POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: चर्चामंच

Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। बदलते मौसम से बेख़बर न रहिए,हालात के तूफ़ान से बेअसर न रहिए। #रवीन्द्र_सिंह-यादव  आइए पढ़ते हैं विभिन्न ब्लॉग्स पर प्रकाशित कुछ रचनाएँ---गीत "मौसम ने ली है अँगड़ाई" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)पवन... Read more
clicks 11 View   Vote 0 Like   6:31pm 28 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 मित्रोंं!रविवार की चर्चा में आपका स्वागत है।देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।--गीत "गाता है ऋतुराज तराने" वासन्ती मौसम आया है,प्रीत और मनुहार का।गाता है ऋतुराज तराने,बहती हुई बयार का।।--पंख हिलाती तितली आयी,भँवरे गुंजन करते हैं,खेतों में कंचन पसरा है,हिरन कुलाँचे भरते ... Read more
clicks 22 View   Vote 0 Like   6:31pm 27 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 शीर्षक पंक्ति: राष्ट्रकवि कविवर मैथलीशरण गुप्त जी। सादर अभिवादन। शनिवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।राष्ट्रकवि कविवर मैथलीशरण गुप्त जी ने नैराश्य से उबारने और रग-रग में उमंग और उत्साह भरने में उनका रचा एक काव्यांश पढ़िए-"करकेविधिवादनखेदकरो,निजलक्ष्यन... Read more
clicks 23 View   Vote 0 Like   6:31pm 26 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन ! शुक्रवार की प्रस्तुति में आप सभी विज्ञजनों का पटल पर हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन !आज की चर्चा प्रस्तुति का शीर्षक आदरणीया अनीता सैनी जी के सृजन "ऋतु वसन्त"से लिया गया है । --आइए अब बढ़ते हैं अद्यतन सूत्रों की ओर ---आँसू यही बताते हैं,-डॉ.रूपचन्द्र शास्त्र... Read more
clicks 22 View   Vote 0 Like   6:31pm 25 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 शीर्षक पंक्ति: आदरणीया कुसुम कोठारी जी की रचना से। सादर अभिवादन। गुरुवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।आज भूमिका में वरिष्ठ साहित्यकार आदरणीया कुसुम कोठारी जी की रचना का काव्यांश-छुपा है पर्दो में कितने, जाने क्या राज़ गहरा होगा।अब्र के छंटते ही बेनकाब, ... Read more
clicks 39 View   Vote 0 Like   6:31pm 24 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 मित्रों!बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।--24 फरवरी का दिन देश के इतिहास में एक बड़ी हिंसक घटना के साथ दर्ज है। साल 1983 असम में फैली नस्ली हिंसा का सबसे बुरा दौर रहा। असम की इस हिंसा का मुख्य कारण 'बाहरी घुसपैठ'को माना जाता है। असम के मूल निवासियों का आरोप है कि बंगाल और ब... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   6:31pm 23 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है (शीर्षक और भूमिका आदरणीय यशवन्त माथुर जी की रचना से )'धारयति इति धर्मः'- जिसे धारण किया जाए वही धर्म है अच्छे कर्म करना ही जीवन का मर्म है। धर्म के सही अर्थ को समझते हुए और उसे अपने जीवन में धारण ... Read more
clicks 55 View   Vote 0 Like   6:32pm 22 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 मित्रों!मेरा चर्चा का दिन बुधवार और रविवार होता है।किन्तु कल अपरिहार्य कारणों से अपनी प्रस्तुति नहीं दे सका था।अनीता सैनी 'दीप्ति'जी का आभारी हूँ,कल रविवार की चर्चा लगाने के लिए।--साथी शीतल झरना झरे प्रीत काबहता अनुराग हूँ साथीसींचू सुमन समर्पण से कभी न बग़िया... Read more
clicks 31 View   Vote 0 Like   6:31pm 21 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 शीर्षक पंक्ति: आदरणीया कविता रावत जी । सादर अभिवादन। रविवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।आज भूमिका में वरिष्ठ साहित्यकार आदरणीया कविता रावत जी की रचना से वाक्यांश- चिरकाल से लड़कों को घर का चिराग माना जाता है, लेकिन मैं समझती हूँ कि यदि उन्ह... Read more
clicks 43 View   Vote 0 Like   6:31pm 20 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 शीर्षक पंक्ति: आदरणीया गिरिजा कुलश्रेष्ठ जीकी रचना से। सादर अभिवादन। शनिवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।आज भूमिका में वरिष्ठ साहित्यकार आदरणीया गिरिजा कुलश्रेष्ठ जी  की रचना का काव्यांश--भोर ने उतारी कुहासे की शाल अबगुलमोहर मुट्ठी भर लाया ... Read more
clicks 20 View   Vote 0 Like   6:31pm 19 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन ! शुक्रवार की प्रस्तुति में आप सभी विज्ञजनों का पटल पर हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन !आज की चर्चा का शीर्षक आदरणीया कुसुम कोठारी जी  की गीतिका "जीवन यही है"से लिया गया है ।--- इसी के साथ बढ़ते हैं अद्यतन सूत्रों की ओर---मोहक रूप बसन्ती छाया"(डॉ.रूपचन्द्र शास्... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   6:31pm 18 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत हैएक समय था, जब कभी किसी चीज के भाव बढ़ते थे, तो विपक्ष खूब हो-हल्ला करता था, मीडिया भी उनको बढ़-चढ़कर दिखाता था, लेकिन इन दिनों पैट्रोल, डीजल, गैस आदि के भाव जिस गति से बढ़ रहे हैं, वैसी गति से कभी नहीं बढे, लेकिन इतनी चुप्पी भी कभी नहीं रही| म... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   6:30pm 17 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 मित्रों।माता शारदे की आप सब पर कृपा बनी रहे।बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।देखिए कुछ ब्लॉगों के अद्यतन लिंक।--गीत  "बज उठी वीणा मधुर"  खिल उठा सारा चमन,दिन आ गये हैं प्यार के।रीझने के खीझने के,प्रीत और मनुहार के।। --कचनार की कच्ची कली भी,मस्त हो बल खा रही,हँ... Read more
clicks 75 View   Vote 0 Like   6:31pm 16 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है (शीर्षक और भूमिका आदरणीय शास्त्री सर जी की रचना से )जिन देवी की कृपा हुई है,उनका करता हूँ वन्दन।सरस्वती माता का करता,कोटि-कोटि हूँ अभिनन्दन।।आप सभी को बसंत-पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं माँ सरस्वती क... Read more
clicks 23 View   Vote 0 Like   6:32pm 15 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। प्रस्तुत हैं विभिन्न ब्लॉग्स पर प्रकाशित कुछ रचनाएँ---दोहे "मातृ पितृ पूजन दिवस" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')मात-पिता के चरण छू, प्रभु का करना ध्यान।कभी न इनका कीजिए, जीवन में अपमान।१।--वासन्ती मौसम हुआ, काम ... Read more
clicks 22 View   Vote 0 Like   6:31pm 14 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
१४  फरवरी दुनियाभर में प्रेमी–प्रेमिका, प्रेम और प्रेम करने वालों के लिए प्रणय दिवस के रूप में मनाया जाता है।वैलेन्टाइन-डे का इतिहास जिसे लोग प्यार का त्यौहार मानकर सेलिब्रेट करते हैं। भारत में लोग अपने पार्टनर को तोहफे, चॉकलेट आदि देकर प्यार का जश्न मनाते हैं. ले... Read more
clicks 49 View   Vote 0 Like   6:31pm 13 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 शीर्षक पंक्ति: आदरणीया अँजना जी की रचना से। सादर अभिवादन। शनिवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।आज भूमिका में वरिष्ठ साहित्यकार आदरणीया अँजना जी की रचना का काव्यांश--जंगो से तबाह शहरों को देखो, बिखरी हुई इमारतों को देखो,  सूनी बद... Read more
clicks 47 View   Vote 0 Like   6:31pm 12 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन ! शुक्रवार की प्रस्तुति में आप सभी प्रबुद्धजनों का पटल पर हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन ! चर्चा प्रस्तुति का शीर्षक चयन - आदरणीय डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'जी के नवगीत से किया गया है ।-- बढ़ते हैं आज की चर्चा के चयनित सूत्रों की ओर -नवगीत -दिखावा हटाओ, जिय... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   6:31pm 11 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है ये दिन प्रेम सप्ताह के हैं| एक तरफ़ युवा इनका इन्तजार करते हैं, तो दूसरी तरफ़ पारम्परिक सोच वाले इसके घोर विरोधी हैं| वैसे प्यार के लिए जितनी बड़ी-बड़ी बातें कविताओं में होती हैं, जिंदगी में सभी इसके प्रति इतने उदार नहीं होते| खासकर ... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   7:00pm 10 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।--दोहे "चॉकलेट देकर नहीं, उगता दिल में प्यार"--भोली चिड़ियों के लिए, लाये नये रिवाज़।चॉकलेट को चोंच में, लेकर आये बाज़।।--रंग पश्चिमी ढंग का, अपना रहा समाज। देते मीठी गोलियाँ, मित्रों को सब आज।।उच्चारण  --समझ का सेहरा ”आ... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   6:31pm 9 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 सादर अभिवादन आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है (शीर्षक और भूमिका आदरणीय शास्त्री सर जी की रचना से )"ऋतुओं का राजा हमें, देता है सन्देश।दिल से सच्चे मिलन का, उपजाओ परिवेश।।--छोड़ो ढोंग-ढकोसले, तजो पश्चिमी रीत।अमर हमेशा जो रहे, वो होती है प्र... Read more
clicks 64 View   Vote 0 Like   6:31pm 8 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 रविवार की चर्चा में आपका स्वागत है।--मित्रों! आज से पश्चिम का प्रणय सप्ताह शुरू हो रहा है।--"पश्चिम की है सभ्यता, थोड़े दिन का प्यार" शुरू हो रहा आज से, विश्व प्रणय सप्ताह।लेकिन मौसम कर रहा, सब अरमान तबाह।।--बारिश-कुहरे से घिरा, पूरा उत्तर देश।नहीं बना मधुमास में, बास... Read more
clicks 21 View   Vote 0 Like   6:31pm 6 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 शीर्षक पंक्ति: आदरणीया कुसुम कोठारी जी की रचना से। सादर अभिवादन। शनिवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।आज भूमिका में वरिष्ठ साहित्यकार आदरणीया कुसुम कोठारी जी की रचना का काव्यांश-तन बसंती मन बसंती  और बसंती बयार धानी चुनरओढ़ के धरा का पुलकित गात स... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   6:31pm 5 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन ! शुक्रवार की प्रस्तुति में आप सभी विज्ञजनों का पटल पर हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन !आज की चर्चा प्रस्तुति का शीर्षक चयन - आदरणीया डॉ. वर्षा सिंह जी की ग़ज़ल से ।--प्रस्तुत हैं आज के चयनित लिंक्स व रचनाकारों के सृजन की झलकियां-उसूल बाँटता रहा- डॉ.रूपचन्द्र शा... Read more
clicks 52 View   Vote 0 Like   6:31pm 4 Feb 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
चर्चा का शीर्षक चयन- आदरणीय डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री जी। सादर अभिवादन।  गुरुवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।आज वरिष्ठ लेखक, ब्लॉगर, समाजसेवी, साहित्यसेवी आदरणीय डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'जी का आज जन्मदिवस है।आदरणीय शास्त्री जी को दीर्घायु की कामना के साथ चर्... Read more
clicks 24 View   Vote 0 Like   6:31pm 3 Feb 2021 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4019) कुल पोस्ट (193395)