POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: कानपुर ब्लोगर्स असोसिएशन "Kanpur Bloggers Association"

Blogger: kanpurbloggers
तुम्हारी ज़ुल्फ़ से गिरती मेरे कंधे भिगोती है,बिना बादल बिना मौसम के ये बरसात कैसी है।सियाही ख़त्म होती है मगर पन्ने नही भरते,तुम्हे पाकर तुम्हे खोना कहानी बस ज़रा सी है।उधर होंटों पे पाबन्दी इधर अल्फाज रूठे से,हमारे बीच खामोशी की इक दीवार उठती है ।बना कर बाँध क्या करते न... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   8:54am 14 Nov 2018 #बादल
Blogger: kanpurbloggers
अबकी बारी सोच समझ करमित्रों बैलेट पर बटन दबाओ सोये रहे जो आज के दिन भीफिर तो पाँच साल पछताओगेहै देश बचाना अब तो जानोवोट की ताकत को पहचानोना घुसे सभा में पापी दरिन्देआज ही ये निश्चित कर डालोनही है दिन ये मौज करने कोघर मे बस खाली पडे रहने कोमत का मूल्य सबको समझाओमत केन्द्... Read more
clicks 239 View   Vote 0 Like   7:04am 11 Feb 2017 #
Blogger: kanpurbloggers
a( matihindimasikblogspot.com): एक मात्र सत्य: कल तक इन वाणों  की नोकों से सहस्त्र -सहस्त्र शत्रु -सिर छेदे थे कल तक इस धनु  प्रत्यंचा से खींच शर लाखों लक्ष्य भेदे थे कितना अभिमा...... Read more
clicks 214 View   Vote 0 Like   11:41am 14 Aug 2016 #
Blogger: kanpurbloggers
   आज गणतंत्र दिवस है आप सबको बहुत- बहुत बधाई।  ..दिन चाहे कोई सा भी हो..  .हमें मिला हुआ आज़ादी का हर एक पल सिर्फ और सिर्फ उनके नाम...  जो देश की सुरक्षा के लिए अपने घर-परिवार से दूर , किसी लालच के बगैर,  अपने बुलंद हौसलों से विपरीत परिस्थितियों में भी  संघर्ष करते ह... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   6:23am 26 Jan 2016 #
Blogger: kanpurbloggers
जिंदगी की न टूटे लड़ी .......प्यार कर ले घडी दो घडीमशहूर गीतकार संतोष आनंद डॉ.कुवर बेचैन ऐसे ही कई साहित्य के सितारों के बीच मिला 'निराला सम्मान 2015'ने अभिभूत कर दिया. ये सम्मान मेरे लिए कई कारणों से महत्वपूर्ण था पहला कारण मेरे प्रिय गीतकार संतोष आनंद जी द्वारा दिया जाना दूसर... Read more
clicks 250 View   Vote 0 Like   5:53pm 3 Mar 2015 #
Blogger: kanpurbloggers
इस पोस्ट को पलाश पर भी आज शेयर किया है, किन्तु कानपुर के बारे में बात हो और काबा पर इसकी चर्चा ना हो कुछ अधूरा सा लगता है, सो यहाँ पर भी लिखने का एक मात्र उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा पाठ्कों को कानपुर के साहित्य की विशेषता से परिचित कराना है कानपुर का कनपुरिया, जिसकी पहचान... Read more
clicks 222 View   Vote 0 Like   4:08pm 15 Sep 2014 #साहित्य
Blogger: kanpurbloggers
कनपुरिया  साहित्यकारों  के बारे में खास बात यह है कि वे  पहले ठेठ फक्कड़  होते हैं बाद में रचनाकार। यही फक्कड़पन  उनकी रचनाधर्मिता का आधार है। कितना भी बड़ा साहित्यकार हो अगर कनपुरिया है तो दूर से ही अपनी ख़ास  हरकतों  और बोल बचन से पहचाना जा सकता है। पु... Read more
clicks 252 View   Vote 0 Like   6:15pm 6 Sep 2014 #
Blogger: kanpurbloggers
जहाँ  फिरंगियों को  पडी मुंह  की खानी है,ये कानपुर है भईया  यहाँ का कड़ा पानी है। सनेही जी की ये पंक्तियाँ कानपुर के साहित्यकारों के फक्कड़ स्वभाव को परिलक्षित करती हैं। हाजिरजवाबी और मस्त मौलापन  कानपुर की मौलिकता है। कानपुर के जितने भी साहित्य... Read more
clicks 254 View   Vote 0 Like   6:40am 4 Sep 2014 #
Blogger: kanpurbloggers
 कुछ  चीज  दूर  से  देखन  में  भली  होती  हैआग छूता है वहीँ जिसकी अंगुली न जली होती हैभटक जाता है  मुसाफिर  उस  गली  में  अक्सरजो   उसके    लिए   अनजान  गली   होती हैलोग   अक्सर  बहक  जाते  हैं  उन  बहारों  मेंजिन  बहारों  मे... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   7:16pm 10 May 2014 #
Blogger: kanpurbloggers
पीपुल अवेयरनेस फोरम द्वारा कराये गए एक  सर्वे के मुताबिक़ एनडीए को पूर्ण बहुमत के आसार दिख  रहे हैं। किये गए  सर्वेक्षण  के आधार पर  प्राप्त  निष्कर्ष  से एनडीए नीत  गठबंधन  को 283  सीटें  मिल  रही है। सांख्यिकीविद प्रो एन के शर्मा ने सर्वे को मानको क... Read more
clicks 221 View   Vote 0 Like   9:41am 25 Apr 2014 #
Blogger: kanpurbloggers
मतदान करे, देश निर्मांण करे,हो बूढे, महिला या फिर जवान, उंगली पे हो स्याही का निशानभारत विश्व का सबसे बडा लोकतांत्रिक देश है, और इस देश की चुनाव प्रक्रिया पर पूरे विश्व की निगाहें हैं। देश के हर नाग... Read more
clicks 215 View   Vote 0 Like   10:05am 14 Apr 2014 #
Blogger: kanpurbloggers
                     हम सैयद नगर , सुन्दर नगर , रोशन नगर , रावतपुर गाँव और मसवानपुर से जुड़े  इलाके में पिछले २४ साल से रह रहे हैं और जब यहाँ आये थे तब भी एक तरफ मुस्लिम बाहुल्य इलाका था और दूसरी और मिले जुले लोग रहते हैं और हम बड़ी शांति से रह रहे थे... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   8:50am 10 Apr 2014 #
Blogger: kanpurbloggers
1960 में हिप्पी आंदोलन का पश्चिमी संस्कृति पर गहरा प्रभाव पड़ा, संगीत, कला और युवा अमेरिकियों के हजारों युवा सैन फ्रांसिस्को में इकट्ठा हुये। हालांकि आंदोलन सैन फ्रांसिस्को में केन्द्रित था, पर प्रभाव दुनिया भर मे पड रहा था. ये हिप्पी आधुनिकता की वर्जनाओ को तोड कर 'फ्रे... Read more
clicks 184 View   Vote 0 Like   6:25am 5 Apr 2014 #भारत पुनर्निमाण दल
Blogger: kanpurbloggers
आहा लो भाई इस वर्ष भी होली का खुमार चढ़ा हुआ है सब पे।  पिछले वर्ष मैंने  दोस्त के द्वारा भाभी के रंग लगाने कि जद्दो जहद का वर्णन  था और उसके प्यारे परिणाम भी आपको याद ही होंगे पर  इस बार कि समस्या अति विकट  है , खुमार वुमार तो अपनी जगह है पर समस्या आ गयी है गोपिकाओं ... Read more
clicks 255 View   Vote 0 Like   11:13am 15 Mar 2014 #
Blogger: kanpurbloggers
"द्रुत झरो जगत के पीत पत्रहे ज़रा -जीर्ण हे शुष्क -शीर्णद्रुत झरो जगत के पीत पत्र "कविवर पन्त नें जब यह लिखा तब वे द्रुतगामी परिवर्तन की माँग कर रहे थे। उनकी परिवर्तन कविता तो हिन्दी काव्य साहित्य में एक मील का पत्थर है ही पर कविवर पन्त की चेतना जब सतत परिवर्तन की अनिवार्य... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   5:33am 25 Jan 2014 #
Blogger: kanpurbloggers
प्रेम  को समझना वस्तुतः जितना कठिन लगता है उतना है नहीं फिर भी ये बताना आवश्यक है कि  जो ये विचरता   हो कि प्रकृति का मूल प्रेम में है मेरी दृष्टि में वो भ्रम में जी रहा है। प्रकृति तो संघर्ष  के मूल पे चल रही है ,तो आप कहेंगे कि प्रेम कहा है ? उत्तर है कि संघर्ष का ... Read more
clicks 226 View   Vote 0 Like   6:43am 18 Jan 2014 #
Blogger: kanpurbloggers
ब्लॉग जगत के सभी मित्रो ,भाइयो ,बहनो को नव वर्ष कि हार्दिक शुभ कामनाएं।आशा करते है कि आने वाला वर्ष और भी अधिक प्रेरणा से युक्त ,विकास कि और अग्रसर एवं आनंददायी होगा।"नव वेला है ,नव प्रभात।प्रकति उत्सव, है चहक राग।आशा कि नव किरणे है बिखरी,श्रम ,ज्ञान का तू छेड़ तान।महक उठे... Read more
clicks 215 View   Vote 0 Like   2:53am 31 Dec 2013 #
Blogger: kanpurbloggers
मिला  दो   रंग  अपने  कुछ  इस  तरह कि, इंद्रधनुषी बन जाओ  तुम, गुजर  रही हो  दुनिया  जब गमो  कि बारिश ,  में ,मुस्कुराते नजर आओ तुम। हो नामुमकिन  कुछ तो मुमकिन , तुम  कर  दो। एक नयी उम्मीद फिर  आज़ सीने में,तुम  भर दो। बस चल दो तुम  , चल दो। एक नयी... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   7:03am 27 Nov 2013 #
Blogger: kanpurbloggers
आज के बच्चे ,बच्चे नही रहे ,सयाने हो गये है ...इस बात का कोई उल्टा -सुल्टा मतलब न निकालिये ,सच ,आज के बच्चे हमारी जेनरेशन के लोगों से बहुत ज्यादा समझदार ,जानकर हो गये है ...दस -बारह वर्ष कि उम्र से ही वे भविष्य के लिए फिक्रमंद होते नज़र आने लगे है ..आज के बच्चे हम से कही ज्यादा मेह... Read more
clicks 226 View   Vote 0 Like   10:54am 14 Nov 2013 #
Blogger: kanpurbloggers
सबसे पहले तो आप सभी लोगो को दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाये देना चाहूँगा , सबसे पहले इस लिए क्यों की कहते है ना की नीम की पाती गुड़ के साथ बहुत सरलता से  निगली जाती है।खैर अपनी बात को कहने के पूर्व थोडा सा इतिहास में जाना चाहूँगा . कहते है की भगवन राम के अयोध्या वापस आने प... Read more
clicks 251 View   Vote 0 Like   2:40am 2 Nov 2013 #bulb
Blogger: kanpurbloggers
कुछ दिन पहले कानपुर के लिए गीत लिखने का आमंत्रण जागरण समूह ने दिया था. मै जब कानपुर को महसूस करता हूँ तो यह शहर मुझे एक फक्कड़ और किसी के सामने कभी न झुकने वाले पौरुष और स्वाभिमान से भरे व्यक्ति के रूप में दिखता है जिसके अन्दर एक ममता से भरा ह्रदय है जो किसी को भूखा नहीं सो... Read more
clicks 352 View   Vote 0 Like   8:07am 23 Oct 2013 #
Blogger: kanpurbloggers
प्रेम क्या है ,अगर इस बहस में पड़ा जाये तो मै ही क्या कई लोग भी घंटो विचार के बाद अलग अलग निष्कर्ष पर  ही पहुचेंगे , पर   मै  जिस निष्कर्ष पर  पंहुचा सिर्फ उसकी बात करना चाहूँगा , मेरे विचार में प्रेम ईश्वर  द्वारा रचित कोई भाव नहीं अपितु स्वयं ईश्वर  ही है ,कुछ मित... Read more
clicks 251 View   Vote 0 Like   2:21am 2 Oct 2013 #
Blogger: kanpurbloggers
किनारों की जरुरत नहीं है मुझको ,  लहरों से हमको  वफ़ा  चाहिये।ख़ुशी की तो कोई तमन्ना नहीं अब,ग़मों में  ही हमको मजा चाहिए। मिलेगा कोई इस गैरे  महफ़िल में ,इसकी तो कोई आरजू ही नहीं,था कोई अपना कभी साथ अपने ,हमें तो उसके निशाँ चाहिए।किनारों की जरुरत नहीं है मुझको ,  लहरो... Read more
clicks 226 View   Vote 0 Like   8:21am 20 Sep 2013 #
Blogger: kanpurbloggers
14 सितम्बर में कानपुर के ’दैनिक हिन्दुस्तान ’ में कानपुर-उन्नाव के कुछ ब्लॉगरों का जिक्र हुआ। शीर्षक -शहर के ब्लॉगर्स चमका रहे दुनिया में’                                              sabhar "fursatiya"... Read more
clicks 250 View   Vote 0 Like   10:33am 19 Sep 2013 #
Blogger: kanpurbloggers
हौसलों के सहारे आसमा छूने की ललक है। ….आज मुझको फिर से कुछ पाने की तलब है। बुझ जाते है दिए ,हवा के झोको से।,कइयो को इस  बात  का भरम भी बहुत है। है  साथ अपने ,या गैर हो सभी। वक्त की वफाई  हमने भी  देखी  बहुत है। नाज है हमको  ,अपनी खताओ पर। गिर कर के रास्तो पे हमने सीखा ब... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   4:00am 8 Sep 2013 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4019) कुल पोस्ट (193765)