Hamarivani.com

उच्चारण

सीमित है संसार में, पानी का भण्डार।व्यर्थ न नीर बहाइए, जल जीवन आधार।।किया किसी ने भी अगर, पानी को बेकार।हो जाओगे एक दिन, पानी को लाचार।।ओस चाटने से बुझे, नहीं किसी की प्यास।जीव-जन्तुओं के लिए, जल जीवन की आस।।गन्धहीन-बिन रंग का, पानी का है अंग।जिसके साथ मिलाइए, देता उसका र...
Tag :पानी को लाचार
  March 22, 2019, 8:36 am
होली तो होली हुई, छोड़ गयी सन्देश।भस्म बुराई हो गयी, बदल गया परिवेश।‍१।--पावन होली खेलकर, चले गये हैं ढंग।रंगों के त्यौहार के, अजब-ग़ज़ब थे रंग।२।-- जली होलिका आग में, बचा भक्त प्रहलाद।जीवन में सबके रहे, प्यार भरा उन्माद।३। --दहीबड़े-पापड़ सजे, खाया था मिष्ठान।रंग-गुल...
Tag :होलक का शुभदान
  March 21, 2019, 12:56 pm
कितने अच्छे लग रहे, होली के ये रंग।रंगों के त्यौहार में, नहीं मिलाना भंग।। रंगों का अब आ गया, मनभावन त्यौहार।रूठे सुजन मनाइए, करके यत्न हजार।।होली के त्यौहार में, बाँटो सबको प्यार।रंगों की बौछार से, निर्मल करो विकार।।बच्चों-बूढ़ों के लिए, रहना सदा उदार।रंग-अबीर-गुला...
Tag :होली का उपहारर
  March 21, 2019, 7:34 am
-0-0-0-0-0-होली में अच्छी लगे, रंगों की बौछार।सुन्दर, सुखद-ललाम है, होली का त्यौहार।।शीत विदा अब हो गया, चली बसन्त बयार।प्यार बाँटने आ गया, होली का त्यौहार।।पाना चाहो मान तो, करो शिष्ट व्यवहार।सीख सिखाता है यही, होली का त्यौहार।।रंगों के इस पर्व का, यह ही है उपहार।भेद-भाव को ...
Tag :रंगों की बौछार
  March 20, 2019, 8:12 am
जब-जब आती मस्त बयारें,तब-तब हम लहराते हैं।काँटों की पहरेदारी में,गीत खुशी के गाते हैं।।हमसे ही अनुराग-प्यार है,हमसे है मधुमास जुड़ा,हम संवाहक सम्बन्धों के,सबके मन को भाते हैं।काँटों की पहरेदारी में,गीत खुशी के गाते हैं।।स्वागत-अभिनन्दन हमसे है,हमीं बधाई देते हैं,कोम...
Tag :सबके मन को भाते हैं
  March 20, 2019, 5:00 am
बालगीत (होली)रंग-गुलाल साथ में लाया।होली का मौसम अब आया।पिचकारी फिर से आई हैं,बच्चों के मन को भाई हैं,तन-मन में आनन्द समाया।होली का मौसम अब आया।।गुझिया थाली में पसरी हैं,पकवानों की महक भरी हैं,मठरी ने मन को ललचाया।होली का मौसम अब आया।।बरफी की है शान निराली,भरी हुई है पू...
Tag :होली
  March 19, 2019, 7:37 am
गोवा से दिल्ली तलक, जिसकी थी पहचान।चला गया इहलोक से, जिन्दादिल इंसान।।तन पर सादा वस्त्र थे, मन में उच्च विचार।धन्य मनोहर पर्रिकर, नमन तुम्हें शत् बार।।भले रोग से तन हुआ, परिकर जी का पस्त।फिर भी अन्तिम समय तक, रहे कर्म में मस्त।।शब्दों के श्रद्धासुमन, मन के मृदु उद्ग...
Tag :
  March 18, 2019, 4:45 pm
क्रान्तिकारियों ने किया,  गोरों को हलकान।अँग्रेजों ने तब किया, भारत से प्रस्थान।।साजिश करके कर दिये, क्रान्तिदूत सब दूर।सत्ता पर काबिज हुए, कामचोर लंगूर।।हिन्दी के हैं पाँव में, अँगरेजी जंजीर।भाषणबाजी से बने, राजा और वजीर।।छलबल-धनबल बन गया, आज सब हथियार।साँठ-गाँठ...
Tag :दोहे
  March 17, 2019, 3:50 pm
आज इण्टरनेट परपाकिस्तान के कुछ शहरों के नजारे देख रहा था जहाँ खुली-खुली चौड़ी सड़कें थी बीच में जिवाइडर भी थे जिन पर बिजली के खम्बों बल्बों की दूधिया रौशनी जगमगा रही थी विशालकाय भवन थे गगनचुम्बी अट्टालिकायें थी नदियाँ थी, नहरें थीं नहरों पर बिजलीघर भी दिखाई दिये बा...
Tag :काश्..कोई मसीहा आये
  March 16, 2019, 10:55 am
जमानाडिजीटल हो गया हैदिखाई भी देता हैआज पैरों वालीरिक्शा की जगहई-रिक्शा आ गयी हैं...नगरपालिका मेंहाथ से खींचने वालीकूड़ाठेली की जगहस्वचालित कचरा लिफ्टरने ले ली है...लेकिनबैल तोबैल ही रहाइसकी किस्मतआज भी नहीं सँवरीगाड़ी कोजीवन भरखींचता रहा... भले ही आया होआधुनिक यु...
Tag :रिश्वत के दूत
  March 15, 2019, 8:32 am
जब अपनों के बीच में, मिलता है सम्मान।अपनी कीमत का तभी, होता है अनुमान।।चाहे देश-विदेश में, कितना हो सम्मान।लेकिन घर में मत रहो, बन करके मेहमान।।धन से तो होता नहीं, कोई भी श्रीमान।बनता है गुण-ज्ञान से, मानव यहाँ महान।।पढ़-लिखकर ज्ञानी बनो, सीखो जीवन मर्म।जानोगे तब ही...
Tag :होता है अनुमान
  March 14, 2019, 3:54 pm
प्राची का है जन्मदिन, छाया है उल्लास।देने शुभ आशीष को, अवसर आया खास।।जिसको करते है सभी, मन से प्यार-दुलार।उस पोती का जन्मदिन, लगता है त्यौहार।।होली की पिचकारियाँ, रंग, अबीर-गुलाल।जन्मदिवस सौगात ये, लाता है हर साल।।ले करके सद-भावना, वन में खिला पलाश।करते मंगल-कामना, धरा ...
Tag :दोहे
  March 13, 2019, 12:34 pm
रंग-बिरंगी पेंसिलें, बच्चों को बहुत लुभाती है।वो इनसे क,ख,ग, ए,बी,सी,डी भी लिखवाती हैं।।रेखाचित्र बनाना, इसके बिना असम्भव होता है।कला बनाना, केवल इससे ही सम्भव होता है।।गलती हो जाये तो, लेकर रबड़ तुरन्त मिटा डालो।गुणा-भाग करना चाहो तो, बस्ते में से इसे निकालो।।छोटी...
Tag :प्रकाशन
  March 12, 2019, 7:52 am
साहित्य की विधा"क्षणिका"    क्षणिका को जानने पहले यह जानना आवश्यक है कि क्षणिका क्या होती है? मेरे विचार से “क्षण की अनुभूति को चुटीले शब्दों में पिरोकर परोसना ही क्षणिका होती है। अर्थात् मन में उपजे गहन विचार को थोड़े से शब्दों में इस प्रकार बाँधना कि कलम से निकले...
Tag :साहित्य की विधा "क्षणिका"
  March 11, 2019, 11:42 am
खुला निमन्त्रण दे रहे, खिलते हुए पलाश।पश्चिम की ले सभ्यता, करो न और विनाश।।उच्चारण सुधरा नहीं, नहीं बना परिवेश।अँग्रेजी के जाल में, जकड़ा अपना देश।।लगे भूलने मनचले, हिन्दुस्तानी वेश।भौँडे कपड़े धार के, किया कलंकित देश।।सीमाओं को लाँघ कर, नग्न हुआ सिंगार।मोबाइल...
Tag :माँग रहे क्यों भीख
  March 10, 2019, 10:50 am
होता भगवा रंग पर, जिनको कभी गुमान।।सरेआम वो कर रहे, कद-पद का अपमान।।--नेता करते हरकतें, अब तो ऊल-जुलूल। सत्ता मद में चूर हो, गये आचरण भूल।। --अपने भारत देश में, कहाँ खो गया प्यार।बात-बात पर हो रहा, आपस में तकरार।।--भूल गये हैं लोग अब, ऋषियों के उपदेश। पोथी-पतरों में निहित,...
Tag :दोहे
  March 9, 2019, 8:06 am
जूता चलता देखकर, मोदी-योगी मौन।भगवा की सरकार में, फूट डालता कौन।।हैं जूते के सामने, जनसेवक लाचार।करते उनपर सांसद, जूतों की बौछार।।जूता चलता देखकर, हुए लोग आवाक।अनुशासित दल की बनी, खिल्ली और मजाक।।अहंकार का ऐसा चढ़ा, भूल गये औकात।अपनी ही जनसभा में, मचा रहे उत्पात।।सड़क...
Tag :जनसेवक लाचार
  March 8, 2019, 11:28 am
आया महिला दिवस तो, लगे चहकने बोल।एक दिवस के लिए सब, बजा रहे हैं ढोल।।--नारी नर की खान है, सब देते सन्देश।सिर्फ सुनाने के लिए, उनके हैं उपदेश।।--कहने भर को है यहाँ, महिलाओं का मान।रोज-रोज होता यहाँ, नारी का अपमान।।--कुछ महिलाएँ हैं अभी, दुनिया से अनजान।घर के बाहर नहीं ...
Tag :महिलाओं का मान
  March 7, 2019, 12:45 pm
बहुत मज़बूत बन्धन है, इसे कमजोर मत कहनाबँधी जो प्यार की डोरी, बहुत अनमोल वो गहनारिवाज़ों और रस्मों की, यहाँ परवाह है किसकोभले अवरोध कितने हों, नदी का काम है बहनाज़माने के सितम के सामने, सजदा नहीं करनामुकद्दर के थपेड़ों को, हमेशा प्यार से सहनाअमर है आत्माएँ जब, तो फिर क्य...
Tag :बसन्ती रूप है पहना
  March 6, 2019, 3:56 pm
वासन्ती मौसम में उपवन, खुल करके मुस्काया है।पौत्र प्रांजल ने आँगन को, खुशबू से महकाया है।।नेह नीर की पावन सरिता, मेरे मन मॆं बहती है,बीससाल से पाँच मार्च की, प्रबल प्रतीक्षा रहती है,मार्च मास सूनी बगिया में, खुशियाँ लेकर आया है।पौत्र प्रांजल ने आँगन को, खुशबू से महक...
Tag :जन्मदिन
  March 5, 2019, 8:33 pm
जितने ज्यादा आघात मिले,उतना ही साहस पाया है।मृदु मोम बावरे मन को अब,मैंने पाषाण बनाया है।।चिकनी-चुपड़ी सी बातों का,अब असर नहीं कोई होता,जिससे जल-प्लावन होता था,वो कब का सूख गया सोता,जो राग जगत ने है गाया,मैंने वो साज बजाया है,मृदु मोम बावरे मन को अब,मैंने पाषाण बनाया है।।...
Tag :दीमक ने पाँव जमाया है
  March 4, 2019, 7:59 am
बेर-बेल के पत्र ले, भक्त चले शिवधाम।गूँज रहा है भुवन में, शिव-शंकर का नाम।१।--शिव मन्दिर में ला रहे, भक्त आज उपहार।दर्शन करने के लिए, लम्बी लगी कतार।२।--पावन गंगा नीर से, करने शिव अभिषेक। काँवड़ लेकर आ गये, प्रभु के दास अनेक।३।--जंगल में खिलने लगा, सेमल और पलाश।हर-हर, बम-ब...
Tag :भक्त चले शिवधाम
  March 3, 2019, 10:38 am
बौरायें हैं सारे तरुवर, पहन सुमन के हार।मोह रहा है सबके मन को वासन्ती शृंगार।।गदराई है डाली-डाली,चारों ओर सजी हरियाली,कुहुक रही है कोयल काली, नीम-बेर-बेलों पर भी आया है नया निखार।मोह रहा है सबके मन को वासन्ती शृंगार।।हँसते गेहूँ, सरसों खिलती, तितली भी फू...
Tag :वासन्ती शृंगार
  March 2, 2019, 7:31 am
आँखों की कोटर में, जब खारे आँसू आते हैं।अन्तस में उपजी पीड़ा की, पूरी कथा सुनाते हैं।।धीर-वीर-गम्भीर, इन्हें चतुराई से पी लेते हैं,राज़ दबाकर सीने में, अपने लब को सी लेते हैं,पीड़ा को उपहार समझ, चुपचाप पीर सह जाते हैं।अन्तस में उपजी पीड़ा की, पूरी कथा सुनाते हैं।।चंचल मन ...
Tag :गीत
  March 1, 2019, 11:32 am
जब से जन्मा जगत में, पापी पाकिस्तान।साजिश तब से कर रहा, वो बन कर शैतान।।जब-जब पाकिस्तान ने, किया यहाँ उत्पात।तब-तब भारतवर्ष से, मिली उसे है मात।।बीते सत्तर साल में, हरदम रहा खिलाफ।ऐसे बेईमान को, कैसे कर दें माफ।।बात-चीत होगी तभी, जब होंगे दिल साफ। लेकिन होना चाहिए, सही-सह...
Tag :सक्षम भारतवर्ष
  February 28, 2019, 4:26 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3855) कुल पोस्ट (187400)