Hamarivani.com

मेरे गीत !

इस बार यूरोप यात्रा का संयोग गौरव की जर्मनी पोस्टिंग के कारण हुआ उसकी इच्छा थी कि पापा और माँ मेरे पास लम्बे समय आकर रहें सो पहली बार घर को लगभग ढाई महीने के लिए छोड़ने का फैसला किया पिछली पोस्ट पर मित्रों का अनुरोध था कि इस यात्रा का विवरण लिखूं सो यह पोस्ट आवश्यक हो गयी ...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :fun
  July 29, 2018, 10:37 am
ये रिश्ते जटिल हैं, समझना तो होगा !तुम्हें जानेमन अब बदलना तो होगा !उठो त्याग आलस , झुकाओ न नजरें भले मन ही मन,पर सुधरना तो होगा ! अगर जीना है आओ हंसकर खुले में शुरुआत में कुछ ,टहलना तो होगा !यही है समय ,छोड़ आसन सुखों का स्वयं स्वस्त्ययन काल रचना तो होगा !असंभव कहा...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :geet
  July 9, 2018, 9:20 am
सावधान -सतीश सक्सेना***********************कुछ वर्ष पहले के बेहद खूबसूरत चेहरे , चंद वर्षों में ही , बेडौल और भद्दे दिखने लगते हैं , बुरा हो उनके खैरख्वाहों की बजती तालियों और तोंद से नीचे बंधी बेल्ट का, जो उन्हें अहसास ही नहीं होने देतीं कि वे कितना कुछ खो चुके हैं !और बुरा हो उन बहानों ...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :आत्मविश्वास
  June 26, 2018, 9:16 am
आप कई वर्ष से वाक कर रहे हैं, आप कई वर्ष से जानवरों का दूध पी रहे हैं , आप बरसों से रोटी,दाल,सब्जी खारहे हैं , यह सब आपकी आदत का हिस्सा बन गयी हैं और उसी तरह से आपका शरीर भी बरसों से एक शक्ल अख्तियार कर चुका है और वजन टस से मस नहीं हो रहा तो मान लीजिये शरीर ने इन आदतों को स्वीकार ...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :इच्छाशक्ति
  June 20, 2018, 9:26 am
६ जून की पोस्ट पर भाई लकी सिंह के स्नेहिल प्रश्न के जवाब में यह पोस्ट लिखनी आवश्यक हो गयी है मुझे दुःख है कि अधिकतर लोग ध्यान से बिना समझे रनिंग शुरू करते हैं जबकि यह बेहद घातक सिद्ध हो सकता है अतः आज रनिंग से सम्बंधित कुछ ख़ास बातें , फायदे और संभावित नुकसान की भी चर्चा ...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :आत्मविश्वास
  June 12, 2018, 8:57 am
गिरिजा कुलश्रेष्ठएवं शशि शर्मा जी का सवाल है कि इम्यून सिस्टम को मजबूत कैसे करें ? इसके जवाब में आधुनिक सिस्टम और मेडिकल व्यवसाय के अनुसार वही टोटके बताये गए हैं जो हर मालदार आसामी को कहेजाते हैं जैसे खूब सारे फ्रूट्स , सब्जियां , मेवा , और प्रोटीन आदि खाइये और बीमारिय...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :आत्मविश्वास
  June 8, 2018, 7:45 am
रोज सवेरे वाक करके स्वस्थ रहने की ग़लतफ़हमी पालने वालों के लिए अरुण द्विवेदी की तल्ख़ टिप्पणी को ध्यान से पढ़ना चाहिए शायद वे अपनी गलती महसूस करें !"कई बूढ़े लोग दूध का पैकेट और सब्जी लाने को ही सवेरे की ब्रिस्क वाकिंग के मुगालते में जिये जा रहे है दो चार बार कंधे घुमाए हो गया...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :आत्मविश्वास
  June 6, 2018, 8:36 am
जाने कितने ही बार हमें, मौके पर शब्द नहीं मिलते !अहसाओं के आवेगों में जिह्वा को शब्द नहीं मिलते !तेरे बिन कैसे रह पाए ,कहने को लफ्ज़ नहीं मिलते !अरसे के बाद मिले जाना,इतने निशब्द,नहीं मिलते !उस दिन घंटों की बातें भी मिनटों में कैसे निपट गयीं  मिलने के क्षण में ज...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :geet
  May 27, 2018, 8:53 am
अब मुफ्त में सूरज को भी अच्छा नहीं कहते इस देश में अच्छे को ही अच्छा नहीं कहते !ध्रतराष्ट्र पुत्र बन गया सरदार , तभी से  झूठों को ही इस देश में झूठा नहीं कहते !बस्ती में जाहिलों की चोर डाकुओं को भी भगवा लिवास में कभी लुच्चा नहीं कहते !बच्चों को भूल पर तो माफ़ कर ही दें ...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :gazal
  May 23, 2018, 8:35 am
हम मुफ्त में सूरज को भी अच्छा नहीं कहते !इस देश में अच्छे को ही,अच्छा नहीं कहते !बच्चों को भूल पर तो माफ़ कर ही दें ,मगर कम उम्र,नर पिशाच को ,बच्चा नहीं कहते !आधार हिल रहा यहाँ  , बचपन से ,नशे में !इस पाशविक प्रवृत्ति को,कच्चा नहीं कहते !उस रात एक स्वप्न का , दम घोट चुका&n...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :gazal
  May 22, 2018, 12:48 pm
धन कमाने का मतलब आराम और ऐश की जिंदगी है इस विश्वास से बड़ी बेवकूफी मानव ने शायद ही कभी की होगी , साठ वर्ष इसी धारणा के साथ ऐश और आराम किया मगर भला हो रिटायरमेंट का जिसके कारण अपने विगत जीवन का आत्मावलोकन करते समय यह भयंकर बेवकूफी नज़र आ गयी अन्यथा मुझे याद है कि जब ...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :आत्मविश्वास
  May 18, 2018, 8:26 am
सुनी सुनाई खबरों पर,एतबार बदल लें !झूठी खबरों के सस्ते अखबार बदल लें !चलते, अहंकार की चाल,नज़र आती है !उनसे कहिये,चलने का अंदाज बदल लें !अगर कभी आ जाए ऊँट पहाड़ के नीचे   उंची गर्दन, नीची करके , चाल बदल ले !तीखी उनकी धार, नहीं दरबार सहेगा !चंवर बादशाही से ही,तलवार बदल लें !कोई...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :geet
  May 16, 2018, 9:53 am
घर कुटुंब की जिम्मेदारी क्या समझेंगे ?शक संशय में रिश्तेदारी,क्या समझेंगे ?पर निंदा ,उपहास में, रस तलाशने वाले व्यथित पिता की हिस्सेदारी क्या समझेंगे ?नन्हीं बच्ची, तिनके चुग्गा लाने निकली चिंतित माँ की चौकीदारी क्या समझेंगे ?सुंदरता में फंस कर ,कितने राजा डूबे धूर्त ...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :geet
  May 10, 2018, 3:13 pm
आज सुबह उठा तो लगा बाएं पैर में दर्द है, लग रहा था कि हड्डी में हेयर क्रैक हुआ है लंगड़ा कर टहलते हुए तय किया कि आज सिर्फ वाक पर जाऊंगा मगर जूते के अंदर मोजा नहीं मिला सो सोंचा कि पाँव में दर्द है सो क्यों न धीरे धीरे नंगे पैर टहला जाए और जिंदगी में पहली बार हम अपने घर से...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :आत्मविश्वास
  May 9, 2018, 7:55 am
बरसों से पड़े सुस्त शरीर के साथ जल्दबाजी न करें कायाकल्प एक दिन में नहीं हो सकता , शरीर की मांसपेशियों धीरे धीरे ही रूप बदलेंगी अगर जबरदस्ती करने की कोशिश की तब वे जख्मी हो सकती हैं और आपके लिए काफी दिन दर्द की शिकायत भी हो सकती है ! पहले साल की रनिंग सीखने में अक्सर ल...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :आत्मविश्वास
  May 5, 2018, 9:06 am
अधिकतर लोग दौड़ने को बेहद आसान मानते हैं जबकि हकीकत इसके बिलकुल उलट है ,यह शरीर को सिखाने के लिए सबसे जटिल एक्सरसाइज है जिसमें शरीर के बॉडी कोर में अवस्थित किडनी, पेन्क्रियास, लीवर ,आंतें , फेफड़े और हृदय जैसे महत्वपूर्ण अवयवों में लगातार कम्पन होता है साथ में स्किन, मांस...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :अनुरोध
  May 4, 2018, 10:21 am
अनुत्तरित हैं प्रश्न तुम्हारे कैसे तुमसे नजर मिलाऊंअसहज कष्ट उठाए तुमनेकैसे हंसकर उन्हें भुलाऊंयुगों युगों की पीड़ा लेेेकर पूंछ रही है नजर तुम्हारीमैं तो अबला रही शुरू सेतुम सबने, चूड़ी पहनाईं !हर दरवाजा जीतने वाला , इस दरवाजे हारा क्यों है।बचपन तेरी गोद में ...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :कविता
  April 30, 2018, 9:47 am
सुबह लेह की कड़ाके कि ठंड में होटल द्वारा दही परांठा ऑमलेट भारी नाश्ता खाते समय तो स्वादिष्ट लगता था मगर चलते समय हांफते हुए अपने ऊपर गुस्सा आता था ।लेह से लेक तक का रास्ता इनोवा द्वारा तय करने में लगभग 5 घंटे लगे थे, और बीच में 17586 फुट पर बने चांगला कैफे पर स्वादिष्ट चाय क...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :इच्छाशक्ति
  April 30, 2018, 7:35 am
@कमज़ोर आदमी हूँ। कोई संकल्प लेता भी हूँ तो कमज़ोर इच्छा शक्ति की वजह से बहुत जल्दी टूट जाता है। इसका इलाज बताइये ?7 अप्रैल को यह कमेंट पढ़कर अपने पुराने थके हुए दिन याद आ गए , दो वर्ष पूर्व कायाकल्प की शुरुआत में संकल्प पर-आज घुटने में अजीब सा दर्द है-कल रात देर से सोये थे सो आ...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :marathon
  April 10, 2018, 11:09 am
उम्र बढ़ने के साथ कमजोर होती शक्ति का अहसास सबसे पहले तब हुआ जब कुकिंग गैस के खाली सिलेंडर को उठाने में राइट हैंड बाइसेप्स टूट कर दो इंच नीचे लटक गया था ! पहली बार 50 वर्ष की उम्र में महसूस हुआ था कि अब मैं जवान नहीं रहा और इस विषय पर सोंचना शुरू किया था ! उस वक्त बॉडी में स्टेम...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :आत्मविश्वास
  April 7, 2018, 11:27 pm
तीन वर्ष पहले जब मैं रिटायर हुआ तब BMI इंडेक्स के अनुसार मैं खतरे के निशान से काफी ऊपर था , और शरीर एयर कण्डीशन्ड माहौल का इस कदर अभ्यस्त था कि बाहर निकलते ही पसीना आता था !अपने दो मंजिले ऑफिस की सीढ़ियां चढ़ने के बाद रुक कर खड़ा होना आवश्यक था सो अधिकतर सुबह की सीढियाँ धी...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :प्रौढ़ावस्था
  March 30, 2018, 8:28 am
शारीरिक मेहनत करना मजदूरों का काम है , समर्थ लोगों को खुद काम करने की आवश्यकता ही क्या है, यह धारणा और अपना काम करने में लज्जा महसूस करना ,शायद हमारी ज़हालत की सबसे बड़ी पहचान है ! प्रकृति ने हमारे शारीरिक अनुपात में, हाथ और पैरों को सबसे बड़ा हिस्सा दिया है जिसका हमने उपयोग क...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :इच्छाशक्ति
  March 29, 2018, 7:58 am
मेरे मित्रों में से अधिकतर साथी रनिंग करने का प्रयत्न करते हैं उनमें से अधिकतर कुछ दिन बाद रनिंग छोड़कर वाक करने लगते हैं या एक निश्चित दूरी के बाद आगे नहीं जा पाते ! अधिकतर का एक ही कारण है कि वे रनिंग में सीखने योग्य कुछ नहीं समझते, इसके अतिरिक्त बढ़ी उम्र का अतिरिक्त आत्...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :marathon
  March 28, 2018, 1:44 pm
कल मॉल में घूमते हुए एक नौजवानों के ग्रुप को देखा सबके हाथ में एक मशहूर ब्रांड ऑरेंज जूस का एक बड़ा गिलास था और उनमें कोई भी मित्र 90 kg से कम नहीं था !मुझे आश्चर्य है कि बहुत कम लोग जानते हैं कि इंसानों के भोजन में शुगर का कोई उपयोग नहीं और एक मजबूत व्यक्ति रोज सिर्फ 24 ग्राम शु...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :बुरी आदतें
  March 23, 2018, 7:15 pm
आस्था को  भी , ये खतरे तो उठाने होंगे !ढोंगियों के दिए  , वरदान भुलाने  होंगे  !रूप संतों का रखे , चोर उचक्के पूजे साधु सेवा से मिले पुण्य , भुलाने होंगे !झूठ के बीज को,जड़ से समाप्त करने को तीक्ष्ण अभिव्यक्ति को,खतरे भी उठाने होंगे !एक दिन आँख खुलेंगीं जरूर इन...
मेरे गीत !...
सतीश सक्सेना
Tag :geet
  March 22, 2018, 4:52 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3801) कुल पोस्ट (179769)