POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मयंक की डायरी

Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 “एक फुट के मजनू मियाँ”     कुछ दिनों पहले मुझे साधना वैद की “एक फुट के मजनू मियाँ” प्राप्त हुई मैंने सोचा कि शायद ये कोई उपन्यास होगा। लेकिन जब मैंने इसको खोलकर देखा तो पता लगा कि यह एक बालकृति है। जिसमें बच्चों के लिए छोटी-छोटी बीस बालोपयोगी लघुकथाएँ संकलित है... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   6:01am 19 Nov 2018 #“एक फुट के मजनू मियाँ”
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 “एक फुट के मजनूमियाँ”     कुछ दिनों पहले मुझे साधना वैद की “एक फुट के मजनूमियाँ” प्राप्त हुई मैंने सोचा कि शायद ये कोई उपन्यास होगा। लेकिन जब मैंने इसको खोलकर देखा तो पता लगा कि यह एक बालकृति है। जिसमें बच्चों के लिए छोटी-छोटी बीस बालोपयोगी लघुकथाएँ संकलित है... Read more
clicks 180 View   Vote 0 Like   6:01am 19 Nov 2018 #“एक फुट के मजनूमियाँ”
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
संस्मरण साहित्य की अपूर्व निधिडॉ. महेन्द्र प्रताप पाण्डेय       हिन्दी साहित्य की विभिन्न विधाओं पर आधिपत्य रखनेवाले डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’ जी की संस्मरण आधारित पुस्तक ‘स्मृति उपवन’ की पाण्डुलिपि मेरे समक्ष है। ‘मयंक’ जी ने अभी तक आठ पुस्तकों का प्... Read more
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
"मुखर होता मौन"ग़ज़ल संग्रहमेरी नज़र से"वियोगी होगा पहला कवि, हृदय से उपजा होगा गान।निकल कर नयनों से चुपचाप, बही होगी कविता अनजान।।"     आमतौर पर देखने में आया है कि जो महिलाएँ लेखन कर रही हैं उनमें से ज्यादातर चौके-चूल्हे और रसोई की बातों को ही अपने ब्लॉगपर लगाती... Read more
clicks 229 View   Vote 0 Like   12:19pm 10 Jul 2016 #समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
भगवान बुद्ध ने लोगों को मध्यम मार्ग का उपदेश किया। उन्होंने दुःख, उसके कारण और निवारण के लिए अष्टांगिक मार्ग सुझाया। उन्होंने अहिंसा पर बहुत जोर दिया है। उन्होंने यज्ञ और पशु-बलि की निंदा की। बुद्ध के उपदेशों का सार इस प्रकार है -·         सम्यक ज्ञानबुद्... Read more
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
      कल जैसे ही इण्डरनेट खोला तो अविनाश वाचस्पति के निधन का दुखद समाचार पढ़ने को मिला। अविनाश जी से मेरे एक आत्मीय मित्र के सम्बन्ध थे। आघात सा लगा यह हृदयविदारक सूचना पढ़कर।     अविनाश वाचस्पति दसियों साल से हैपेटाइटिस-बी रोग की समस्या जूझ रहे थे। वह इस रोग से ... Read more
clicks 335 View   Vote 0 Like   11:22am 9 Feb 2016 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
साधना वैद की साधना“सम्वेदना की नम धरा पर”    जिसको मन मिला है एक कवयित्री का, वो सम्वेदना की प्रतिमूर्ति तो एक कुशल गृहणी ही हो सकती है। ऐसी प्रतिभाशालिनी कवयित्री का नाम है साधना वैद। जिनकी साहित्य निष्ठा देखकर मुझे प्रकृति के सुकुमार चितेरे श्री सुमित्रान... Read more
clicks 348 View   Vote 0 Like   10:42am 4 Jan 2016 #सम्वेदना की नम धरा पर
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मित्रों।कवि देवदत्त "प्रसून"आज हमारे बीच नहीं हैं।लेकिन उनका साहित्य अमर रहेगा।--गत वर्ष 25 नवम्बर, 2014 को मेेरे अभिन्न मित्रदेवदत्त प्रसूनका अचानक देहान्त हो गया था। -- कल 19 सितम्बर, 2015 को सायं 4 बजे से मेरे एम.ए. के साथी और अभिन्न मित्र स्व. देवदत्त प्रसून की पुस्तक "झरी नीम ... Read more
clicks 313 View   Vote 0 Like   12:21pm 18 Sep 2015 #डोर तुम्हारे हाथों में
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
खटीमा (उत्तराखण्ड)दूध में पानी मिलाने का अद्भुत् तरीका।सहकारी दुग्ध संघ चम्पावत के कर्मचारियों द्वारासरे आम बर्फ की 10 सिल्लियों को दूद के टैंकर में डाला जा रहा है।इसके दो फायदे हैं -पहला तो यह कि दूध खराब नहीं होगा।और दूसरा यह कि 7-8 कुन्टल पानी दूध में मिलाकर उसको द... Read more
clicks 341 View   Vote 0 Like   4:38am 24 Jul 2015 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
अमर वीरांगना झाँसी की महारानी लक्ष्मीबाई की157वीं पुण्यतिथि पर उन्हें अपने श्रद्धासुमन समर्पित करते हुएश्रीमती सुभद्राकुमारी चौहान कीयह अमर कविता सम्पूर्णरूप में प्रस्तुत कर रहा हूँ!सिंहासन हिल उठे, राजवंशों ने भृकुटि तानी थी,बूढ़े भारत में भी आई फिर से नई ... Read more
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
हिन्दी के उन्नायकजयशंकर प्रसाद"हिमाद्रि तुंग श्रृंग से प्रबुद्ध शुद्ध भारतीस्वयंप्रभा समुज्जवला स्वतंत्रता पुकारतीअमर्त्य वीर पुत्र हो, दृढ़-प्रतिज्ञ सोच लोप्रशस्त पुण्य पंथ हैं - बढ़े चलो बढ़े चलोअसंख्य कीर्ति-रश्मियाँ विकीर्ण दिव्य दाह-सीसपूत मातृभूमि के... Read more
clicks 301 View   Vote 0 Like   6:08am 30 May 2015 #व्यक्तित्व और कृतित्व
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
खटीमा (उत्तराखण्ड) 29 मार्च, 2015      आज दिनांक 29 मार्च, 2015 सोमवार को स्थानीय लेखक बलबीर कुमार अग्रवाल की दो पुस्तकों "इतिहास थारू-बुक्सा जनजातियों का अन्वेषण ग्रन्थ भाग-1"और "इतिहास थारू-बुक्सा जनजातियों का अन्वेषण ग्रन्थ भाग-2"का विमोचन उत्तराखण्ड सरकार के राजस्व मन्त्... Read more
clicks 343 View   Vote 0 Like   10:58am 29 Mar 2015 #पुस्तक विमोचन
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
बरसात से पूर्व घर में कुछ छुट-पुट मरम्मत का कार्य करवाना था। एक अदद राज मिस्त्री और दो मजदूरों की जरूरत थी। इन्हें लाने के लिए चौराहे पर गया। 500 रु0 प्रतिदिन मजदूरी के हिसाब से राज-मिस्त्री तो मिल गया।अब मजदूर खोजने लगे। 2-4 लोगों से कहा कि मजदूरी पर चलोगे।उन्होंने पूछा-... Read more
clicks 357 View   Vote 0 Like   12:32pm 1 Jan 2015 #लघुकथा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आज मेरा सैमसंग गैलैक्सी एस-4 मोबाइल चोरी हो गया।हुआ यों कि मैं 3बजे घर के नीचे बने अपने ऑफिस से ऊपर घर में चाय पीने आया था। मोबाइल टेबिल पर ही छूट गया था। ऐसा अक्सर कभी-कभी हो जाता था।    लेकिन जब मैं 3-20 पर ऑफिस आया तो मोबाइल वहाँ नहीं था। कॉल करके देखा तो मोबाइल स्... Read more
clicks 332 View   Vote 0 Like   4:28pm 9 Dec 2014 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
जयप्रकाश चतुर्वेदी का महाकाव्य"शकुन्तला-महाकाव्य”         लगभग एक वर्ष पूर्व जयप्रकाश चतुर्वेदी का महाकाव्यसंकलन मुझे प्राप्त हुआ। लेकिनव्यस्तता के कारण इस पुस्तक के बारे में कुछ लिख ही नहीं पाया। आज जब अपनी बुकसैल्फ इस पुस्तक पर नज़र पड़ी तो सोचा कि सारे काम... Read more
clicks 371 View   Vote 0 Like   4:45am 18 Nov 2014 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--कणिकाएँ---१-ब्लॉगिंग के सम्बन्ध एक क्लिक में शुरू एक क्लिक में बन्द-२-टूटी पतवार बीत मझधार कैसे जाएँ पार-३-तिनकों का घर खुला दर बाज़ की नजर-४-जीवन संसारचलना लगातारजैसे नदिया की धार-५-सहता है धूप,साधू का रूपसभी को भाया... Read more
clicks 339 View   Vote 0 Like   11:03am 4 Oct 2014 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--कणिकाएँ---१-नेट के सम्बन्ध एक क्लिक में शुरू एक क्लिक में बन्द-२-टूटी पतवार बीच मझधार कैसे जाएँ पार-३-तिनकों का घर खुला दर बाज़ की नजर-४-जीवन संसारचलना लगातारजैसे नदिया की धार-५-सहता है धूप,साधू का रूपसभी को भाया... Read more
clicks 267 View   Vote 0 Like   11:03am 4 Oct 2014 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
खटीमा (उत्तराखण्ड) का पावर हाउस बह गया।--कर्मचारियों और अधिकारियों की लापरवाही से दिनांक 31-08-2014 की रात को 2-30 AM पर उत्तराखण्ड खटीमा का सबसे पुराना पावर हाउस बह गया।जिसके कारण पूरा क्षेत्र अन्धकार में डूब गया है।--विदित हो कि लोहियाहेड पावरहाउस खटीमा से मात्र 5 किमी दू... Read more
clicks 366 View   Vote 0 Like   4:51pm 31 Aug 2014 #चित्रावली
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
      नैनीताल जनपद तथा आस-पास के क्षेत्र के सात्यिकारों को अखबारों से जब यह पता लगा कि बाबा नागार्जुन खटीमा आये हुए हैं तो मेरे तथा वाचस्पति जी के पास उनके फोन आने लगे।      हम लोगों ने भी सोचा कि बाबा के सम्मान में एक कवि-गोष्ठी ही कर ली जाये।(चित्र में-सनातन धर्... Read more
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मित्रों।फेस बुक पर मेरे मित्रों में एक श्री केवलराम भी हैं। उन्होंने मुझे चैटिंग में आग्रह किया कि उन्होंने एक ब्लॉगसेतु के नाम से एग्रीगेटर बनाया है। अतः आप उसमें अपने ब्लॉग जोड़ दीजिए। मैेने ब्लॉगसेतु का स्वागत किया और ब्लॉगसेतु में अपने ब्लॉग जोड़ने का प्रय... Read more
clicks 302 View   Vote 0 Like   5:33am 24 Jun 2014 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लोक उक्ति में कविता की भूमिका       कविता रावत ने कॉमर्स विषय से एम.कॉम. प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण किया है। वे घर-दफ्तर की जिम्मेदारी के साथ वर्ष 2009 से निरन्तर अपने ब्लॉग  www.kavitarawatbpl-blogspot-in  पर कविता, कहानी अथवा संस्मरण आदि के माध्यम से अपनी भावनाओं, विचार... Read more
clicks 343 View   Vote 0 Like   2:38pm 12 Jun 2014 #लोक उक्ति में कविता
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मर्मस्पर्शी हाइकुओं का संकलन है“शब्दों के पुल”    अभी एक सप्ताह पूर्व डॉ. सारिका मुकेश द्वारा रचित एक हाइकु संग्रह मिला, जिसका नाम था “शब्दों के पुल”। 83 रचनाओं से सुसज्जित 112 पृष्ठों की इस पुस्तक को जाह्नवी प्रकाशन, दिल्ली द्वारा प्रकाशित किया गया है। जिसका मूल... Read more
clicks 366 View   Vote 0 Like   11:46am 25 Jan 2014 #शब्दों के पुल
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आओ अभिनन्दन करें, नये साल का आज।श्रमिक-किसान-जवान से, जीवित देश समाज।१। --गुलदस्ते में सजे हैं, सुन्दर-सुन्दर फूल।सुमनों सा जीवन जियें, बैर-भाव को भूल।२। --शस्य-श्यामला धरा है, जीवन का आधार।आओ पौधों से करें, धरती का शृंगार।३। --जनमानस पर कर रहे, कोटि-कोटि अहसान... Read more
clicks 389 View   Vote 0 Like   9:21am 31 Dec 2013 #धरती का शृंगार
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
      बहुत दिनों से यह तकनीकी पोस्ट लगाने की सोच रहा था। मगर  समय नहीं निकाल पा रहा था। वैसे तो यह पोस्ट सभी ब्लॉगर्स की समस्याओं को ध्यान में रखकर लिख रहा हूँ। मगर विशेषतया उन साथियों के लिए है जो चर्चा मंच के चर्चाकार हैं या चर्चाकार बनने की कतार में हैं।       ... Read more
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहरों का सरगम है"पानी पर लकीरें"-0-0-0-   आभासी दुनिया में कुछ ऐसे सम्बन्ध बन जाते हैं, जिनके आभास की महक से मन गद-गद हो जाता है। डॉ. सारिका मुकेश उनमें से एक हैं जो मुझे प्यार से चाचाजी कहती हैं। कुछ समय पूर्व इन्होंने मुझे अपने काव्यसंकलन "पानी पर लकीरें"की प्रति डाक ... Read more
clicks 371 View   Vote 0 Like   12:52pm 30 Aug 2013 #पुस्तक समीक्षा
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post