Hamarivani.com

आर्यावर्त के आँगन में

अत्यादरो भवेद्यत्र कार्यकारणवर्जितः ।तत्र शंका प्रकर्तव्या परिणामे सुखावहा ॥(If you find that you are getting too much respect/praise when there is not much cause (or reason), you must start doubting the motives. This will always lead to happiness.)...
आर्यावर्त के आँगन में...
Tag :
  December 18, 2011, 6:12 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167882)