POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: श्री समवर्ती समूह

Blogger: s r ram
हम साधु पथ पर है।छमा करना हमारा धर्म है। किंतु एसा साधु भि ठीक नहि कि उसके साधुताई का कोई नाजायज फायदा उठा ले। बार बार गलतेयों का छमा अपराध कि श्रेणि में आता है।... Read more
clicks 99 View   Vote 0 Like   8:07am 27 Mar 2013 #
Blogger: s r ram
दुचित्त में पडा हुवा व्यक्ति न घर का होता है,न घाट का होता है।उस दुचित में ही उसका सारा कुछ मारा जाता है। दो नाव कि सवारी के विसय में सभि जानते है,यहा तो नाजाने कितने नाव हैं भगवान को भि नहि पता है कि क्या होगा।... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   7:59am 27 Mar 2013 #
Blogger: s r ram
शासक शाश्वत नहीं हो सकतहै,चिर्‌‌‌-काल तक संत का गुण-धर्म ही शाश्वत है।... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   7:57am 27 Mar 2013 #
Blogger: s r ram
श्री गुरवे नमः आदरणीय माताएं एवं प्रिय धर्म बंधुओं, आज इस पर्व में आपकी उपस्थिति अपने आप में बहुत बड़े आध्यात्म का प्रतीक है. आज इस गुरु पूर्णिमा महोत्सव में आप अपने गुरु की छाया में, अपने गुरु वाणी को सुनते हैं, उनके विचारों को सुनते हैं, उस पर आरूढ़ होते हैं, उन्हें अंग... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   9:04am 4 May 2011 #
Blogger: s r ram
    पूज्य अवधूत समूह रत्न रामजीआज समाज में विभिन्न तरीको से आचार विचार से व्यवहार से ध्यान की प्रक्रिया क्रिया या हम अपने विचार से जो भी नाम धर दें या धार्मिक दिन सज्जनों को बता दें, ऐसा प्रचलन व्याप्त है. सच क्या है ? क्या हाथ पैर मोड़कर अकर्मण्य बनकर बैठना ध्यान है. या इस... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   1:44pm 29 Apr 2011 #
clicks 97 View   Vote 0 Like   6:10am 8 Apr 2011 #
Blogger: s r ram
                                            पूज्य बाबा आश्रम की बगिया के एक फूल के बारे में बताते हुए.                                               रायपुर स्थित आश्रम में पूज्य बाबाजी अपने शिष्यों राहुल शर्मा और देवेश पंडा के साथ फुर्सत के पल ... Read more
clicks 134 View   Vote 0 Like   6:03am 14 Mar 2011 #
Blogger: s r ram
प्रिय मित्रों                   जीवन का सबसे मधुर क्षण वो होता है, जब कोई व्यक्ति आपके अभ्यंतर में दस्तक देता है, और द्वार खोलते ही आपके जीवन का हर कोना एक मधुर सुवास से भर जाता है. आपके जीवन के बुझे तारो में कोई संगीत की अग्नि प्रज्वलित हो जाती है. सदगुरु भी जब आपके अभ्यंतर पर... Read more
clicks 110 View   Vote 0 Like   8:52am 13 Mar 2011 #
Blogger: s r ram
पूज्य औघड़ बाबा के सानिध्य में बहुत से लोगो का कल्याण होता है. आशीर्वाद देने के तरीके भी अलग होते हैं, किसी को प्रसाद किसी को भस्मी किसी को बोलकर तो किसी को कोई जड़ी बूटी बताकर. पूज्य बाबा बहुधा लोगो को बीमारियों के लिए औषधि बताते है, जो आसपास उगने वाली होती है. ऐसी वनस्पति... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   9:13am 9 Mar 2011 #
Blogger: s r ram
प्रियमित्रोंपूज्यबाबाजीसेजुड़ेभक्तोऔरशिष्योंकेपासऐसेबहुमूल्यसंस्मरणहै, जिन्हेंसुनकरअघोरसंतकेजीवनकीझलकमिलतीहै. कैसेबातोबातोमेंकृपाबरसतीहै, जिन्हेंसाधारणजनचमत्कारकाभीनामदेतेहैं. पूज्यबाबाकेआसपासभीबहुतसेचमत्कारहोतेरहतेहैं. वस्तुतःयहसबउनकीकृपाहै... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   1:26pm 7 Mar 2011 #
Blogger: s r ram
पूज्य अवधूत बाबा समूह रत्न रामजी ज्यादातर महुआ टोली, कुनकुरी आश्रम में रहते हैं, इसलिए लोग उन्हें महुआ टोली वाले औघड़ बाबा के नाम से जानते हैं. छत्तीसगढ़ में पूज्य बाबा शमशानी औघड़ के रूप में विख्यात हैं. छत्तीसगढ़ के पूर्वी दक्षिण भाग में स्थित जशपुर जिला औघड़ अघोरेश्... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   12:16pm 4 Mar 2011 #
Blogger: s r ram
अघोर पथ के पथिको को यह भेद ज्ञात है कि, आध्यात्म जगत के हर पथ हर सम्प्रदाय हर धर्म में अवस्था और पद का बड़ा महत्व होता है. साधक अथवा संत अपनी अवस्था को खुद प्रगट करते हैं, कुछ जगह दुसरे संतो ने जागृत लोगो ने दुसरे कि अवस्था की घोषणा की है. गौतम बुद्ध ने अपने बुद्धत्व की घोषण... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   8:21am 2 Mar 2011 #
Blogger: s r ram
श्री समवर्ती समूह के सभी शिष्य और भक्त यह जानते हैं की हर मकर सक्रान्ति के दिन पूज्य गुरुदेव नदी के संगम पर हवन पूजन संपन्न करते हैं और उसके बाद भंडारे का आयोजन होता है. हमने  इस पर्व के बारे में जानने हेतु  बाबा से निवेदन किया तो पुज्य अवधूत बाबा समूह रत्न रामजी के श्रीम... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   1:21pm 9 Feb 2011 #
Blogger: s r ram
श्री समवर्ती  समूह - पूज्य अवधूत बाबा समूह रत्न रामजी द्वारा बोया गया वो बीज है, जो अब एक वृक्ष का आकार ले चूका है. इस वृक्ष की छाया के निचे अघोर पथ के पथिक विश्राम पाते हैं, यह उनका कल्पवृक्ष बन कर उनकी सारी आकांक्षाओं की पूर्ती करता है. जो साधक, भक्त , प्रेमी, जिज्ञासु, जि... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   9:47am 27 Dec 2010 #
Blogger: s r ram
सन् 1994 मे सर्वप्रथम बाबा जी का रायपुर आगमन हुवा था उस समय हम लोगो का निवास रायपुर के शॅंकरनगर स्थित भारतीय स्टेट बैक अपार्टमेंट मे हुवा करता था मुझे आज भी अच्छे से याद है वह दिन जब मुझे पहली बार बाबा जी का दर्शन लाभ प्राप्त हुवा था .मेरी जानकारी मे ये था की कुनकुरी से नाना ... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   6:23am 23 Dec 2010 #
Blogger: s r ram
अघोर पथ के पथिको को सदा से यह ज्ञात रहा है की गुरु के आसन और गुरु में कोई अंतर नहीं होता है. अघोर गुरु       की अनुपस्थिति  में उनके आसन को प्रणाम करके साधक अपना अभीष्ट  प्राप्त करते हैं. पूज्य बाबा के दर्शन कक्ष में स्थित  आसन को प्रणाम निवेदन करते बाबा के एक भक्त. पूज्य ब... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   12:19pm 30 Nov 2010 #
Blogger: s r ram
महुआ टोली वाले औघड़ बाबा " करता है हर कर्म जो, रहता है निष्काम, आकाश सा निर्लेप है जो अवधूत है उसका नाम "" अघोरेश्वर के सन्मुख प्रगटे , ओर पाया उनसे ज्ञान   , रत्न लगा निज का उन्हें ,  नाम दिया समूह रत्न राम "... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   9:40am 30 Nov 2010 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3938) कुल पोस्ट (195050)