POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Aseem Trivedi

Blogger: aseem
उलटा लटका तारों से मैं दुनिया देखूं तो कैसा होसपनों की रस्सी लटका कर झूला झूलूँ तो कैसा होबीते कल को आज में घोलूँपीकर मैं आकाश में डोलूँजूते गिर जाएँ जो मेरे, चल ना पाऊँ तो कैसा होअपना ही कार्टून बनाऊँजीभ निकालूँ उसे चिढ़ाऊंहँसते हँसते गिर जाऊं फिर, उठ ना पाऊँ तो कैसा ह... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   9:45pm 7 Jun 2013 #poetry
clicks 87 View   Vote 0 Like   10:40am 5 Jun 2013 #cartoons
clicks 161 View   Vote 0 Like   2:38pm 4 Jun 2013 #cartoons
Blogger: aseem
मैं इस बारे में विचार करना चाहता हूँ कि हिंसक क्रांतियां होती ही क्यों हैं. क्यों लोग आसानी से सर पर कफ़न बांधकर निकल पड़ते हैं मरने मारने के लिए. सोचना होगा कि उस हालात में उनके पास एक सहज जीवन की कितनी संभावनाएं बची होती हैं कितना भविष्य उपलब्ध होता है और जितना होता भी ... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   7:21pm 3 Jun 2013 #articles
Blogger: aseem
मैं इस बारे में विचार करना चाहता हूँ कि हिंसक क्रांतियां होती ही क्यों हैं. क्यों लोग आसानी से सर पर कफ़न बांधकर निकल पड़ते हैं मरने मारने के लिए. सोचना होगा कि उस हालात में उनके पास एक सहज जीवन की कितनी संभावनाएं बची होती हैं कितना भविष्य उपलब्ध होता है और जितना होता भी ... Read more
clicks 89 View   Vote 0 Like   7:21pm 3 Jun 2013 #
Blogger: aseem
धर्म, जाति, परम्परा, संस्कार और मर्यादा से मुक्ति की बात इसलिए ज़रूरी नहीं है कि ये बहुत बुरे हैं. इनमे कुछ बातें हितकर भी हो सकती हैं. पर इनका त्याग इसलिए ज़रूरी है कि इनके होते हमारी आँखें बंद हैं. हमारी दृष्टि निरपेक्ष है ही नहीं. हमने खुद फैसले लेना सीखा ही नहीं. न तो हम ... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   8:24pm 1 Jun 2013 #
Blogger: aseem
पता है आपसे इनता प्रेम क्यों है मुझे. क्योंकि आप में मैं अपना बचपन देखता हूँ. यकीन मानिए बचपन में मैं भी बिलकुल ऐसा ही था. मुझे लगता था मेरे पापा सबसे अच्छे हैं. मेरा घर सबसे बड़ा है, मेरा परिवार-खानदान सबसे महान है. मेरा शहर कानपुर बहुत महान शहर है. मुझे भी आपकी ही तरह अपने ... Read more
clicks 278 View   Vote 0 Like   10:01am 1 Jun 2013 #articles
Blogger: aseem
ऐसा धर्म बेकार है, जिसका कोई पालन ही नहीं करता. बस धारण कर लेता है. धारण किये किये घूमता रहता है. धारण करके रेप करता है, धारण करके लड़कियां छेड़ता है, धारण किये किये भ्रस्टाचार करता है, ज़रूरतमंद का हक मारता है, जाति पाती के नाम पर अत्याचार करता है. इंसानियत की भी बलि दे देता... Read more
clicks 93 View   Vote 0 Like   9:59am 1 Jun 2013 #articles
Blogger: aseem
धर्म, जाति, परम्परा, संस्कार और मर्यादा से मुक्ति की बात इसलिए ज़रूरी नहीं है कि ये बहुत बुरे हैं. इनमे कुछ बातें हितकर भी हो सकती हैं. पर इनका त्याग इसलिए ज़रूरी है कि इनके होते हमारी आँखें बंद हैं. हमारी दृष्टि निरपेक्ष है ही नहीं. हमने खुद फैसले लेना सीखा ही नहीं. न तो हम ... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   9:55am 1 Jun 2013 #articles
Blogger: aseem
मुझे हिन्दू होने पर गर्व है क्योंकि हिंदुओं के शरीर में बह रहा रक्त बाकी धर्म वालों के रक्त से ज्यादा लाल होता है, उसमे हीमोग्लोबिन भी अधिक मात्रा में पाया जाता है. इसलिए मैं भारत के हिन्दू राष्ट्र बन जाने का सपना देख रहा हूँ. मुझे अपने ब्राह्मण होने पर भी गर्व है क्योंक... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   9:51am 1 Jun 2013 #articles
Blogger: aseem
इस समय केरल में हूँ. आज यहाँ कुछ आर्ट गैलरीज़ देखीं. कई कलाकारों और उनकी कलाकृतियों से मुलाक़ात हुई. सीपीएम सांसद पी राजीव से भी एक कार्यक्रम के दौरान मिलना हुआ और इंटरनेट सेंसरशिप पर भी चर्चा हुई. पी राजीव पिछले साल ग्रीष्म कालीन सत्र के दौरान आई टी एक्ट की कुछ धाराओं क... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   9:45am 1 Jun 2013 #articles
Blogger: aseem
साथियों, बहुत से देशप्रेमी मुझे दूर दूर से फोन कर के बता रहे हैं कि मुझे फेसबुक पर अपडेट करना चाहिए कि मैं अफजाल गुरू की फांसी का समर्थन करता हूँ और इससे बहुत खुश हूँ. गनीमत है कि ये लोग मुझसे पार्टी नहीं मांग रहे हैं. नहीं तो अफजाल की तेरहवीं का खर्च भी मुझे ही उठाना पड़ता... Read more
clicks 99 View   Vote 0 Like   9:41am 1 Jun 2013 #articles
Blogger: aseem
मम्मी एकदिन अखबार में एक खबर पढकर हंस रही थीं. खबर थी, कांशीराम का मंदिर बनेगा. मैंने कहा, कांशीराम ने लोगों को हक दिलाने के लिए बड़ी लड़ाई लड़ी. सामाजिक समानता के लिए संघर्ष किया. तो उनका मंदिर बनाकर पूजा करने में क्या बुराई है. बोलीं, तो उनकी मूर्ती बनाकर पूजा करने से क्य... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   9:29am 1 Jun 2013 #articles
clicks 104 View   Vote 0 Like   8:34am 1 Jun 2013 #cartoons
clicks 118 View   Vote 0 Like   8:33am 1 Jun 2013 #cartoons
clicks 118 View   Vote 0 Like   8:29am 1 Jun 2013 #cartoons
clicks 102 View   Vote 0 Like   8:25am 1 Jun 2013 #cartoons
clicks 105 View   Vote 0 Like   8:18am 1 Jun 2013 #cartoons
Blogger: aseem
तुम तो क्रान्ति लाने निकले थेखाली हाथ वापस आ गएनहीं मिली क्यामुझे पता है तुम कहोगेकि तुमने पूरी कोशिश कीलेकिन सब सो रहे थेतो भाई जगाते लोगों कोक्रान्ति लाने की तो बड़ी बात करते थेफिर वही बातअब तुम कह रहे हो किवो बुरा मान रहे थे जगाने परतो तुमने क्या सोचा थातुमसे खुश ह... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   8:52pm 1 Apr 2013 #poetry
Blogger: aseem
जगजीत सिंह की एक नज़्म बहुत हिट थी.. बात निकलेगी तो दूर तलक जायेगी. भारत सरकार ने इसे बहुत गहरे से ले लिया और तय किया कि वो बात को निकलने ही नहीं देंगे. अब बात निकलेगी नहीं, आपके मुह में ही दब जायेगी. मुझे इस बात का एहसास तब हुआ जब अन्ना जी के अनशन के पहले ही दिन मुंबई पुलिस क्... Read more
clicks 237 View   Vote 1 Like   10:32pm 28 Mar 2013 #articles
Blogger: aseem
एकसर्वे के अनुसार भारत में तीन करोड़ अस्सी लाख लोग फेसबुक इस्तेमाल करते हैं और ट्विटर पर सक्रिय लोगों की संख्या करीब एक करोड़ बीस लाख है। प्रतिशत के हिसाब से देखें तो ट्विटर इस्तेमाल करने वालों की संख्या भारत की कुल जनसंख्या की महज एक प्रतिशत और फेसबुक इस्तेमाल करने ... Read more
clicks 145 View   Vote 1 Like   10:09pm 28 Mar 2013 #articles
Blogger: aseem
देखना फिर उगेगी रोशनी अंधेरे दरिया में सेजब हालातों की टक्कर से निकली चिंगारीउम्मीदों के सूखे हुए ढेर में जा गिरेगीऔर मातमी लहरों को चीरकरअपने लाल पंखों से उड़ पड़ेगी आकाश की ओरउमंग और जोश की एक चीख तोड़ देगीसदियों से पसरा सन्नाटाएक साथ टूटेंगी सारी जंग लगी सलाखेंआ... Read more
clicks 115 View   Vote 0 Like   9:58pm 28 Mar 2013 #poetry
clicks 119 View   Vote 0 Like   9:56pm 28 Mar 2013 #cartoons
Blogger: aseem
बस तुम हो और मैं हूँकिस्से हों बातें हों यादें होंथोड़ी खुशबुएँ, थोड़ी खुशियाँ, थोड़े सपने, थोड़ी रोशनी होसब थोड़ा थोड़ाथोड़ी कहानियाँ होंछोटे छोटे चुटकुले हो जायेंथोड़ी सी 'देर सुबह' की धुप भी होसब कुछ शांत हो, एक दम ठहरा हुआफिर पत्तों से कुछ आवाजें आयेंहमारे चलने की... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   9:42pm 28 Mar 2013 #poetry
Blogger: aseem
उनकी ज़िंदगी मौत से बदतर हो चली थीहवायें ज़हरीली थींहर सांस के साथ थोड़ी थोड़ी मौत उतर जाती थी सीनों मेंउनकी दुनिया अंधेरी थीसूरज थक कर सो गया था आसमान में कहींबुजुर्गों की कहानियों में उन्होंने उजाले के बारे में सुना थाउन्होंने आज़ादी के बारे में भी सुना थाउन्होंन... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   6:22am 27 Mar 2013 #poetry
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3941) कुल पोस्ट (195199)