POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: लाईफ मज़ेदार...

Blogger: चन्दर मेहेर
एक बंदर शहर से जंगल लौट के आयाऔर सभी जानवरों को बताया कि शहर में चुनाव के माध्यम से राजा चुना जाता है इसी प्रकार जंगल के राजा का भी चुनाव किया जाना चाहिये। बंदर ने चुनाव के लिए सभी जानवरों को राजी भी कर लिया। जंगल में भी चुनाव हुये, बंदर भी चुनाव में खड़ा हुआ और जीत गया। ज... Read more
clicks 59 View   Vote 0 Like   4:35am 4 Aug 2018 #
Blogger: चन्दर मेहेर
एक बार हनुमानजी ने प्रभु श्रीराम से कहा कि अशोक वाटिका में जिस समय रावण क्रोध में भरकर तलवार लेकर सीता माँ को मारने के लिए दौड़ा, तब मुझे लगा कि इसकी तलवार छीन कर इसका सिर काट लेना चाहिये, किन्तु अगले ही क्षण मैंने देखा कि मंदोदरी ने रावण का हाथ पकड़ लिया, यह देखकर मैं गदग... Read more
clicks 61 View   Vote 0 Like   10:34am 16 Jun 2018 #
Blogger: चन्दर मेहेर
एक बार हनुमानजी ने प्रभु श्रीराम से कहा कि अशोक वाटिका में जिस समय रावण क्रोध में भरकर तलवार लेकर सीता माँ को मारने के लिए दौड़ा, तब मुझे लगा कि इसकी तलवार छीन कर इसका सिर काट लेना चाहिये, किन्तु अगले ही क्षण मैंने देखा कि मंदोदरी ने रावण का हाथ पकड़ लिया, यह देखकर मैं गदग... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   10:49am 15 Jun 2018 #
Blogger: चन्दर मेहेर
बड़े-बड़े ऋषि महर्षियों नें कर्म के सिद्धांत को अपने अपने ढंग से प्रतिपादित किया है. अभी कुछ दिन पूर्व एक ऐसी ही व्याख्या पढ़ने को मिली. इस निरूपण के अनुसार आम की बोई गई गुठली सदृश्य है गुणधर्म और सम्भावनाओं से परिपूर्ण एक इकाई की और इसे बोने का कार्य सदृश्य है किये गये कर्... Read more
clicks 136 View   Vote 0 Like   2:33pm 8 Jul 2017 #Moksha
Blogger: चन्दर मेहेर
एक सभा में घमासान मचा हुआ था कोई भी सदस्य किसी अन्य को सुनने के तैयार ही नहीं था. बस सब अपनी अपनी सुनाने में जुटे थे. सभा कोई भी दिशा नहीं पकड़ पा रही थी. सभा की यह दशा देख कर सभापति बहुत ही परेशान हो उठे. फिर उन्हें एक उपाय सूझा, उन्होंंने सभी सदस्यो को एक खेल खेलने के लिये रा... Read more
clicks 93 View   Vote 0 Like   4:09pm 27 Aug 2016 #Social Behaviour
Blogger: चन्दर मेहेर
 एक किसान का घोड़ा बीमार हो गया. वह उठ भी नहीं पा रहा था. किसान ने डॉक्टर बुलाया और घोड़े को दिखाया. डॉक्टर ने दवाई देते हुये कहा कि यह दवाई अगले तीन दिन तक घोड़े को खिलाईये देखते हैं इसे कितना फायदा होता है. अगर फायदा नहीं होता है तो फिर इसे मारना ही होगा नहीं तो इसका संक्रमण द... Read more
clicks 127 View   Vote 0 Like   2:55pm 19 Jun 2015 #
Blogger: चन्दर मेहेर
जब आप नौकरी पर पहली बार जाते हैं तो प्राम्भिक दिनों में आपका अधिकारी आपकी क्षमताओं का आकलन करता है. अधिकारी का भरोसा जीतें यह आपकी प्राथमिकता की सूची में पहला कार्य होना चाहिये. कोई न कोई ऐसे कार्य में आपकी कुशलता होने चाहिये कि जब भी उस कार्य की बात आये तो अधिकारी सिर्... Read more
clicks 129 View   Vote 0 Like   5:38pm 8 Sep 2014 #
Blogger: चन्दर मेहेर
सरकारी नौकरी से सेवानिवृत्त शर्माजी का लड़का अपनी पत्नी और दुधमुँहे बच्चे को ले कर घर छोड़ कर जा रहा था. शर्माजी ने अपने लड़के को मनाने की बहुत कोशिश की पर लड़के ने एक ना सुनी. पिता ने अपने प्यार का वास्ता देते हुये कहा ‘बेटा मैंने और तुम्हारी माँ ने कितने लाड़ प्यार से तुम्हे... Read more
clicks 131 View   Vote 0 Like   7:29am 16 Aug 2014 #
Blogger: चन्दर मेहेर
हमारे पिता के अभिन्न मित्र, रीवा विश्वविद्यालय के कुलपति, परम विद्वान राठौर अंकल घर पधारे हुए थे. उनके सानिध्यका भरपूरलाभ उठाने के इरादे से हमने उनसे पूछा की मेहेर बाबा अगर मौन न रख कर बोलते होतेतो हम कितना कुछ उनसे सीख पाते. यह बात सुनते ही राठौर अंकल ने यह घटना सुनाई... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   1:01pm 27 Aug 2012 #
Blogger: चन्दर मेहेर
द्रौपदी अपने सभी सगे सम्बन्धियों से निराश हो चुकी थीं कोई भी उनकी मदद को आगे नहीं आ रहा था. धृटराष्ट्र और भीष्मपितामह  जैसे आदरणीय पुरुष भी नहीं. सभी के पास अपने अपने कारण थे. बेबस द्रौपदी क्या करती. उसके पास अब सिर्फ एक ही सहारा रह गया था. अपने भाई कृष्ण का सहारा. द्रौपदी ... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   12:24pm 8 May 2011 #Krishna
Blogger: चन्दर मेहेर
अभी पिछले दिनों रीवा में आर्ट ओफ लिविंग का शिविर सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ. आज से दूसरा शिविर प्रारम्भ हुआ. तुषार गुरुजी शिविर के पहले दिन के समापन के बाद हमारे ऑफिस पधारे. समय पाकर सानिध्य हुआ. आपने दो साधुओं की बड़ी ही अच्छी कहानी सुनाई. मन करता है आप सब के साथ भी बाँटॆं-... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   2:59pm 26 Mar 2011 #Shri Shri Ravishankar Ji
Blogger: चन्दर मेहेर
आहार का प्रमुख कार्य भूख मिटाना तथा पौष्टिक तत्व प्रदान करना है. थोड़ी समझदारी तथा सावधानी पूर्वक भोजन पकाया जाये तो अधिक पोषक तत्व हमारे शरीर को प्राप्त होंगे. भोजन पकाने में निम्नलिखित सावधानियाँ बरतें:1.    उचित मात्रा में पानी लेकर दाल पकायें.2.            जिस पानी मे... Read more
clicks 131 View   Vote 0 Like   1:20pm 21 Dec 2010 #
Blogger: चन्दर मेहेर
संत शिरोमणि श्री 108 श्री विद्यासागर महारज जी कुछ दिनों पहले सागर (म.प्र.) में चल रहे जैन समाज के एक भव्य किंतु सादगी भरे अध्यात्मिक आयोजन “पंचकल्याणक” में संत शिरोमणि श्री 108 विद्यासागर महाराज के प्रवचन सुनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ. कर्मफल की व्याख्या करते हुये आपने कहा... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   2:44pm 24 Nov 2010 #
Blogger: चन्दर मेहेर
 बात चालीस के दशक की है, जब मेरे पिता प्रोफैसर सुरेन्द्र वर्मा आर्य, इलाहाबाद एग्रीकल्चरल इंस्टिट्युट में एग्रीकल्चरल इंजीनीयरिंग की डिग्री कर रहे थे. उस समय न्यू हॉस्टल एग्रीलल्चरल इंजीनीरिंग ... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   2:27pm 24 Aug 2010 #Allahabad Agricultural Institute
Blogger: चन्दर मेहेर
तीन युवा पेड़, आपस में दोस्त, एक जंगल में रहा करते थे. बहुत खुश अपने में मग्न. एक दिन एक पेड़ ने बाकी दोनों से पूछा कि तुम दोनों के क्या सपने हैं? पहले ने कहा कि मेरा सपना है कि जब मुझे काटा जाये तो मुझसे एक खजाने का बक्स बनाया जाये जिसमें शहंशाओं, बादशाहों,रानी महारानीओं के ... Read more
clicks 140 View   Vote 0 Like   3:40pm 16 Dec 2009 #Jesus
Blogger: चन्दर मेहेर
शादी के अवसर पर बड़ा जोश -ओ-खरोश का माहौल था. एक बिल्ली थी की मानने का नाम ही नहीं ले रही थी. मौका पा कर बार-बार दूध-दही की ओर लपक रही थी. परेशान हो कर घर के ही एक ज़िम्मेदार सदस्य ने बिल्ली को पकड़ कर उसके चारों पैर बाँध दिये. शादी धूम धाम से सम्पन्न हुई. बाद में इस बिल्ली के भी हाथ ... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   1:37pm 16 Nov 2009 #Learnings
Blogger: चन्दर मेहेर
+2-1=+1 (पुनर्जन्म)-2+1= -1 (पुनर्जन्म)(+) + (-) = 0 (मुक्ति, मोक्ष, ईश्वर प्रप्ति) उपरोक्त समीकरण में धनाकत्मक चिन्ह सत्कर्मों का परिचायक है और ऋणात्मक चिन्ह दुष्कर्मों का परिचायक है. एक आम व्यक्ति अपने जीवन में सद्भाव से जो कर्म करता है वे सत्मकर्म और जो कर्म दुर्भाव से करते हैं वे दु... Read more
clicks 135 View   Vote 0 Like   3:49pm 12 Nov 2009 #Meher Baba
Blogger: चन्दर मेहेर
सदगुरु रामक़ृष्ण परमहंस जी “मेरी मर्ज़ी सर्वोपरी या खुदा की...”  प्रश्न का उत्तर देते हुए कहते हैं कि इस प्रश्न का जवाब खूँटी से बँधी गाय के उद्धारण से समझा जा सकता है. इंसान खूँटी में बँधी गाय के समान है. उसकी मर्ज़ी का दाय्ररा सिर्फ वहीँ तक है जितनी लम्बी रस्सी है. रस्सी की ... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   2:04pm 9 Nov 2009 #Meher Baba
Blogger: चन्दर मेहेर
एक दिन एक कुत्ता जंगल में रास्ता भूल गया। तभी उसने देखा, एक शेर उसकी तरफ बढ़ा आ रहा है। कुत्ते की जान सूख गई, उसने सोचा आज तो काम तमाम हुआ मेरा।   अचानक कुत्ते की निगाह सामने पड़ी सूखी हड्डियों पर पड़ी, देखते ही कुत्ते के मन में विचार कौंधा । उसने यूं जाहिर किया मानो शेर को ... Read more
clicks 123 View   Vote 0 Like   12:32pm 18 Oct 2009 #Panchatantra Stories
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3984) कुल पोस्ट (191504)