर के शॅंकरनगर स्थित भारतीय स्टेट बैक अपार्टमेंट मे हुवा करता था मुझे आज भी अच्छे से याद है वह दिन जब मुझे पहली बार बाबा जी का दर्शन लाभ प्राप्त हुवा था .मेरी जानकारी मे ये था की कुनकुरी से नाना ...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  December 23, 2010, 11:53 am
अघोर पथ के पथिको को सदा से यह ज्ञात रहा है की गुरु के आसन और गुरु में कोई अंतर नहीं होता है. अघोर गुरु       की अनुपस्थिति  में उनके आसन को प्रणाम करके साधक अपना अभीष्ट  प्राप्त करते हैं. पूज्य बाबा के दर्शन कक्ष में स्थित  आसन को प्रणाम निवेदन करते बाबा के एक भक्त. पूज्य ब...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  November 30, 2010, 5:49 pm
महुआ टोली वाले औघड़ बाबा " करता है हर कर्म जो, रहता है निष्काम, आकाश सा निर्लेप है जो अवधूत है उसका नाम "" अघोरेश्वर के सन्मुख प्रगटे , ओर पाया उनसे ज्ञान   , रत्न लगा निज का उन्हें ,  नाम दिया समूह रत्न राम "...
श्री समवर्ती समूह...
Tag :
  November 30, 2010, 3:10 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3694) कुल पोस्ट (169770)