feedji.com
हमारीवाणी ने बनाई नए युग की #BloggerCommunity जहाँ आप ना केवल आसानी से ब्लॉग लिख सकते हैं, अपनी ब्लॉग-पोस्ट शेयर कर सकते हैं, विषय आधारित चर्चा कर सकते हैं, बल्कि नए युग से कदमताल करते हुए सोशल मिडिया से जुडी अनेक सुविधाओं का प्रयोग कर सकते हैं.

1
View
My ImageAuthor Anshu Mali Rastogi
कहनेमें कैसी शर्म- हां, मुझे प्याज से 'इश्क'है। प्याज से मेरा इश्क कोई साल-दो साल पुराना नहीं बल्कि 'बचपन'से है। घर वाले बताते हैं- मैंने जन्म लेते ही, सबसे पहला शब्द 'प्याज'ही बोला था। यही वजह है कि मेरा प्याज के प्रति इश्क कम नहीं बल्कि निरंतर 'जवान'ही होता गया। कहा जा सकता ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 31, 2015, 9:43 am
1
View
My ImageAuthor Rajeev Bharol
आपकी इमदाद कर सकता हूँ मैं    (इमदाद = सहायता, मदद)अपने पर खुद भी क़तर सकता हूँ मैंजिस्म ही थोड़ी हूँ मैं इक सोच हूँगर्क हो कर भी उभर सकता हूँ मैंइक फकत कच्चे घड़े के साथ भीपार दरिया के उतर सकता हूँ मैंबाँध कर मुट्ठी में रखियेगा मुझेखोल दोगे तो बिखर सकता हूँ मैंकह तो पाऊँ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 31, 2015, 9:28 am
1
View
My ImageAuthor Shah Nawaz
आरक्षण का मक़्सद गरीबी का उत्थान हरगिज़ नहीं है बल्कि सदियों से जानवरों जैसी ज़िल्लत झेल रही क़ौमों को बराबरी का दर्जा देने की कोशिश है। और इस आधार पर मैं मुसलामानों को आरक्षण देने के ख़िलाफ़ हूँ क्योंकि इस्लाम ग़ैरबराबरी नहीं सिखाता और सभी लोग मस्जिदों में कंधे से कंधा मिल... Read more
Tag :Social
Blogs
Follow me
August 31, 2015, 9:27 am
1
View
My ImageAuthor Mohini
आजकल हत्याएँ बहुत चर्चामें है| कोई लेखक की हत्या कैसे कर सकता है? कोई माँ अपनी बेटी की हत्या कैसे कर सकती है? पर उन हत्याओं के बारे में मुझे कोई टिप्पणी नहीं करनी है| मुझे तो उन हत्याओं के बारे में बात करनी है जो रोज हमारे सामने होती है| वैचारिक हत्या! आत्मा की हत्या! हमें क... Read more
Tag :भावस्पंदन
Blogs
Follow me
August 31, 2015, 9:14 am
1
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
जय मां हाटेश्वरी... आज की चर्चा का आरंभ... अक्सर लोग पूछते हैं कृष्ण ने पर स्त्रियों का स्पर्श किया है। दरसल कृष्ण भाव गोपियों को एक दिव्य शरीर प्रदान कर देता है पांच तत्वों का बना गोपियों का शरीर तो उनके घर पर ही रहता है कृष्ण की वंशी के टेर (तान )सुनके उनका दिव्य शरीर ही क... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 31, 2015, 4:30 am
3
View
My ImageAuthor माधवी रंजना
अगर आप प्रकृति और पशु पक्षियों से प्रेम करते हैं तो आपके लिए घूमने के लिए केवलादेव नेशनल पार्क शानदार जगह हो सकती है। राजस्थान के भरतपुर शहर के बाहरी इलाके में स्थित इस पार्क को घाना पक्षी उद्यान भी कहते हैं। घाना इसलिए कि कभी यहां घने जंगल हुआ करते थे। केवलादेव को संय... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 30, 2015, 10:38 pm
1
View
My ImageAuthor lori Ali
एक मुलाकातमैं चुप शान्त और अडोल खड़ी थी सिर्फ पास बहते समुन्द्र में तूफान था……फिर समुन्द्र को खुदा जाने क्या ख्याल आया उसने तूफान की एक पोटली सी बांधी मेरे हाथों में थमाई और हंस कर कुछ दूर हो गयाहैरान थी…. पर उसका चमत्कार ले लिया पता था कि इस प्रकार की घटना&nb... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 30, 2015, 9:11 pm
1
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
ख्वाहिशें परवान करने को चले हैंचाहतें कुर्बान करने को चले हैंहैं बहुत ज़ालिम ज़माना क्या करेंलेखनी नीलाम करने को चले हैंबढ़ गयी बेरोज़गारी मुल्क मेंकाम को नाक़ाम करने को चले हैंनेक-नीयत से ग़ुजर होती नहींइसलिए कोहराम करने को चले हैं“रूप” है इंसानियत का अब घिनौनाप... Read more
Tag :प्यार को बदनाम करने को चले हैं
Blogs
Follow me
August 30, 2015, 8:38 pm
1
View
My ImageAuthor Anurag Choudhary
HTML Basics- The Links, Link tags and Link attributes - Links, as the word itself explains is the most important part of the web world. The entire world wide web runs on links. To tie the pages with each other is possible with the help of links only. Images and text, both can be used as link. All the links open in the window currently open but by using the target attribute it can also be opened in a different window too. If the page is within a frameset, name of the frame window can also be used.HTML Basics- The LinksHTML Tags used to define links<A> - Opening or starting Tag.</A> - Ending or closing Tag.Types of Links in HTMLThe absolute links The absolute links are th... Read more
Tag :HTML Editing
4
View
My ImageAuthor वन्दना गुप्ता
अभी तो मैं खुद अपने आप को नहीं जानती फिर कैसे कर सकते हो तुम दावा मुझे पूरी तरह जानने का जबकि मुझे जानने के लिए तुम्हें नहीं पढने कोई कायदे फिर वो प्रेम के हों या द्वेष के कभी जानने की इच्छा हो तो छील लेना मेरी मुस्कराहट को कतरे कतरे में उगी रक्तिम दस्तकारियाँ बयां कर जाय... Read more
Tag :
[Prev Page] [Next Page]
Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3398) कुल पोस्ट (137959)