मेरे मन की

तू इधर-उधर मत देख,सीधे-सीधे चलता जा।इसकी -उसकी मत सुन,अपने दिल की करता जा।अगर इस जीवन में कुछ करने का , ठाना है।तो लक्ष्य को देख और आगे बढ़ता जा।सुखों को बांटता चल और दुखों को सहता जा।नदिया की तरह रह -निर्मल, और शांत बहता जा।ख़ुद व्यसनों से दूर रह ,और सबको कहता जा।गर आसमां...
मेरे मन की...
Tag :
  June 24, 2015, 6:33 am
आज का दिन मेरी मुठ्ठी में है ,किसने देखा कल ..... समय तू धीरे-धीरे चल .... सुन रही हूँ ये गीत ...... सोच रही हूँ..मुठ्ठी में से भी तो फ़िसल निकल भागता है दिन ....और ये समय किसकी सुनता है ...सुनी है किसी की इसने .... मैं तो कहती हूँ साथ ही ले चल ...पर नहीं ..... वो भी नहीं होता इससे ...... कभी तो आगे भाग ल...
मेरे मन की...
Tag :
  June 19, 2015, 6:32 am
शुभदिन...अब न रूको जल्दी जाओजाकर खुशियाँ साथ में लाओदिए है तुमने गहरे घावकुछ नासूर कौड़ी के भावउनकों हौले से मलहम लगानाटीस न उभरे ऐसे सहलानापड़े न किसी को यूं भरमानाजाते- जाते आंसू ले जानाऔर सुनो अब जब आनाख़ुशियों संग प्यार भी लाना .......-अर्चना...
मेरे मन की...
Tag :
  June 16, 2015, 5:46 am
हर कोई यहाँ बस ...तहस -नहस करना चाहता है ,हर कोई हर किसी से हर कहीं बस ,बहस करना चाहता है, कहीं कोई किसी से बिछड़ा तो बरबाद करना या बरबाद होना जानता है,हे ईश्वर !क्या ये तेरे ही बनाए इन्सान हैं,जिन्होंने  सति से तेरा विछोहऔर दक्ष से तेरा विद्रोह और नग्न द्...
मेरे मन की...
Tag :बस यूंही
  May 30, 2015, 12:38 am
आज गिरिजा दी ने आमंत्रित किया था ... पिछले हफ्ते ही पहली बार मिले ... और आज दूसरी बार...बहुत कुछ उनसे .सीखने को मिला ... उनकी धीमी आवाज को सुनते हुए महसूसा कि वाणी मेँ मिठास किसे कहते हैं ....और इनकी बनाई आलू कि कचोड़ी बहुत स्वादिष्ट थी ... धन्यवाद ...मेरे एक दिन को यादगार बनाने के ल...
मेरे मन की...
Tag :पॉडकास्ट
  May 28, 2015, 11:49 pm
मिष्टीएक कहानी अनुलता राज नायरके ब्लॉग -my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सीधा कनेक्शन....से--...
मेरे मन की...
Tag :पॉडकास्ट
  May 26, 2015, 4:55 pm
जब मायरा ने  माँ से सीखकर पुकारा -पापाऔर जब पुकारा -माँ...
मेरे मन की...
Tag :
  May 25, 2015, 7:12 pm
बेसन -भात ... छुट्टी स्पेशल डिश ...तुम्हारी पसंद .....सिर्फ इसलिए याद आई कि आज बनाया और आज छुट्टी है ...संडे ....संडे की तुम्हारी दिनचर्या याद आ गई .....सुबह जल्दी उठना और घूमने जाना .... आज स्पेशल इसलिए कि आज बच्चों की छुट्टी रहती थी इसलिए मुझे भी साथ घूमने जाना होता /पड़ता था क्यों कि दो...
मेरे मन की...
Tag :
  May 24, 2015, 6:59 pm
ले दे कर एक ही स्टेटस ऊपर आ रहा है मर गई वो अस्पताल के पलंग पर हीआखिर उठेंगे कब हमवो तो उठ भी गई होगी और मर तो हम भी जाएंगेकही...
मेरे मन की...
Tag :
  May 18, 2015, 10:05 pm
आज सुबह ६ बजे से ही तप रहे सूरज से एक विनती ...तप रही धरती बहुत ऐ! सूर्य क्यों इतना ताकते बादलों की खिड़कियों से थोडा छुप के क्यों न झांकते नन्हे पौधे कुम्हला रहे तुम्हारी किरणों के ताप में ओस की बुँदे बदल जाती सुबह ही भाप में इस धरा की ओर तुम देखो ज़रा सा प्या...
मेरे मन की...
Tag :प्रकृति
  May 15, 2015, 11:04 am
उड़ती चिड़िया को ओझल होते देखा...पलक झपकने का मौका नहीं देती और जा पहुँचती है शून्य मेंशून्य छोड़कर....उदास मन लेकरअनंत में ताक...
मेरे मन की...
Tag :
  May 10, 2015, 5:10 pm
ये तमाम उन महिलाओं की कहानी है,जो अब तक मुझे कहीं न कहीं टकराई है।इनके नाम सीता,राधा,पार्वती,अनुसुईया,गौतमी,सावित्री,मीरा दामिनी जैसे कुछ भी हो सकते हैं ....१)वो भले घर की लड़की,माता-पिता की लाड़ली,बड़ी हुई,शादी हुई,एक बेटी की माँ बनी ,फिर पति का अचानक एक्सीडेंट और सबकुछ तहस-नह...
मेरे मन की...
Tag :
  May 5, 2015, 2:23 pm
वो पडोस में बर्तन,झाडू-पोछा करके रोजी कमाती है , छोटी उम्र की ही है, उसके दो बच्चे हैं , पिछले माह की तनख्वाह मिली तो पति से छुपाकर रखी क्यों कि पति दारू पीता था  बस कुछ काम नहीं करता ... काम पर आई तो पति ने पैसे खोज लिये और इतनी दारू पी कि सोया तो उठा ही नहीं ... :-( .....अब भी वो काम पर...
मेरे मन की...
Tag :संस्मरण
  May 3, 2015, 2:58 pm
हर हाल में हम सुखों को बाँटें,करें दुखों का मिलकर दमन।जीवन जिसने दिया है हमको,उस विधाता को हमारा नमन।सुखों का मौसम,दुखों का मौसम,आए, आकर जाए।हर एक के, मन के आँगन में,सपनों को बिखराए।सुख आते तो, खिलती पाँखें,खुशी-खुशी सब मुस्काते।चेहरे सबके खिले-खिले से,मिलजुलकर सब हँसते...
मेरे मन की...
Tag :सीधी बात
  April 28, 2015, 8:17 pm
आज सुनिएआराधना "मुक्ति"के ब्लॉग ईचक दाना बीचक दाना  से उनकी लिखी एक कहानी शर्तप्लेअर पोस्ट नहीं कर पा रही थी ...आदरणीय अनुराग  जीकी मदद से ये हो पाया ..उन्होंने एडिटिंग भी की है ....आभारी हूँ उनकी ....सुनकर बताईयेगा कैसी लगी ... कहानी को कहानी की तरह सुनाने का पहला प्रयास है य...
मेरे मन की...
Tag :कहानी
  April 23, 2015, 7:12 am
कल सुबह-सुबह  फोन आया ,फोन बदल लेने से नम्बर सेव नहीं था ....नया नम्बर लगा ...फ़िर आदत से लाचार खुद फोन लगाया .... नमस्ते नितेश बोल रहा हूँ,....आवाज आई..नितेश उपाध्याय..-हाँ,हाँ पहचान लिया , नमस्ते ,बोलिए- मैडम , एक हेल्प चाहिए थी-जी, कहिए-वो क्या है कि हम एक टेलि फिल्म शूट कर रहे हैं ,उसम...
मेरे मन की...
Tag :
  April 18, 2015, 8:26 pm
यहाँ ऐसे -ऐसे लोग हैं जो ये मानते हैं -उनके पैरों की जूती भीनहीं हैं आप ...खुद पर विश्वास रखोमिलेगा वहीजो चाहते होबस! स्वार्थ न हो निस्वार्थ रहो सदाकरते चलो अपने कामबेझिझकबेहिसाबफिर वे ही लोग आपकी जूती में पैर डालने की कोशिश करते नज़र आएंगेआगे बढ़ने का रास्ताउ...
मेरे मन की...
Tag :
  April 18, 2015, 12:18 am
११/०४/२०१५.... और कुछ इस तरह उतर कर आई हमारी "मायरा"अपने जन्मदिन की पार्टी में .....
मेरे मन की...
Tag :
  April 15, 2015, 9:03 pm
* नोट :- पोस्ट को पाँच साल हो जाएंगे ६ अप्रेल २०१५ को ... थोड़े परिवर्तन के साथ फिर से पोस्ट किया है ... ....फ़्लैश बेक.... एक छोटी बच्ची ,करीब ४-५ साल उम्र की ........सुन्दर सा फ़्रॉक पह्ने हुए .......सुबह टिफिन लेकर ताँगे में बालमंदिर जाना......... साथियों के साथ खेलना , टिफिन खाना , नाचना ,कविता - कह...
मेरे मन की...
Tag :रिश्ते ---एक एहसास ----रूह से महसूस करो ---
  March 31, 2015, 3:57 pm
आज उसे ऑफिस में देखा ...चमकीली आँखे घुंघराले बाल थोड़े बिखरे से......चुपचाप बैठी थी सोफे पर अपनी मौसी के दुपट्टे का कोना पकड़े.....चे...
मेरे मन की...
Tag :
  March 28, 2015, 1:17 am
एक गज़ल गिरीश पंकज जी के ब्लॉग सद्भावना दर्पण से सुनिए  ------------------..............इनके बारे मे पढियेइस ब्लॉग पर..........
मेरे मन की...
Tag :गिरीश पंकज
  July 28, 2013, 10:26 pm
हाँ,दो बूँद गिरी  मेरे शहर में भीगी थी जिसमेंमैं,खुशबू बसी है अब भी वहीमहसूस कर जिसे  बन्द होती हैं पलकें मेरी......
मेरे मन की...
Tag :
  July 27, 2013, 10:40 am
अच्छे मित्रों का साथ रहे तो बहुत कुछ अच्छा-अच्छा सीख सकते हैं हम ---ऐसे ही एक मित्र बने  -आशीष राय मुलाकात तो कभी हुई नहीं, हाँ देखा जरूर हैं, उनको मैंने और मुझे उन्होंने ...लखनऊ जाना हुआ था मेरा ,(हाँ उसी परिकल्पना सम्मान समारोह में, जिसकी रपट लिखना बाकि है)..:-) पर मुझे बहुत अच्...
मेरे मन की...
Tag :अर्चना
  June 22, 2013, 5:00 am
 (वत्सल का लिया एक चित्र) अगर आपके बच्चे स्कूल जा रहे हों या जाने वाले हों तो कॄपया ध्यान दें .......सुनें बच्चों व आपके हित में जारी पॉडकास्ट आपके लिए...."बस यूँ ही".......अमित: से स्कूल कैसा हो -द्वितीय भाग  ...
मेरे मन की...
Tag :अमित श्रीवास्तव
  June 16, 2013, 11:16 am
1-जाने वो कैसे लोग थे ---2-बड़ी सूनी-सूनी है ---3-कोई लौटा दे मेरे बीते हुए दिन---...
मेरे मन की...
Tag :विडियो
  June 12, 2013, 9:37 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]
Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3398) कुल पोस्ट (138005)