feedji.com
हमारीवाणी ने बनाया नए युग का ब्लॉग एग्रीगेटर, जहाँ आप ना केवल आसानी से अपनी ब्लॉग-पोस्ट शेयर कर सकते हैं, बल्कि आज के युग की आवश्यकतानुसार सोशल मिडिया से जुडी अनेकों सुविधाओं का प्रयोग कर सकते हैं.

आज ही सदस्य बने: http://www.feedji.com

1
View
My ImageAuthor Kalipad "Prasad"
गणपतये नम:विध्न हन्ताय ऋद्धि सिद्धि दातायपार्वती पुत्रं अहम्  त्वम नमामि |आरती करूँ जन गण विधाता विनायक का  |मुसा पर सवार मोदक प्रिय लम्बोदर देवता मंगल मूर्ती गजेन्... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 31, 2014, 9:36 am
3
View
My ImageAuthor प्रमोद जोशी
जापान में बौद्ध धर्म चीन और कोरिया के रास्ते गया था। पर सन 723 में बौद्ध भिक्षु बोधिसेन का जापान-प्रवास भारत-जापान रिश्तों में मील का पत्थर है। बोधिसेन आजीवन जापान में रहे। भारत में जा... Read more
Tag :भारत-चीन
Blogs
Follow me
August 31, 2014, 8:42 am
2
View
My ImageAuthor Anshu Mali Rastogi
चित्र साभारः गूगलमेरेमोहल्ले को 'वरिष्ठों का मोहल्ला'कहा जाता है। मेरे मोहल्ले में ज्यादातर साहित्य और राजनीति के ही वरिष्ठ रहते हैं। हालांकि मैं अभी वरिष्ठ नहीं हुआ हूं मगर फिर भ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 31, 2014, 8:36 am
2
View
My ImageAuthor subodh
हर व्यक्ति की एक क्षमता होती है ,उसी क्षमता के अनुसार वो कार्य कर पाता है ,उसी क्षमता के अनुसार वो जीवन के हर क्षेत्र में प्रदर्शन कर पाता है , करता है . जैसे आप जिम जाते है ,कितनी वर्जिश क... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 31, 2014, 8:18 am
1
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
अब कैसे दो शब्द लिखूँ, कैसे उनमें अब भाव भरूँ? तन-मन के रिसते छालों के, कैसे अब मैं घाव भरूँ? मौसम की विपरीत चाल है, धरा रक्त से हुई लाल है, दस्तक देता कुटिल काल है, प्रजा तन्त्र का बुर... Read more
Tag :दो शब्द
Blogs
Follow me
August 31, 2014, 7:13 am
1
View
My ImageAuthor subodh
ख्वाइशेंकाफी दिनों से ठहरी है मेरे साथ मेरे घर में .एक पुराने बिछड़े दोस्त की तरहवक्त-बेवक्त जगाती है मुझे और पूछने लगती है वही जाने- पहचाने सवाल जो कभी चिढ़ाते है मुझे और कभी लगते है खु... Read more
Tag :
1
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
जाने कहाँ से एक कौवा उड़ता हुआ आया और लोकल से कुछ कहने के प्रयास में जा टकराया बिजली के नंगे तार से दोनों हाथ हवा में उठाकर रे-रे-अरे करती,कौवे को रोकने की कोशिश में रूक गई लोकल जाने कहाँ ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 31, 2014, 4:00 am
3
View
My ImageAuthor manisha
हमारा देश धर्म निरपेक्ष राज्य है.जहाँ सभी नागरिकों को किसी भी धर्म को मानने की स्वतंत्रता है.जहाँ हम सभी देश वासी सभी त्यौहार मिलजुलकर मनाते है. हमारी संस्कृति अनेकता में एकता के सू... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 30, 2014, 9:56 pm
2
View
My ImageAuthor हरेश कुमार
हरेश कुमारवादा करो मुझसे फिर कभी रोओगे तो नहीं।इस तरह कीमती मोती-से अश्रु को बेकार में बहाओगे तो नहीं।इस तरह तुम्हारा मौन रहना मुझे अच्छा नहीं लगता।सदा हंसते-मुस्कुराते रहने वाले ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 30, 2014, 9:18 pm
1
View
My ImageAuthor satish saxena
बेटा मैंने वह ऍफ़ डी  तुड़वा  कर सारे पैसे निकाल लिए तुम भी अपनी बीबी के साथ हिल स्टेशन जा सकते हो..... उसी दिन दे देते तो दोनों भाइयों के साथ ही चला जाता न  तब सबके सामने इतनी गाली ... Read more
Tag :आंसू
Blogs
Follow me
August 30, 2014, 9:11 pm
1
View
My ImageAuthor rozkiroti
   हम लोग छुट्टियाँ बिताने अलास्का गए हुए थे, और वहाँ फेयरबैंक्स के निकट प्रसिद्ध एल डोराडो सोने की खान देखने गए। उस स्थान पर हमें भ्रमण करवाने और जब वह खान आरंभ हुई थी तब लोगों द्व... Read more
Tag :धन
2
View
My ImageAuthor समय
हे मानवश्रेष्ठों,यहां पर द्वंद्ववादपर कुछ सामग्री एक श्रृंखला के रूप में प्रस्तुत की जा रही है। पिछली बार हमने भौतिकवादी द्वंद्ववाद के प्रवर्गों के अंतर्गत ‘आभास और सार’ पर चर्चा ... Read more
Tag :द्वंद्ववाद
1
View
My ImageAuthor Jagdanand Jha
        आजकल मै प्रतिदिन प्रातः वाल्मीकि रामायण का स्वाध्याय कर रहा हूँ। वर्ष 1990के आसपास भी इसका नियमित पाठ करता था। तब मैं इसका मूल पाठ करता था। एक बार 2011में संस्थान द्वारा प्रका... Read more
Tag :रामानुजाचार्य
1
View
My ImageAuthor harminder singh
गरमी से हाल किसी का सही कैसे हो सकता है। किसी का भी नहीं। हर किसी को लगता है कि गरमी उनका जीना मुहाल कर देगी। हो भी ऐसा ही रहा है। गरमी के कारण हर कोई दुखी है। उमस के कारण जो पसीना आता है व... Read more
Tag :rajnath singh
Blogs
Follow me
August 30, 2014, 5:07 pm
1
View
My ImageAuthor mahendra verma
गूँज उठा पैग़ाम आखि़री, चलो ज़रा,‘जो बोया था काट रहा हूँ, रुको ज़रा।’हर बचपन में छुपे हुए हैं हुनर बहुत,आहिस्ता से चाबी उनमें भरो ज़रा।औरों के बस दोष ढूँढ़ते रहते हो,अपने ज़ुल्मों की ... Read more
Tag :ग़ज़ल
1
View
My ImageAuthor Neha
आज बस वाले ने बीच रोड बस रोक दी,क्यूँकि एक आदमी नियम तोड़कर सामने वाले दरवाजे़ से चढ़ा था..और वो आदमी बजाय नीचे उतरकर पिछले दरवाजे़ से चढ़ने के बेशर्मों की तरह बैठा रहा और खु़द को सही स... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 30, 2014, 3:43 pm
2
View
My ImageAuthor devduttaprasoon
खरगोशों में ‘ऊदबिलाव !‘झरबेरी’के पास ‘गुलाब’ !!गले मिलें जब बन कर ‘यार’-हुये ‘कँटीले’, ‘मीठे ख़्वाब’ !!बेदर्दी की हद होपार-‘कोमलता’ पर ‘निठुर दबाव’ !!‘भोले खंजन’ पर कर वार-चोंच से घायल क... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 30, 2014, 2:30 pm
2
View
My ImageAuthor suresh sawpnil
दुनिया  ख़राब  है  न  ज़माना  ख़राब  हैदिल  ही  मिरे  हुज़ूर  का  ख़ानाख़राब   हैकहिए  कि  आप  इश्क़  के  हक़दार  ही  नहींमस्रूफ़ियत  का  रोज़  बहाना  ख़राब  हैये... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
August 30, 2014, 2:13 pm
2
View
My ImageAuthor Anurag Choudhary
Computer Eye Syndrome or the digital Eye strain-causes, symptoms safety measures- The most important part of the human body, the eye is not only a vital part but very complex and delicate too. There is a famous proverb that if Eyes are lost the world is lost for you. Now a days this most important part of your body is facing severe attacks of the digital world. Besides all other eye problems a new danger “Digital Eye strain” (Termed as Digital Eye Syndrome in me... Read more
Tag :
[Prev Page] [Next Page]
Share:
  गूगल के द्वारा अपनी रीडर सेवा बंद करने के कारण हमारीवाणी की सभी कोडिंग दुबारा की गई है। हमारीवाणी "क्...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3164) कुल पोस्ट (116823)