feedji.com
हमारीवाणी ने बनाया नए युग का ब्लॉग एग्रीगेटर, जहाँ आप ना केवल आसानी से अपनी ब्लॉग-पोस्ट शेयर कर सकते हैं, बल्कि आज के युग की आवश्यकतानुसार सोशल मिडिया से जुडी अनेकों सुविधाओं का प्रयोग कर सकते हैं.

आज ही सदस्य बने: http://www.feedji.com

0
View
My ImageAuthor subodh
आप  प्रसन्न  कब होते है ?आप गौर करेंगे तो पाएंगे कि ख़ुशी या तो पाने में होती है या देने में . पाने का अर्थ उपभोग से भी है और संग्रह ( वस्तु का मालिकाना हक़ पाना ) से भी , और देने का अर्थ मदद ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 28, 2014, 8:38 am
1
View
My ImageAuthor प्रमोद जोशी
राजभवन क्यों बनता है राजनीति का अखाड़ा?प्रमोद जोशीवरिष्ठ पत्रकार, बीबीसी हिंदी डॉटकॉम के लिए बुधवार, 27 अगस्त, 2014 को 16:51 IST तक के समाचारFacebookTwitterGoogle+शेयर करेंमित्र को भेजेंप्रिंट करेंलोकस... Read more
Tag :राज्यपाल
Blogs
Follow me
August 28, 2014, 8:29 am
0
View
My ImageAuthor राजीव कुमार झा
मिथ्याभाषी या झूठा कहलाना कोई पसंद नहीं करता,पर वास्तविकता यह है कि हम-सभी दिन में शायद,एक बार नहीं,कई बार झूठ बोलते हैं.एक विशेषज्ञ की राय है,’एक औसत व्यक्ति वर्ष में लगभग एक हजार बार ... Read more
Tag :मिथ्याभाषी
Blogs
Follow me
August 28, 2014, 8:00 am
View
My ImageAuthor S.M.MAasum
क्या आप हिरन और मृग के फर्क को जानते हैं ?भारत में वन्य जीवों के प्रति आम लोगों की जानकारी का स्तर बहुत शोचनीय है।आश्चर्य की बात तो यह है कि वन्य जीवों के बारे में वन वभाग के अधिकांश उच... Read more
Tag :ब्लॉगर
0
View
My ImageAuthor Harash Mahajan
...जुबां पर अभी थे, अब जाने किधर हैं ,ये लफ्ज़-ए-महोब्बत,हुए दर-बदर हैं |उधर तू भी चुप है..इधर मैं भी चुप हूँ ,ऐ दिल दोस्तों में.....ये कैसा सफ़र है | ___________हर्ष महाजन... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 28, 2014, 7:23 am
0
View
My ImageAuthor subodh
तुमने जब थामा मेरा हाथआंसुओं की हंसी फ़िज़ा में तैर गई मन के किनारों पर भावनाओं के हुजूम में एक-एक किस्सा एक-एक लम्हा सर पर हाथ रखने लगा आशीष की तरह डूबता सूरज नारंगी बिंदी बन चस्पा हो गय... Read more
Tag :
0
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है कहीं कोई देश को सिर्फ हिन्दुओं का बनाने को आतुर है तो कहीं चुनावों को देखते हुए खजाना लुटाया जा रहा है, ये सारी बातें यही सिद्ध करती हैं कि नेत... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 28, 2014, 5:30 am
0
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मुक्तकप्यार के फूल बगीचे में खिलाये रखनागीत के साथ सदा ताल मिलाये रखनारात के स्याह अँधेरों को छाँटने के लिए-दिल के दरम्यान सदा दीप जलाये रखना... Read more
Tag :सदा दीप जलाये रखना
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 10:22 pm
0
View
My ImageAuthor rozkiroti
   एक पास्टर ने, जिसने शारीरिक एवं मानसिक रीति से घायल होने वालों को सांत्वना और शान्ति प्रदान करने का प्रशिक्षण लिया था, टिप्पणी करी कि घायल लोगों के लिए सबसे बड़ी चुनौती उस समय की ... Read more
Tag :दुख
0
View
My ImageAuthor Rajesh Tripathi
 लाजवाब अभिनेता, बेमिसाल इनसान·सबको लुभाता था उनका प्रभावी व्यक्तित्व‘गांधी’के वक्त देशी निर्देशकों ने उठाये थे सवाल·एक ब्रिटिश नागरिक क्या गांधी से कर पायेगा न्याय   उन्हो... Read more
Tag :
0
View
My ImageAuthor KUTBA
बेमेल विवाह .........अक्सर कोमल सी ,लताये ही ,उम्र दराज़ पेड़ों ,से लिपट जाती है ,न जाने क्यों उनमे ,उचाई छूने की ,ललक जग जाती है ,पर उम्र की मार से ,बूढ़ा पेड़ क्या गिरा ,कोई नन्ही सी कोपल ,नाजुक सी ल... Read more
Tag :
0
View
My ImageAuthor suresh sawpnil
क्यूं  न  हम  आपको  तहरीर  बना  कर  रख  लेंख़्वाब  में  आएं  कि  तस्वीर  बना  कर  रख  लेंआप  महफ़ूज़  हैं  नज़्रों  में  हमारी  यूं  तोया  कहें,  ख़्वाब  क... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 5:46 pm
2
View
My ImageAuthor harminder singh
सेल्फी का क्रेज इतना बढ़ चुका है कि लोग किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं। हांगकांग में तीन दोस्तों ने ऐसा कारनामा कर दिखाया जिसे आजतक सेल्फी लेते समय नहीं किया गया। वहां की पांचवी सबसे ... Read more
Tag :world
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 5:09 pm
1
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
जो नंगापन ढके हमारा हमको वो परिधान चाहिए।साध्य और साधन में हमको समरसता संधान चाहिए।।अपनी मेहनत से ही हमने, अपना वतन सँवारा है,जो कुछ इसमें रचा-बसा, उस पर अधिकार हमारा है,सुलभ वस्तुएँ ... Read more
Tag :नहीं हमें अनुदान चाहिए
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 4:21 pm
1
View
My ImageAuthor रेखा श्रीवास्तव
                                           अखबार में पढ़ी हुई कई घटनाएँ हमें विचलित कर जाती हैं लेकिन कुछ तो  अपने पीछे इतने सार... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 4:15 pm
0
View
My ImageAuthor Rahul.R
विकल्प,मानवीय जीवन में समय की शाश्वत गति के संक्रमण से उत्पन्न हो रहे विभिन्न परिस्थितियों का सामना करने में एक औषधि की तरह कार्य करता है.सिर्फ परिस्थितियाँ हीं विकल्प नहीं तलाशती ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 4:12 pm
2
View
My ImageAuthor lori Ali
उन प्यारे दिनों के नाम, जब माँ रोज़ ही सोने के पहले यह सब सुना करती थी : हुए बहुत दिन बुढ़िया एक चलती थी लाठी को टेक उसके पास बहुत था माल जाना था उसको ससुराल मगर राह में चीते शेर&nb... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 4:00 pm
3
View
My ImageAuthor सु..मन
मुहब्बत पक्का ना थीकभी कुछ गमजमा हो जाताकभी इकरार की हदेंनफ़ी हो जातीकभी बेहिसाब मिलन के पलों कोगुणा करविरह के दिनों सेविभाजित कर देतेपर हल में जो भी शेष बचतामुझे सिर्फ़ हमारा होने क... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 3:19 pm
0
View
My ImageAuthor milap singh
तुझसे अच्छा कोईलगता ही नहीं हैतेरे सिवा कोई ओरजंचता ही नहीं हैकैसे पलको को उठा लí... Read more
Tag :milap singh shayari
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 2:42 pm
5
View
My ImageAuthor pallavi
वर्तमान हालातों को मद्दे नज़र रखते हुए जब मैंने मेरी ही एक सहेली से फोन पर बात की और तब जब उसने यह कहा कि यार चिंता और फिक्र क्या होती है यह आज समझ आरहा है मुझे...जब हम बच्चे थे तब तो हमेशा ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 27, 2014, 12:39 pm
[Prev Page] [Next Page]
Share:
  गूगल के द्वारा अपनी रीडर सेवा बंद करने के कारण हमारीवाणी की सभी कोडिंग दुबारा की गई है। हमारीवाणी "क्...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3163) कुल पोस्ट (116692)