feedji.com
हमारीवाणी ने बनाया नए युग का ब्लॉग एग्रीगेटर, जहाँ आप ना केवल आसानी से अपनी ब्लॉग-पोस्ट शेयर कर सकते हैं, बल्कि आज के युग की आवश्यकतानुसार सोशल मिडिया से जुडी अनेकों सुविधाओं का प्रयोग कर सकते हैं.

आज ही सदस्य बने: http://www.feedji.com

1
View
My ImageAuthor Harash Mahajan
..तेरी अब दुआओं में..इतना असर ,गर तू है दिल में...खुदा बे-असर |दिल अब ख्यालों से.बहलता नहीं,तसव्वुर में सिजदा हुआ बे-असर |...Teri ab duaoN......meiN itna asar,Gar tu hai dil..meiN khuda b-asarDil ab khayaloN...se bahlta nahiNtasavvur meiN sizda hua be-asar._______Harash Mahajan... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
November 22, 2014, 11:49 am
1
View
My ImageAuthor SANGH SHEEL 'SAGAR'
सोचा   नहीं   कुछ   बस   उन्हें   चाहते   रहे ।झूठे    सपनों   में   वो    हमारे   आते   रहे ।।कितना पत्थर है वो जो हमारी याद न आयी।उनके   इन्तज़ार  में  हम  राह  ताकत... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
November 22, 2014, 11:13 am
1
View
My ImageAuthor मनोज कुमार
फ़ुरसत में ... 121निराशा ही निराशामनोज कुमारकभी-कभी मेरे दिल में ख़्याल आता है कि मैं निराशावादी होता जा रहा हूं। मुझे पता है कि निराशा बड़ी ख़तरनाक़ चीज़ है। फिर भी, मैं समाज, देश, परिवार के लिए... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
November 22, 2014, 9:10 am
5
View
My ImageAuthor dr. ayaz ahmad
आओ रामपालो ! मोदी और अदानी को मदद करो सरकार लोकपाल को नहीं ला पाई तो रामपाल को ले आयी। बरवाला का इस बड़बोला से गहरा नाता है। प्रशासन पर रामपाल का आक्रमण और मोदी का विदेश भ्रमण का इंटर- कन... Read more
Tag :
2
View
My ImageAuthor shikha kaushik
होगी  सुबह ,दिनकर उदित होगा पुनः ,निज रथ  पे हो सवार !...................हर लेगा तम ,होगा सुगम ,जीवन का सब व्यापार !..............................छोडो न  आशा  ,हो व्यथित ,किंचित करो विचार !..........................मानव  हो तुम ,न... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 11:51 pm
2
View
My ImageAuthor NEERAJ KUMAR
जालिम कैसे निबाहता है रस्म ए इश्क़पहले याद करता है फिर भुला देता है आता है कभी करीब फिर दूर जाता है देता है गम ए दिल और  रूला देता है रहती है जब उम्मीद तो आता ही नहीं  आता है रातों को और... Read more
Tag :विविध कविता
2
View
My ImageAuthor rozkiroti
   सन 1814 में सेमिनरी से स्नातक होने के पश्चात थोमस ग्लौडेट का इरादा मसीही विश्वास का प्रचारक बनने का था। लेकिन प्रचारक बनने के उसके इरादे ने एक अलग ही मोड़ ही मोड़ ले लिया जब उसकी मुला... Read more
Tag :क्षमा
2
View
My ImageAuthor Ram Shiv Murti Yadav
इलाहाबाद। इंदिरा गांधी जयंती पर प्रतिवर्ष इलाहाबाद में आयोजित होने वाली इंदिरा मैराथन को जीतना हर धावक का सपना होता है।  इस बार 19 नवम्बर 2014 को आयोजित 30वीं इंदिरा मैराथन प्राइजमनी द... Read more
Tag :स्पोर्ट्स-एडवेंचर में नाम कमाते यदुवंशी
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 8:12 pm
3
View
My ImageAuthor Krishna Kumar Yadav
इंटरनेट की दुनिया ने बहुत सारे नए शब्द इज़ाद करा दिए हैं।  इनमें से एक है - ′क्राउड सोर्सिंग′. यह क्राउड और आउट सोर्सिंग से गढ़ा गया शब्द है, जिसका अर्थ होता है, लोगों (क्राउड) से विचार अ... Read more
Tag :जानकारी
4
View
My ImageAuthor Sampat Kumari
Most Dangerous and lethal Foods in the world people starve to eatIn common we need to eat to live but there are lot of people who live to eat. Some people even risk their lives for a taste of few minute. Others become merciless while eating live animals. People can pay a huge amount for a single dish even some foods can be lethal, may the risk be very low but they must think that some risk is there. You can imagine that the most poisonous fish in the world is consumed in... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 7:19 pm
2
View
My ImageAuthor डा. सुशील कुमार जोशी
चिंगारियाँ उठने की बात आग़ लगने की बात बात बात में ही करनी है इससे भी पूछना है उससे भी पूछना है आग से भी पूछ कर ही कुछ सुलगने सुलगाने की बात करनी है जलाना कितना भी है जलाना कुछ भी है बस जल... Read more
Tag :चिंगारी
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 6:37 pm
3
View
My ImageAuthor Anshu Mali Rastogi
चित्र साभारः गूगलकाले धनने अपना क्या 'रूतबा'गांठा है। आज हर किसी की जुबान पर बस काले धन के ही चर्चे हैं। चाहे किसी के पास हो या न हो लेकिन 'चाहत'यही है कि थोड़ा काला धन हमारे पास भी होना ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 2:40 pm
View
My ImageAuthor सतीश
(Original Post : 10 Reasons You Should Never Get a Job, July 21st, 2006 by Steve Pavlina) अभी कुछ समय पहले मैंने यूं ही मजे के लिए एरिन से पूछ लिया, “अब जबकि बच्चे भी स्कूल जाने लगे हैं, तुम्हें नहीं लगता कि अब तुम्हें बाहर जाकर अपने लिए एक ... Read more
Tag :रोजगार
0
View
My ImageAuthor Dr.Divya Srivastava
चित्रगुप्त की संतानें , कलम की पूजा करती हैं , उनका सौदा नहीं करतीं ! कलम यदि चरण-वंदना में लिप्त हो जाए तो इससे बड़ा अपमान दूसरा नहीं हो सकता एक कलम का !... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 1:14 pm
7
View
My ImageAuthor पी सी गोदियाल
हुई जबसे शादी, जीरो वाट के बल्ब की तरह जलता हूँ,   यूं पैरों पे तो अपने ही खड़ा हूँ मगर रिमोट से चलता हूँ।माँ-बाप तो पच्चीस साल तक भी नाकाम रहे ढालने में,अब मोम की तरह बीवी के बनाये, हर स... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 1:07 pm
2
View
My ImageAuthor Randhir Singh Suman
  मुंबई : आठ मई, 2006 को एटीएस ने औरंगाबाद के निकट एक टाटा सुमो और इंडिका कार से हथियार और विस्फोटक बरामद गिए थे। जिसमें आर्थर रोड जेल में बंद तीन आरोपियों को एक साजिश के तहत अहमदाबाद ब... Read more
Tag :गुजरात बम विस्फोट
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 11:19 am
5
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 मेरा बस्ता कितना भारी।बोझ उठाना है लाचारी।।मेरा तो नन्हा सा मन है।छोटी बुद्धि दुर्बल तन है।।पढ़नी पड़ती सारी पुस्तक।थक जाता है मेरा मस्तक।।रोज-रोज विद्यालय जाना।बड़ा कठिन है भ... Read more
Tag :मेरा बस्ता
4
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
खुद को खुदा समझ रहा,इंसान आज तोमुट्ठी में है सिमट गया जहान आज तोकैसे सुधार हो भला,अपने समाज काकौड़ी के मोल बिक रहा,ईमान आज तोभरकर लिबास आ गये, शेरों का भेड़िएसन्तों के भेष में छिप... Read more
Tag :मुश्किल हुई है रूप की पहचान
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 8:23 am
6
View
My ImageAuthor satish saxena
कितनी बार सबेरे माँ ने , दरवाजा खटकाया होगा !और झुकी नज़रों से, तेरे आगे, हाथ फैलाया होगा !वे भी दिन थे जब अम्मा की,नज़र से सहमा करते थेसबके बीच डांट के कैसे उनको चुप करवाया होगा... Read more
Tag :गज़ल
Blogs
Follow me
November 21, 2014, 8:11 am
View
My ImageAuthor Praveen Kumar Gupta
श्यामलाल गुप्त ‘पार्षद’ (अंग्रेज़ी: Shyamlal Gupta 'Parshad', जन्म: 16 सितम्बर 1893 - मृत्य: 10 अगस्त 1977) भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक सेनानी, पत्रकार, समाजसेवी एवं अध्यापक थे। श्यामलाल गुप्त ‘पार्षद', भ... Read more
Tag :
[Prev Page] [Next Page]
Share:
  गूगल के द्वारा अपनी रीडर सेवा बंद करने के कारण हमारीवाणी की सभी कोडिंग दुबारा की गई है। हमारीवाणी "क्...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3238) कुल पोस्ट (121870)