Hamarivani.com

डायरी

 शब-ए-बारात के मौके पर मध्य दिल्ली में रात को हुडदंग मचाते बाइकर्सहाल ही में दिल्ली के समाचार पत्रों और अन्य समाचार माध्यमों में खबर प्रकाशित हुई कि रात को कुछ बाइकर्स ( बाइक चला कर स्टंट और करतब करते हुए हुडदंग मचाने वाले कुछ सिरफ़िर युवा ) गैंग ने दिल्ली की व्यस्त सडकों...
डायरी...
Tag :आज का मुद्दा
  June 29, 2013, 12:56 pm
 इस ग्राम यात्रामें जितना घूमना फ़िरना हुआ , उसमें कहीं कहीं विकास की गाडी को सरपट दौडते देखातो कहीं पर वो बिल्कुल थमी हुई सी दिखी। ऐसे ही एक पडाव पर फ़िर कुछ खुशी का एहसास तब हुआ जब अपने ग्राम के विद्यालय को देखने गया । पूरे गांव के बीचोंबीच इस मध्य विद्यालय की स्थापना वर...
डायरी...
Tag :कुछ भी कभी भी
  March 24, 2013, 12:22 pm
खबर सबर तो आप रोजिन्ना पढते ही होंगे फ़िर खबर पढ कर खूब कुढते ही होंगे , लेकिन हमारे खोपडे का हार्डवेयर थोडा सा अलग है सो खबर को पढते ही एकदम्म सन्नाट सा माथा में से उगता है ..जिससे कि ऊ टटका न्यूज़ टटका एवं टेस्टी न्यूज़ का फ़लेवर में आ जाता है , देखिए कईसे मेरे सब्र का इम्तहान ...
डायरी...
Tag :खबरनामा
  March 18, 2013, 7:19 pm
   दिल्ली बलात्कार कांड ने एक तरफ़ जहां चूलों तक हिल चुके इस समाज को झिंझोड कर रख दिया वहीं उसके बाद के घटनाक्रमों ने आम लोगों के सामने , सरकार , पुलिस ,कानून ,व प्रशासन के असली चरित्र को सामने रख दिया । मीडिया कवरेज के इस आधुनिक दौर में इस अपराध के रेशे रेशे तक को उधेड कर लोग...
डायरी...
Tag :आज का मुद्दा
  February 3, 2013, 6:11 pm
  अरिस्स साला , ई मक्खीचंद पाकिस्तान हमेशा ही नयका बवाल देता है,औकात इत्ती है कि ,सुप्रीम कोर्ट इनके PM का कान पकड के निकाल देता है,दुर इससे का वार्ता फ़ार्ता करना है जी , दू लात उसका सुप्रीम कोर्ट मारता है , दू लात का सहयोग हम लोग को भी करते रहना चाहिए जब तब । .संभल जाओ बे , खैरा...
डायरी...
Tag :खबरनामा
  January 26, 2013, 9:43 pm
  बीते हुए साल ने जाते जाते इस देश को जैसे आइना दिखा दिया । दिल्ली बलात्कार कांड ने इस देश को , इस समाज को , सरकार , प्रशासन , पुलिस , कानून और देश के जनप्रतिनिधियों तक को उनकी असलियत से रूबरू करा दिया । एक युवती जिसे , शहर के बीचों बीच , चलती हुई बस में हैवान बने कुछ इंसानों ने म...
डायरी...
Tag :आज का मुद्दा
  January 25, 2013, 7:58 pm
ग्राम्य सीरीज़ , एक , दो , तीनऔर चार में आप मेरी इस बार की ग्राम यात्रा के बारे में काफ़ी कुछ पढ देख और सुन चुके हैं । पहले ही बता चुका हूं कि इस बार फ़ुर्सत ही फ़ुर्सत थी सो पूरे दिन कहीं घूम घूम कर उस जगह जा जायज़ा लेने का ही एक नियमित कार्यक्रम सा बन गया था । इस बार मैं तमाम उन जगह...
डायरी...
Tag :झा जी कहिन
  January 20, 2013, 10:45 pm
 फ़ेसबुक पर हमारे मित्र , कमाल की दिलचस्प बातें , खूबसूरत पंक्तियां और तार्किक वार्तालापों को उडेलते रहते हैं , जिन्हें सहेज़ कर रखने का भी अपना ही एक आनंद है , मैं तो गाहे बेगाहे ये काम करता ही रहता हूं , लीजीए आज फ़िर कुछ खूबसूरत कतरे , इस पन्ने पर सहेज़ कर रख छोडे हैं ………DW (हिन्...
डायरी...
Tag :फ़ेसबुक
  January 18, 2013, 11:15 am
  खौफ़नाक है मंज़र क्यों , आज मेरे शहर का ,वो कहते हैं , ठीक है , मगर देश के हालात ठीक नहीं है ॥ .जंगलों में भी कहां ऐसी दिखती है हैवानियत ,खुद की नस्ल का शिकार करता , ये आदमज़ात ठीक नहीं है ॥ .हर बार निपटने का वादा और अब न होने देने की बातें ,हर बार कुछ हो जाने पर यही कहते हो, ये बात ठीक...
डायरी...
Tag :कुछ भी कभी भी
  January 15, 2013, 9:27 pm
    सीमा पर जंग के हालात हैं , रहती है अपनी आजकल , ठनी ठनी,हाकिम फ़िर भी कहते हैं उन्हें , U R माइ पंपकिन , पंपकिन , U R माइ हनीबनीपिछले दिनों अवाम और सियासत में जमकर हो रही थी , तना तनी ,हाकिम फ़िर भी कहते रहे ,U R माइ पंपकिन , पंपकिन , U R माइ हनीबनीवो आते हैं करने को दोस्ती ,आस्तीन  रख कर , स...
डायरी...
Tag :झा जी कहिन
  January 13, 2013, 4:43 pm
तस्वीर सब कुछ खुद बयां करती हैकुछ समय पहले पश्चिमी देश से आए किसी पर्यटक ने राजधानी दिल्ली में एक व्यक्ति को सरेआम दीवार गंदा करते देखा तो उसके मुंह  से बेसाख्ता यही शब्द निकले कि , ” भारत आधुनिक तो हो रहा है किंतु यहां लोगों में नागरिक संस्कारों की कमी है ।” उसके इस कथन ...
डायरी...
Tag :आज का मुद्दा
  January 12, 2013, 8:37 pm
 दिल्ली बलात्कार कांड ने पूरे देश में जैसी संवेदना पैदा कर दी और बरसों से अलग अलग कारणों से दबा हुआ आम लोगों का गुस्सा जब जनाक्रोश बनके फ़ूटा तो न सिर्फ़ सरकार , प्रशासन बल्कि न्यायपालिका भी सक्रिय हो उठी । हालांकि भारतीय न्यायपालिका पर अक्सर ये आरोप लगता है कि ऐसे मामलो...
डायरी...
Tag :कोर्ट कचहरी
  January 10, 2013, 10:30 pm
इस बार गांव गया तो फ़ुर्सत ही फ़ुर्सत थी , फ़ुर्सत इस मायने में कि , चूंकि परिवार के साथ न जाकर अकेला गया था सो काम के नाम पर बस यही काम था कि गांव , खेत , बाग , बगीचों के अलावा स्कूल पास के मंदिर और जो कुछ नया पुराना घट रहा था उसे जाकर देखा समझा जाए । पिछली पोस्ट में  मैं आपको गांव ख...
डायरी...
Tag :कुछ भी कभी भी
  January 8, 2013, 8:07 pm
 श्रीमान जस्टिस वर्मा जी ,सादर अभिवादन । भारत सरकार ने , बलात्कार एवं महिलाओं के प्रति अपराध की रोकथाम हेतु सुझाव एवं अनुशंसा देने के लिए आपकी अध्यक्षता में गठित आयोग के समक्ष सुझाव एवं शिकायतों के लिए आम नागरिकों का आह्वान किया था । एक आम भारतीय नागरिक होने के नाते मै...
डायरी...
Tag :आज का मुद्दा
  January 1, 2013, 10:35 pm
   दामिनी , कामिनी , सौम्या , काजल , बिंदु , सलमा ….क्या फ़र्क पडता है , व कहते हैं न काल्पनिक नाम , तो एक काल्पनिक नाम की युवती शाम को अपने दफ़्तर से निकलती है , घर जाने के लिए रोज़ की तरह बस के गलीज़ सफ़र जद्दोज़हद , और काम से थक कर वापसी के समय तो ये शारीरिक , मानसिक दबाव ज्यादा ही महसूस ...
डायरी...
Tag :कुछ भी कभी भी
  January 1, 2013, 1:39 pm
   मौजूदा जनाक्रोश थमने का नाम ही नहीं ले रहा है , लोग देश के कोने कोने में ,बेशक अभी इस एक ही मुद्दे को लेकर गोलबंद हो रहे हैं , धरने प्रदर्शन कर रहे हैं और सबसे दुविधाजनक स्थिति सरकार और उनके नुमाइंदों की है जिन्हें समझ ही नहीं आ रहा है कि बिना किसी नेतृत्व वाले इस आक्रोशि...
डायरी...
Tag :आज का मुद्दा
  December 27, 2012, 7:41 pm
जनाक्रोश , जनांदोलन , जनसंघर्ष ….नाम आप कोई भी दें , इसके पक्ष में हों या अचानक जाग उठे युवाओं को दिशाहीन , दिगभ्रमित कह के लाख कोसें , बेशक इन्हीं सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर रहते हुए भी , आप इन साइट्स और इनपर अपने विचारों को गतिमान रखते हुए ऐसे तमाम मुहिमों को हवा देने वाले व...
डायरी...
Tag :आज का मुद्दा
  December 25, 2012, 6:25 pm

...
डायरी...
Tag :
  January 1, 1970, 5:30 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167857)