POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: जुगाली

Blogger: sanjeev
हम बड़ी ई वाले हैं'व्यंग्य संग्रह पर विस्तार से चर्चा के पहले यह जानना जरूरी है कि इसे आप कैसे और कहां से खरीद सकते हैं क्योंकि पढ़ेंगे तो तभी न,जब खरीदेंगे... इसके प्रकाशक पल पल इंडिया हैं, कीमत किताब की गुणवत्ता और सामग्री के अनुसार मात्र 100 रुपये है, जो आज के संदर्भों में ब... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   10:33am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
जापान जैसा मैंने जाना-समापन क़िस्तलगभग एक माह से आपके सहयोग और उत्साहवर्धन के फलस्वरूप मैं अपनी जी-20 शिखर सम्मेलन के कवरेज के लिए हुई जापान यात्रा को एक श्रृंखला में पिरो पाया।आपने भी हर पोस्ट में अपनी प्रतिक्रियाओं से आगे लिखने का हौंसला दिया। अब तक की सात पोस्ट में ह... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   10:31am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
जापान जैसा मैंने जाना-7ओसाका कैसल या ओसाका महल निश्चित रूप से जापान में सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। यह जापान के तीन सबसे प्रमुख महलों में से एक है। ओसाका कैसल के बारे में भले ही आपको मेरी जापान यात्रा की आखिरी कड़ियों में पढ़ने को मिल रहा हो लेकिन हक़ीक़त यह है ... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   10:29am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
जापान जैसा मैंने जाना-6अपन के हाथ में ऑलंपिक मशाल.. टोक्यो में 2020 में होने वाले ऑलंपिक खेलों की मशाल...वह भी वास्तविक,बिना किसी मिलावट के।इन तस्वीरों के गलियारे में थोड़ा और आगे बढ़ेंगे तो इन खेलों के शुभंकर ‘मिराइतोवा’ को भी आप मेरे साथ देख पाएंगे...लगता है मुझे यहाँ के हैप्... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   10:27am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
जापान जैसा मैंने जाना-5जापान में एफिल टॉवर या पेरिस और न्यूयार्क का सा नज़ारा... सुनकर आश्चर्य होता है न,मुझे भी हुआ जब बताया गया कि ओसाका, जहां जी- 20 शिखर सम्मेलन हुआ था, में एफ़िल टॉवर है!! बस फिर क्या था हमने ओसाका पहुंचकर सबसे पहला काम एफ़िल टॉवर देखने का किया। जब वहां पहुंचे... Read more
clicks 38 View   Vote 0 Like   10:26am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
जापान जैसा मैंने जाना-4क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि बढ़िया सूट-बूट पहने कोई व्यक्ति साइकिल चला रहा हो या कोई महिला साल-दो साल के बच्चे को लेकर साइकिल पर बाज़ार करने या ऑफिस जाने को निकली हो,वो भी बेखौफ-बिंदास-बेझिझक!..हमारे देश में कोई ऐसा करेगा तो शायद दूसरे दिन अख़बारों मे... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   10:24am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
जापान जैसा मैंने जाना-3जी-20 देशों के शिखर सम्मेलन को कवर करने जापान पहुंचे दुनियाभर के पत्रकारों के लिए ओसाका में बने इंटर-नेशनल मीडिया सेंटर में एप्पल सेंडविच और पाइन-एप्पल पेटिस पर हाथ साफ़ करते हुए हमारे एक पत्रकार साथी ने पनीर-क्रीम सेंडविच का बड़ा सा पीस मुंह में ठू... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   10:22am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
जापान जैसा मैंने जाना-2कैथी पैसिफिक एयरलाइन्स के विमान में खाना परोसते हुए एयर होस्टेस ने पूछा- यू आर वेजीटेरियन? मेरे हाँ कहते ही उसने तत्काल दूसरा सवाल दागा- विच टाइप आफ वेजीटेरियन....मीन्स सिंपल वेजीटेरियन या हिन्दू वेजीटेरियन? अपनी लगभग ढाई दशक की नौकरी में यह सवाल ... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   10:21am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
जापान जैसा मैंने जाना -1भोपाल के श्यामला और अरेरा हिल्स और दिल्ली में रायसीना हिल्स की तरह के पहाड़ी इलाक़े,सफाई में हमारे इंदौर से भी आगे और परिवहन व्यवस्था में मुंबई से कई गुना बेहतर व्यवस्थित मेट्रो-बस-टैक्सियां, सड़कों पर सुकून से साइकिल चलाते महिला-पुरुष और हर अजनबी ... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   10:19am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
दोनों हाथ न होने के बावजूद दृढ़ इच्छाशक्ति और एक-एक वोट का महत्व समझते हुए मप्र में संस्कारधानी के नाम से मशहूर जबलपुर की एक बेटी ने अपने संस्कारों से न केवल शहर का नाम रोशन कर दिया बल्कि हम जैसे हाथ-आँख-कान वाले लोगों को लोकतंत्र के महापर्व का महत्त्व भी समझा दिया।लोकतं... Read more
clicks 47 View   Vote 0 Like   10:16am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
प्रयागराज कुंभ: जैसा मैंने देखा (6)10 लाख, 20 लाख,50 लाख,1 करोड़, 5 करोड़, 10 करोड़, 15 करोड़, 20 करोड़......हम-आप गिनते गए और यह संख्या बढती गयी...हमारी-आपकी कल्पना से परे,प्रशासन की गणना से बहुत आगे एवं बीते कुम्भों से अलहदा।..और जब 49 दिन का सफ़र पूरा हुआ तो यह संख्या बढ़कर 24 करोड़ हो गयी....चौबीस करोड़ क... Read more
clicks 39 View   Vote 0 Like   10:13am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
 प्रयागराज कुंभ: जैसा मैंने देखा (5)                     प्रथम गेट से लेकर मुख्य पंडाल तक श्रद्धालुओं की भीड़ लगी है, कुछ बाहुबली लोग भीड़ को सँभालने में जुटे हैं. मुख्य पंडाल भी खचाखच भरा है- नेता,अभिनेता,मीडिया और साधु-संतों सहित तमाम लोगों को महामंडलेश्वर का ... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   10:12am 5 Nov 2019 #
Blogger: sanjeev
प्रयागराज कुंभ: जैसा मैंने देखा (4)आमतौर पर घरों के दरवाजे पर हाथ की छाप या हल्दी लगे हाथों की छाप शुभ मानी जाती है लेकिन हाथों की यह छाप हमें गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में भी स्थान दिला सकती है… यह किसी ने सोचना तो दूर कल्पना भी नहीं की होगी।प्रयागराज में चल रहा कुंभ अप... Read more
clicks 84 View   Vote 0 Like   10:13am 4 Mar 2019 #
Blogger: sanjeev
प्रयागराज कुंभ: जैसा मैंने देखा(3)भारतीय फिल्मों में हमें अक्सर यह देखने को मिलता है कि कुम्भ के मेले में दो भाई बिछड़ जाते हैं और फिर कई सालों को समेटने वाली की कहानी के बाद फिल्म के अंत में उनका मिलन हो जाता है। फिल्मों में तो यह हो सकता है लेकिन वास्तविक कुम्भ में ऐसा नह... Read more
clicks 57 View   Vote 0 Like   10:10am 4 Mar 2019 #
Blogger: sanjeev
प्रयागराज कुम्भ: जैसा मैंने देखा (1)रबड़ी की लज़ीज़ खुशबू से महकती सड़क, बड़े से कड़ाहे में गुलाबी रंगत में ढलता दूध, बड़े से चम्मच भर मलाई और प्यार से पुकारते-मनुहार करते लोग..आखिर आप कैसे अपने आपको रोक सकते हैं !..और रोकना भी नहीं चाहिए क्योंकि कुम्भ में हजारों लोगों की भीड़ के बीच... Read more
clicks 82 View   Vote 0 Like   10:04am 4 Mar 2019 #
Blogger: sanjeev
प्रयागराज कुंभ:जैसा मैंने देखा (2)बसों की ट्रेन(?)...जी हां बसों की ट्रेन और वह भी इतनी लंबी कि देखते देखते आँखे थक जाएँ पर इस ट्रेन का ओर-छोर भी न मिल पाए। दरअसल प्रयागराज कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को निशुल्क लाने ले जाने के लिए प्रशासन ने शटल सर्विस के नाम से तक़रीबन 500 ... Read more
clicks 63 View   Vote 0 Like   10:04am 28 Feb 2019 #
Blogger: sanjeev
एक विज्ञापन की चर्चित पंचलाइन हैं- “ जब घर में पड़ा है सोना तो फिर काहे को रोना”,और आज लगभग यही स्थिति हमारे नगरों/महानगरों की है क्योंकि वे भी हर दिन जमा हो रहे टनों की मात्रा में कचरा अर्थात सोना रखकरभी रो रहे हैं। इसका कारण शायद यह है कि या तो उनको ये नहीं पता कि उनके पास ... Read more
clicks 83 View   Vote 0 Like   2:44am 15 May 2018 #
Blogger: sanjeev
किसी भी लोकतान्त्रिक देश के अनवरत विकास और सतत प्रगति के लिए मौजूदा दौर में सामाजिक और आर्थिक मापदंडों के साथ साथ सुरक्षा का पहलू भी एक महत्वपूर्ण कारक है क्योंकि सुरक्षित सीमाओं और मजबूत सरहदों के बिना प्रगति के पथ पर चलना आसान नहीं है. हमारे देश का सुरक्षा ढांचा भूत... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   2:40am 15 May 2018 #
Blogger: sanjeev
‘नविका सागर परिक्रमा’ भारतीय नौसेना का एक ऐसा अद्भुत नौ-परिभ्रमण  अभियान है जिसमें सभी महिला सदस्य शामिल हैं.  यह दुनिया में अपनी तरह का पहला रोमांचक  नौकायन अभियान है. नौसेना में  रोमांच और साहस की भावना को बढ़ावा देने के लिए शुरू हुआ यह अभियान लगभग 165दिनों में द... Read more
clicks 89 View   Vote 0 Like   2:37am 15 May 2018 #
Blogger: sanjeev
पूर्वोत्तर का नाम लेते ही हमारे सामने हरियाली से भरपूर और वरुण देवता की मेहरबानी से सराबोर ऐसे क्षेत्र की तस्वीर सामने आ जाती है जिसे शायद प्रकृति का सबसे अधिक लाड़ एवं दुलार मिला है । यहाँ आसमान छूने की होड़ करते बांस के जंगल हैं तो घर-घर में फैले तालाबों में अठखेलियाँ क... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   2:34am 15 May 2018 #
Blogger: sanjeev
जुगाली: असल सफाई तो वैज्ञानिक सोच और तकनीकी से ही होगी संभ...: बिहार के दशरथ मांझी अब हिंदुस्तान के अन्य राज्यों के लिए भी अनजान नहीं हैं। पहाड़ का सीना चीर कर सड़क बनाने वाले मांझी पर बनी फिल्म ‘द मा...... Read more
clicks 115 View   Vote 0 Like   2:28am 5 May 2018 #
Blogger: sanjeev
बिहार के दशरथ मांझी अब हिंदुस्तान के अन्य राज्यों के लिए भी अनजान नहीं हैं। पहाड़ का सीना चीर कर सड़क बनाने वाले मांझी पर बनी फिल्म ‘द माउंटेन मैन’ ने उन्हें घर घर तक पहुंचा दिया है । अब सवाल यह उठता है कि ‘स्वच्छता अभियान में वैज्ञानिक और आधुनिक तकनीकी का उपयोग’ विषय पर ... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   2:27am 5 May 2018 #
Blogger: sanjeev
जुगाली: कहानी एक अनपढ़ रिक्शा चालक के शिक्षा मसीहा बनने की....:  मामूली रिक्शा चालक अनवर अली अब किसी पहचान के मोहताज नहीं है बल्कि अब तो उनके गाँव को ही लोगों ने अनवर अली का गाँव कहना शुरू कर दिया है...... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   2:22am 5 May 2018 #
Blogger: sanjeev
 मामूली रिक्शा चालक अनवर अली अब किसी पहचान के मोहताज नहीं है बल्कि अब तो उनके गाँव को ही लोगों ने अनवर अली का गाँव कहना शुरू कर दिया है । प्रधानमंत्री ने आकाशवाणी से प्रसारित अपने मासिक कार्यक्रम “मन की बात” में अनवर अली के नाम का उल्लेख कर उन्हें शोहरत की बुलंदियों त... Read more
clicks 115 View   Vote 0 Like   2:19am 5 May 2018 #
Blogger: sanjeev
असम में बहुप्रतीक्षित राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का पहला मसौदा जारी होने के बाद गहमा गहमी का माहौल और बढ़ गया है । पहले मसौदे में राज्य के कुल 3.29 करोड़ आवेदनों में से 1.9 करोड़ लोगों को कानूनी रूप से भारत का नागरिक माना गया है लेकिन अभी नही तक़रीबन दो करोड़ लोगों का भवि... Read more
clicks 269 View   Vote 0 Like   7:52am 27 Feb 2018 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4020) कुल पोस्ट (193830)